उदास भाभी को जन्नत की सैर करवाई

हेलो. मेरा नाम राहुल है. मैं पुणे में रहता हु और मेरी हाइट ५.११ फिट है और एथेलेटिक बॉडी है. तो शुरुवात कुछ इस तरह से है.

मैं जिस सोसाइटी में रहता हु, उसी सोसाइटी में एक बहुत ही खुबसूरत परी आई रहने. शादीशुदा थी, फिगर ३६ – २८ – ३६. एकदम परी लगती थी वो.

एकदिन, मैं टेरेस पर था शाम को. मैं खाना खाने के बाद छत पर टहलने जाता हु. मैंने देखा, कि वो भी छत पर टहल रही थी. उसने रेड कलर का नाईट ड्रेस पहना हुआ था. वो इतनी प्यारी लग रही थी. मन तो किया, जाके उसको अपनी बाहों में ले लू. लेकिन मैंने फिर अपने को कण्ट्रोल किया.

थोड़ी देर बाद, मैंने भी आसपास टहलने लगा. तभी हम दोनों की नजरे मिली, तो हमने एक दुसरे को देख कर स्माइल कर दी.

काफी देर बाद. मैंने हिम्मत करके पूछा, भाभी आप को यहाँ पर पहले कभी नहीं देखा? तो उन्होंने बताया, कि उन्होंने न्यू फ्लैट लिया है यहाँ पर ४थ फ्लोर पर.

ऐसे कुछ दिन तक रोजाना चला. हम दोनों ही टेरेस पर जाते और बातें भी होती हम दोनों के बीच में.

एक दिन वो टेरेस पर आई. ना कोई स्माइल, ना कुछ. मैंने उनसे पूछा, क्या हुआ? कोई परेशानी है क्या? उन्होंने मुझे कुछ नहीं बताया, लेकिन मैंने उनको बहुत फ़ोर्स किया. तो उन्होंने बताया, कि वो अपने पति से परेशान है. उनकी शादी को ९ मंथ हो चुके है. लेकिन उनके पति उनके साथ बहुत कम रहते है और बहुत कम समय स्पेंड करते है उनके साथ.

मौका देख कर मैंने उनको पूछा, तो फिर आप कैसे रहती हो? तो उन्होंने एक ठंडी आहे भर कर कहा, रहना पड़ता है.

फिर उन्होंने मेरी गर्लफ्रेंड के बारे में पूछा, मैंने कहा, मुझे टाइम ही नहीं मिलता है. गर्लफ्रेंड कहाँ से होगी.

READ  मम्मी और पड़ोसन आंटी का लेस्बिअन सेक्स देखा

फिर उन्होंने मुझे टी के लिए इनवाईट किया. मैंने तुरंत हाँ कर दी. जब मैं उनके फ्लैट में गया. तो देखा, कि अभी सामान ठीक से खुला तक नहीं था. वो मेरे लिए चाय बनाने के लिए गयी. और हम ने साथ बैठ कर चाय पी और बातें करने लगे. तभी भाभी अन्दर गयी और वो शोर्ट नाईटी पहन कर आ गयी. मेरे अन्दर का जानवर जाग गया पूरी तरह से. मैंने उनको कहा, भाभी आप इतनी हॉट है. आप के पति आप से इतना दूर कैसे रह पाते है? मैं अगर आपका पति होता, घर छोड़ कर जाता ही नहीं. मेरी बात सुन कर वो एकदम से हंस पड़ी और बोली – बेफ्कुफ़.

फिर हम मूवी देखने लगे. स्टार मूवी पर एक हॉट मूवी लगी थी. तो मैंने चैनल चेंज नहीं किया. जब किसिंग सीन आया; तो देखा, भाभी का चेहरा लाल हो गया. मैंने धीरे से उनके कंधे पर हाथ रखा, तो उन्होंने मेरी तरफ देखा. लेकिन वो कुछ बोली नहीं. फिर वो भी मेरे पास सट कर बैठ गयी. मैं धीरे – धीरे उनके बालो में हाथ फेरने लगा. भाभी मदहोश होने लगी थी. मैंने भाभी कि हालत देख कर समझ गया, कि मौसम बन चूका है.

फिर मैंने देर ना करके उनको अपनी बाहों में ले लिया और उनको किस करने लगा. उन्होंने अपने हाथो से मुझे धक्का मार दिया और मेरे ऊपर चढ़ कर बैठ गयी. अब पैशन से किस्सिंग कर रहे थे. फिर मैंने उनके दोनों बूब्स को बारी – बारी से चुसना शुरू कर दिया और साथ में बाईट भी कर रहा था. आआआअह्हह्हह्ह आआआ ऊहोहोहोह… खा जाओ… अहहाह अहहाह… मजा आ रहा है. ऊऊऊऊईईईईइमा हह्हहः…फिर उन्होंने मेरे सारे कपडे खोल दिए और मेरे लंड को देख कर वो एकदम से पागल हो गए. इतना बड़ा लंड.. हाउ इज इट पॉसिबल.. फिर वो बोली, मेरे पति का तो इसके सामने कुछ भी नहीं है. और मेरे लंड को अपने हाथो में ले कर सहलाने लगी. मैंने भी उनकी पेंटी को अलग कर दिया. उनकी चूत भी एकदम टाइट थी और एकदम क्लीन शेव थी.

READ  ट्रेन में हुई तीन बार चुदाई

फिर मैंने उनको ६९ पोजीशन में आने को बोला. हम ६९ पोजीशन में आ गए. वो मेरे लंड को चूस रही थी और मैं उनकी चूत को अन्दर तक चूस रहा था. फिर वो बोली, कि रितेश अब मुझ से सहा नहीं जा रहा है. और मत चाटो. मैंने कहा, प्लीज ये मेरा विक पॉइंट है. जब तक मैं १ घंटे चूत ना चाट लू. मुझे सेटइसफेक्शन नहीं मिलता.

मैंने उनको दोबारा लिटा दिया और उनकी टांगो के बीच में सिर रख कर उनकी चूत को दोबारा चाटने लगा. वो सिस्कारिया भर रही थी अहहाह अहः अहहाह ऊऊओ चाटो… खा जाओ…. अहः अहः… इसने बहुत परेशां कर रखा है मुझे. अहः अहः अहः खा जाओ. आआअ.. मैंने उनकी चूत को कोई ४५ मिनट तक चाटा होगा. मैंने बड़े मजे से उनकी चूत को चूसा. इस बीच वो २ बार झड़ चुकी थी. फिर उन्होंने मेरे लंड को पकड़ लिया और उसको हिलाने लगी. फिर उन्होंने मेरे लंड को मुह में रख लिया और चूसने लगी. क्या मस्त लंड चुस्ती थी वो, मानो जैसे कोई लोलीपोप मिल गया हो. मुझे भी मजा आने लगा था. मैंने उनके गले तक अपना लंड डाल दिया. क्या ब्लोजॉब दे रही थी वो. मजा आ गया. फिर मैंने उनके मुह में ही पानी छोड़ दिया.

फिर हम दोनों एक दुसरे को किस करने लगे. मेरा लंड सलामी दे रहा था. अब मैंने उनको घोड़ी बनाया, जो मेरी फेवरेट पोजीशन है. फिर मैंने उनकी चूत पर लंड रखा और एक धक्का दिया जोर से. पूरा लंड अन्दर समा गया. वो चीखने लगी… निकालो इसे… निकालो… प्लीज. पर मैंने नहीं निकाला. फिर २ मिनट बाद वो खुद ही चुदवाने लगी आहाहा अहः अहः ऊऊऊऊईईईईइमा ऊऊफ़्फ़्फ़्फ़्फ़्फ़्… चोदो मुझे… चोदो मुझे मेरे राजा… मेरी प्यास को बुझा दो प्लीज. कब से तड़प रही हु… अहः अहः अहहाह आहाह्ह्ह्हह… करीब १५ मिनट तक उनको मैंने डौगी स्टाइल में चोदा.

READ  रुचि पटना वाली की चुदाई

फिर उनको मैंने बेड पर पटका. फिर उनकी दोनों टाँगे ऊपर कंधे पर रखी और अपना लंड डाल दिया अहहाह अहहाह अहः अहः और जोर से… जोर से… कब से भूखी हु मैं. ऊऊऊऊईईईईइमा ऊहोहोहो…. फिर वो झड़ गयी. मैंने भी अब अपनी रफ़्तार को बड़ा दिया. उनकी चूत सुख गयी थी. उनको मजा आ गया था और दर्द भी होने लगा था. अब मैं झड़ने वाला था. फिर उन्होंने कहा, अन्दर ही छोड़ दो. फिर मैंने तेजी से किया और अपना पूरा माल उनकी चूत में छोड़ दिया. थोड़ी देर बाद, मैं उनको देखा, उनका चेहरा खिल चूका था, मानो जैसे कोई खजाना मिल गया हो.

फिर कुछ देर बाद, मैंने उनकी गांड भी मारी. बहुत रो रही थी. पहले तो उसने मना किया. फिर मान गयी. मैंने उनके गांड के छेद पर थूक लगाया और पहले धीरे से अपना सुपाडा डाला. तो वो उछल पड़ी. फिर एक जोरका झटका मारा. वो रोने लगी, प्लीज निकालो इसे, मैं मारने वाली हु. प्लीज… बाहर निकाल लो. मैंने नहीं सुना और धीरे – धीरे उनकी गांड मारने लगा. थोड़ी देर बाद वो शांत हो गयी और उछल कर चुदवाने लगी. क्या बताऊ दोस्तों, वर्जिन गांड मारने में मजा आ गया… मजा ही आ गया सेक्सी भाभी के साथ सेक्स करने में.

फिर हमने ३ बाद और चुदाई की रात में.

अब टाइम नहीं मिलने कि वजह से बहुत कम मिल पाते है.

तो दोस्तों, कैसे लगी आपको मेरी कहानी. प्लीज अपने कमेंट जरुर दीजियेगा.

Aug 3, 2016Desi Story

Content retrieved from: .

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *