कजिन की गर्ल फ्रेंड को चुसाया

मेरा कजिन छोटू और उसकी गर्ल फ्रेंड किरण अक्सर मेरे फ्लैट पर अपनी चुदाई की प्यास मिटाने आते थे, एक दिन सैटरडे को मैं फ्लैट पर ही था और वो दोनों आ गए और छोटू नए बताया कि वो वीकेंड पर यहीं रहेंगे क्यूँ किरण अपने घर पर कॉलेज का टूर बता कर आएगी. मैंने भी हाँ कह दिया, दोनों मेरे गेस्ट रूम में चले गए और सेक्स करने लगे मैं अपने रूम में चला गया और अकेलापन दूर करने के लिए व्हिस्की की बोतल उठा लाया, थोड़ी देर बाद छोटू मेरे रूम में आया और बोला “वाह जी वाह ये तो सही है मतलब अकेले अकेले पियोगे” और उसने भी अपना ड्रिंक बना ही लिया. इसके बाद किरण आई और छोटू नए कहा “भाई यार मैं इसके लिए भी कुछ ले आता हूँ, ब्रीज़ेर पियोगी ना तुम” तो किरण नए हाँ में सर हिलाया.

 

छोटू मेरी गाड़ी की चाबी ले कर ब्रीज़र लेने चला गया और किरण मेरे पास बैठ गयी, मैं एक कविता को पूरा कर रहा था जो अब पूरी हो चली थी तो मैंने किरण को सुन्नाई और वो उस कविता को सुन कर रोने लगी क्यूंकि कविता थी ही इतनी इमोशनल, मैंने उसे चुप करवाने के लिए उसके सर पर हाथ फेरा तो वो और सुबकने लगी और बोली “आप भाभी से कितना प्यार करते थे लेकिन उन्होंने आपको धोखा दे दिया”. मैंने कहा “बच्चे ऐसा होता है कोई बात नहीं” और मेरे भी दो आंसू ढलक ही आए, किरण नए मेरे भी आंसू पौंछे और हौले से मेरे गाल पर एक किस करते हुए कहा “भैया काश छोटू भी आपकी ही तरह रोमांटिक होता, इसे तो बस सेक्स ही सूझता है” और ये कह कर किरण मेरे सीने पर सर रख कर लेट गयी.

READ  बहुत खुजली थी भाबी की भोसड़ी में

मैं थोडा अन कम्फ़र्टेबल हो गया था तो मैंने स्टाइल से उसे अपने से दूर करने के लिए उसके सर पर हाथ फेरा और उसके सर में एक किस किया तो उसके बालों में से आती खुशबु नए मुझे उत्तेजित कर दिया और वो भी शायद यही चाहती थी, किरण और मैं अब और करीब आ गए थे वो मेरे होठों पर अपने होंठ रगड़ने लगी तो उसके कोमल होठों को चूमने की मेरी इच्छा हुई और मैंने वही किया. मैं और किरण एक दुसरे को पेशनेटली चूम रहे थे. किरण ने कहा “भैया अभी छोटू आ जायेगा और वापस सेक्स की डिमांड करेगा सो अगर आपके साथ कर लिया तो उसके साथ कर नहीं पाउंगी” और ये कह कर वो रूम से बाहर निकल गयी, लेकिन तब तक मेरा लंड खड़ा हो चूका था.

मैंने पोर्न लगा कर अपना लंड हिलाना शुरू किया ही था कि किरण वापस कमरे में आई और बोली “अरे आप प्लीज़ दुखी हो कर इसे वेस्ट मत करो’ उसने मेरा हाथ पकड़ कर मुझे खड़ा किया और दरवाज़े के पास ही मेरा लंड हपने हाथ में ले कर सहलाने लगी, मेरा बड़ा सारा लंड उसके मुंह के आगे झूल रहा था जिसे देख कर वो मुस्कुरा रही थी. किरण ने कहा “आपका तो छोटू से काफी बड़ा और मोटा है और ये कह कर उसने मेरे लंड को चाटना शुरू किया, मैं मौज में आ चूका था क्यूंकि मुझसे दस बरस छोटी कॉलेज गर्ल मेरा लंड किसी प्रोफेशनल की तरह चूस रही थी. किरण नए मेरे लंड को अच्छे से जगाया और हलके हाथ से मेरे लंड को सहलाते हुए ऊपर से नीचे तक चाटा और फिर उसने एक दो बार डीप थ्रोट कर के मेरा पूरा लंड पाने मुंह में ले लिया जिस से उसकी आवाज़ रुंध गयी और आँखों में आंसू आ गए.

READ  रूपा की मस्त चुदाई

किरण की आँखों में आंसू देख कर मैंने अपना लंड उसके मुंह से बाहर निकाल लिया और उसे कहा “तुम मुझे खुश करने के लिए खुद को दुःख मत दो” तो वो मुस्कुरा कर बोली “आप आलरेडी इतना प्यार से बात करते हो आज तो मुझे आप पर और प्यार आ रहा है” और वो फिर से मेरे गोटों को चूसने में लग गयी. हालाँकि मेरा ब्रेक अप हुए तीन महिना बीत चुका था लेकिन मैं अपने लंड को हमेशा शेव्ड और क्लीन रखता था जो किरण के लिए भी अच्छा था क्यूंकि उसे छोटू की झांटों का सामना करना बड़ा बुरा लगता था. किरण मेरे लंड को अपने हाथ में ले कर मसलते हुए अपने होठों पर रगड़ रही थी और उसकी लार से मेरा गीला लंड चमक उठा था, किरण नए मेरे लंड से अपने गालों पर मारा और फिर होठों पर रख कर होठों के साथ भी वैसा ही किया और फिर से चूसने में मशगूल हो गयी.

दस मिनट में भी मैं उसके चूसने से नहीं झड़ा तो किरण नए वही पैंतरा अपना लिया जो मुझे सबसे ज्यादा पसंद था, दरअसल उसने मेरे लंड को टाइट पकड़ के घुमा घुमा के चूसना शुरू किया और इतना विगरस्ली चूसा की मेरा सारा पानी उसके मुंह के अन्दर और चेहरे पर फ़ैल गया. किरण नए कहा “थैंक गोद ये ड्रेस पर नहीं गिरा नहीं तो छोटू को शक हो जाता” किरण नए मेरे रूम के बात रूम में ही अपना चेहरा धोया और मैंने भी अपने कपडे वगेरह संभाले तभी छोटू का फ़ोन आया और उसने पूछा “कुछ खाने को भी पैक करवाऊं या आर्डर करोगे” तो मैंने कहा “मेरा हो गया फिर भी तुम्हारे साथ ले लूँगा थोडा बहुत”. फ़ोन काट कर किरण से मैंने कहा “तुमने आज मेरे अन्दर एक बार फिर वही आग जगा दी है” तो वो बोली “मैं आपकी इस आग का ख़याल रखूंगी बस आप मुझे उतना ही प्यार करोगे जितना आप भाभी को करते थे”. मैं मुस्कुराया और हम दोनों नए इस डील को एक किस से सील किया, आज छोटू और किरण का ब्रेक अप हो चूका है लेकिन किरण अब भी मुझसे रोमांटिक सेक्स करने आती है.

Aug 13, 2016Desi Story
READ  गावं मे सुहाग रात मनाया सीमा के साथ

Content retrieved from: .

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *