HomeSex Story

कोठे वाली के साथ सेक्स का अनुभव

Like Tweet Pin it Share Share Email

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम हनी है और में दिखने में हैंडसम हूँ और में रोजाना जिम जाता हूँ. मेरी उम्र 20 साल है और मेरा लंड किसी भी लड़की और आंटी को आराम से संतुष्ट कर सकता है. अब में आपका ज्यादा टाईम ख़राब नहीं करूँगा और अब में अपनी स्टोरी पर आता हूँ.

 

ये बात 2 महीने पुरानी है और मैंने तब तक एक बार भी सेक्स नहीं किया था, मेरा मन तो बहुत करता था, लेकिन कभी मौका ही नहीं मिला था. रविवार का दिन था और में आराम से सो रहा था कि अचानक मेरे दोस्त का फोन आया कि उसकी फाईल घर पर रह गई है और वो न्यू दिल्ली रेल्वे स्टेशन पहुँच गया है और उसे वो फाईल चाहिए, तो में उसे वो फाईल देने चला गया.

में सुबह 11 बजे निकल गया था और जब बहुत गर्मी थी तो मैंने सोचा कि कार ही ले जाता हूँ, लेकिन ट्रेफिक बहुत मिलता इसलिए में अपनी बाइक से ही चला गया. फिर जब में वहाँ पहुँचा तो मेरा पूरा चेहरा पसीने से भर गया था, क्योंकि गर्मी ही इतनी थी.

फिर मैंने उसे वो फाईल दे दी और वो वापस चला गया, लेकिन अब मेरा तो वापस जाने का बिल्कुल मन नहीं था, क्योंकि गर्मी ही इतनी थी. फिर मैंने सोचा कि आज तक मैंने सेक्स तो किया नहीं है, तो क्यों ना जीबी रोड़ (जहाँ पर बहुत कोठे है) जाया जाए? लेकिन ऐसे सूखे-सूखे जाने में तो मज़ा नहीं आता तो मैंने पहले 2 बियर पी और फिर में वहाँ के लिए चल पड़ा. जीबी रोड़ रेल्वे स्टेशन के पास ही है तो मैंने अपनी बाइक वहीं पर ही खड़ी कर दी और पैदल जाने की सोची.

फिर में वहाँ पहुँचा और अब उस रोड़ पर पहुँचते ही मैंने देखा कि जगह-जगह कोठे नंबर्स भी लिखे थे. फिर में 64 नंबर के कोठे की और चल पड़ा, क्योंकि वो गवर्नमेंट अप्रूव्ड कोठा है और वहाँ कोई डर नहीं है और देखा कि नीचे हार्डवेयर की शॉप थी और ऊपर कोठे थे और गर्ल्स बालकनी में खड़ी होकर कस्टमर्स बुला रही थी और फिर जब में कोठा नंबर 64 में पहुँचा और जैसे ही सीढियाँ चढ़ता, तो मुझे ऐसा लगा जैसे में किसी गुफा में आ गया हूँ, क्योंकि वहाँ अंधेरा ही इतना था और पुरानी सीढियाँ थी. वहाँ नीचे भी एक हॉल टाईप था, जिसमें कुछ 40-45 साल की कुछ औरतें बैठी थी और कस्टमर्स बुला रही थी, लेकिन में उन्हें इग्नोर करके सीढ़ियों पर चढने लगा. अब वहाँ बहुत से लोग बाहर आ रहे थे और उतने ही अंदर जा रहे थे और वहाँ पर बहुत शोर था.

READ  नौकरानी की बेटी की चुदाई

फिर में दूसरे फ्लोर पर गया और जैसे ही एंटर हुआ तो मैंने देखा कि क्या जन्नत थी? वो क्या मस्त जगह थी? और वहाँ पर कुछ नेपाली रंडिया और कुछ इंडियन रंडियाँ भी थी, उन रंडियों ने मस्त सेक्सी ड्रेस पहन रखी थी और वो उन ड्रेस में क्या सेक्सी लग रही थी? अब उन्हें देखकर तो मेरा मूड बन गया था. अब में पसंद करने के लिए अपनी नज़र घुमा-घुमाकर एक-एक रंडी को देख रहा था और वहाँ तो आप जाओगे तो रंडिया खुद ही हमसे चिपकने लगती है और वो भी 1 नहीं 3-3 आ कर, कोई हमारे गाल पर किस करेगी तो कोई हमारा लंड ऊपर से पकड़ेगी. ऐसा होगा तो कोई भी खुद को जन्नत में महसूस करेगा, ये बिल्कुल सच है और मेरे साथ भी यही हुआ है और अब मेरा तो लंड खड़ा हो गया था मेरा क्या? सबका ही खड़ा हो जाएगा. फिर मैंने देखा कि एक रंडी चुपचाप बैठी थी और वो दिखने में बहुत सुंदर लग रही थी, उसने ज्यादा मेकअप भी नहीं किया था और फिर भी वो बहुत सुंदर लग रही थी.

फिर मैंने जा कर उससे पूछा कि कितने लोगी, तो उसने कहा कि 320 रूपए. फिर मैंने उसे 320 रूपए दिए और वो मुझे एक स्माइल पास करके काउंटर पर चली गई और मुझसे कहा कि अपना फोन भी यहाँ जमा करा दो. तो में सोचने लगा, फिर उसने कहा कि डरो मत, यहाँ सब ठीक है.

फिर मैंने अपना फोन जमा करा दिया. फिर उसने कहा कि आप ऊपर चलो में 1 मिनट में आती हूँ. फिर में ऊपर चला गया जहाँ 7-8 छोटे-छोटे रूम बने हुए थे. फिर 5 मिनट के बाद वो आ गई और रूम खोला और मुझे अंदर जाने को कहा और फिर खुद भी अंदर आ गई और रूम अंदर से लॉक कर दिया. फिर वो लेट गई और बोली कि टिप नहीं दोंगे, तो मैंने कहा कि बेबी सब कुछ मिलेगा इंतजार तो करो. फिर मैंने उससे कहा कि तुम मेरे कपड़े उतारो और में तुम्हारे कपड़े उतारता हूँ, तो वो राज़ी हो गई.

READ  चुदाई की क्लास ली बहन की

अब में उसके बूब्स पर भी अपना हाथ लगा रहा था, क्या बूब्स थे उसके? कसम से यार 38 साईज के तो होंगे ही और गोरे-गोर बहुत सॉफ्ट थे. फिर मैंने उसकी स्कर्ट भी उतार दी, उसकी चूत बिल्कुल साफ थी, क्लीन शेव और बहुत गोरी थी. फिर उसने मेरे कपड़े उतारने शुरू किए, उसने पहले तो मेरी टी-शर्ट उतारी और फिर जीन्स उतार दी और फिर मेरी अंडरवेयर उतारते ही मेरा मोटा लंड एकदम से बाहर आ गया. वो मेरे मोटे लंड को देखकर बोली कि इतना मोटा और बड़ा, तो मैंने कहा कि हाँ आज यही आपकी चूत में जाएगा, तो वो हँसने लगी.

फिर उसने कंडोम का एक पैकेट निकाला और मेरे लंड पर पहना दिया. फिर वो लेट गई और में उसके ऊपर आ गया. फिर मैंने उसे एक स्मूच भी दी और उसके बूब्स भी पिये, तब तक मेरा लंड बिल्कुल टाईट हो चुका था. फिर उसने मेरा लंड पकड़कर अपनी चूत में घुसा दिया और मुझे हग करके लेट गई. फिर में उसे चोदने लगा और धीरे-धीरे करके में तेज़ हो गया और तेज-तेज धक्के मारने लगा. अब वो बहुत जोर-जोर से चिल्ला रही थी ऊव अया उम्म्म हम्मम्मम चोदो मुझे चोदो और ज़ोर से अयाया ऊव.

अब में झड़ने वाला था तो उसने अपनी चूत टाईट कर ली और में उसकी चूत में ही झड़ गया. अब मेरे झड़ते ही उसने मुझे एक लंबी स्मूच दी और कहा कि उसे भी बहुत मज़ा आया. फिर हम खड़े हो गये और फिर हमने अपने-अपने कपड़े पहन लिए. फिर मैंने उससे वादा किया कि नेक्स्ट टाईम भी में उसके पास ही आऊंगा और उसे 200 रुपए टिप में दिए. फिर मैंने बाहर जा कर अपना फोन ले लिया और घर चला गया.

Aug 12, 2016Desi Story
READ  जमकर चुदाई की अपनी माँ की चूत

Content retrieved from: .

Related posts:

बुआ की बेटी की सीलतोड़ चुदाई
हॉट लड़की कुसुम की चूत चुदाई
भाभी और भाई बहन का प्यार
बीवी के साथ हनिमून
रीना के साथ बाथरूम सेक्स
सीनियर स्टूडेंट की चूत मारी
ट्रेनिंग सेण्टर की प्रेम-चुदाई
Divorced lady ke sath sex kiya
Renu chudi apne pati ke bhai se
बरसात की रात दोस्त की माँ के साथ
नौकरी के बदले चुदाई का ऑफर दिया
पत्नी को नहीं चोद के मुझे चोदता
नौकरानी को सेड्युस किया - Desi Sex KhaniyaDesi Sex Khaniya
भाबी की बुर का पानी पि कर प्यास मिटाई
नमकीन थी मेरी बुर की पानी
पति ने ही रंडी बनाया मुझे दिल्ली लाकर
जवान पंजाबन लड़की और मेरी खड़ा लंड
माँ के चूत के बाद मामा के घर में
स्कूल की कुंवारी चूत - Desi Sex KhaniyaDesi Sex Khaniya
Caution | Sex Story Lovers
Memorable Sex On The Beach
Namastey Kiya Auntyji Ko | Sex Story Lovers
बहन चुदवाकर लंड की दीवानी बन गई
यास्मिन ने बूढ़े केलेवाले का केला लिया
कबाड़ी के खेल में गांड मरवाई
जोर का धक्का देकर माँ के गांड मे लंड घुसा दिया
मौसी को चोद के अपना बनाया
टीचर को टॉयलेट में चोदा
शादी में गया था, मेरे बगल में जो औरत सोई थी उसको पूरी रात चोदा, सच्ची कहानी
पति और भाई के सामने गुंडे ने खूब चोदा :- अर्शिता Indian Sex Khanai

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *