गावं की आंटी को लिफ्ट देकर चोदा

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम राज है, में कोल्हापुर (महाराष्ट्र) से हूँ और में एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करता हूँ, मेरी इस साईट पर ये पहली स्टोरी है और अब में आपका ज़्यादा टाईम ना लेते हुए सीधे अपनी स्टोरी पर आता हूँ. मेरी उम्र 23 साल है और मैंने अभी ही बी.कॉम पूरा किया था और जॉब पर लगा था. में एक गावं से हूँ और में जॉब के लिए मेरे घर से ऑफिस तक बाईक पर जाता था. में जिस जगह पर जॉब करता हूँ वो इंडस्ट्ररियल एरिया है, जहाँ पर मेरी गावं की औरतें भी काम के लिए जाती है और उनको ज्यादातर चलकर या किसी से लिफ्ट लेकर जाना पड़ता है. अब वहाँ मेरे गावं की भी औरतें जाती थी और जो मेरा ऑफिस टाईम था उसी वक्त मुझे रास्तें में दो औरतें चलकर जाती दिखती थी.

पहले दो दिन तक मैंने उन पर कुछ ज्यादा ध्यान नहीं दिया, लेकिन एक दिन उनमें से एक औरत ने मुझे रुकने का इशारा किया. फिर मैंने देखा कि वो हमारे पास वाली ही आंटी है तो में रुका. सॉरी अब में आपको आंटी के बारे में बता दूँ, वो ज्यादा गोरी नहीं थी, लेकिन मस्त थी, उसका नाम शोभा था और उसकी उम्र 35 से 40 साल के बीच में होगी, उसकी गांड बड़ी थी और वो साड़ी पहनती थी और बूब्स भी मस्त थे, उसका फिगर 36-34-38 था. अब में सीधा अपनी कहानी पर आता हूँ. फिर उसने हाथ किया तो में रुक गया और अब वो मेरी बाईक पर पीछे बैठ गई और बातें करने लगी.

शोभा – तुम कब से यहाँ पर जॉब करते हो?

में – 4 दिन से.

शोभा – तुम्हारा टाईम क्या रहता है?

में – 9 से 6 तक, आपका?

शोभा – मेरा भी यहीं टाईम है.

READ  माँ और अंकल की सेवा

अब ऐसी बातें चलती रही और हम लोग वहाँ पहुँच गये और फिर उसने जाते वक्त ले जाने को कहा तो मैंने भी ठीक है बोला. अब पहले दिन तो वो थोड़ा पीछे बैठी थी, अब दूसरे दिन जब में जा रहा था तो वो मेरा इंतजार कर रही थी, अब मुझे देखकर वो मुस्कुराने लगी.

फिर मैंने पूछा कि आज आप बहुत खुश लग रही हो तो वो बोली कि मुझे पार्टनर जो मिल गया है. अब में समझा नहीं, आज वो मेरे साथ चिपक कर बैठी थी और मेरी बैग आगे लेने को कह रही थी. फिर मैंने अपना बैग आगे लिया और अब वो मुझसे चिपक कर बैठ गई, जिससे उसके बूब्स मेरी पीठ को टच हो रहे थे और उसकी जांघे क्या मुलायम थी दोस्तों? अब में जान बूझकर ब्रेक लगाने लगा और अब में मज़ा ले रहा था और उसे भी दे रहा था.

फिर जब हम वहाँ पहुँच गये तो वो मुस्कुराने लगी और मेरी आँखो में आँखे डालकर देखने लगी. अब में भी देख रहा था, तभी उसने मेरा मोबाईल नम्बर माँगा. फिर मैंने उसे दे दिया और निकलते समय कॉल करने को कहा. अब में जाते समय उसे लेने गया तो वो बाईक पर मुझसे चिपक कर बैठ गई और अब उसका हाथ मेरी जांघो पर घूम रहा था तो अब मुझे मज़ा आ रहा था. फिर वो बोली कि कल हमारी छुट्टी है तो वो मुझसे कल का प्लान पूछने लगी. फिर मैंने कहा कि कुछ नहीं बस में तो घर पर ही रहूँगा और मैंने उनसे पूछा कि आपका क्या प्लान है? तो उसने कहा कि कुछ नहीं है.

फिर उसने मुझे दोपहर को अपने घर पर बुलाया. अब में दूसरे दिन उठकर फ्रेश होकर नाश्ता कर रहा था कि उसका कॉल आया कि कब तक आओगे? और उसने 12 बजे के बाद आने को कहा. फिर में 12 बजे के बाद उसके घर गया तो उसके घर पर कोई नहीं था, वो अकेली टी.वी. देख रही थी और उसका पति बाहर गया था और वो शराबी था.

READ  अमेरिका वाली भाभी की चुदाई

अब में उसके घर पर गया तो उसने मुझे बैठने को कहा और पानी लेने किचन में चली गई. उसने नीले रंग की साड़ी पहनी थी, क्या गांड लग रही थी उसकी? अब में सोच रहा था कि अभी उसको पकड़कर चोद दूँ, लेकिन में रुक गया. अब वो पानी लेकर आई और वो गिलास देते समय झुकी तो उसका पल्लू नीचे आ गया. अब में तो देखकर दंग ही रह गया और अब में उसके बूब्स देख रहा था और उसे भी वहीं चाहिए था तो उसने पूछा कि क्या देख रहे हो? फिर मैंने नज़र हटाई और कुछ नहीं कहा.

फिर उसने पूछा कि दूध पीओगे या चाय? तो अब में समझ गया कि इसने मुझे चुदवाने के लिए ही यहाँ बुलाया है. फिर मैंने कहा कि जो आप ठीक समझे तो अब वो मेरे पास आकर बैठ गई और बोली कि दूध ही सेहत के लिए अच्छा होता, तुम वही पीयो और अपने बूब्स को देखने लगी. अब मेरी नज़रे भी उसके बूब्स पर ही थी तो वो मेरी तरफ देखते हुए बोली कि पियोगे ना, तो मैंने कहा कि आप पिलाओगी तो ज़रूर.

फिर उसने मेरा हाथ अपने बूब्स पर रखा और अब में भी उसे दबाने लगा था. अब मेरे लिए ये सब नया था, अब मेरा लंड भी खड़ा था और मेरी पेंट से बाहर आने को मचल रहा था. फिर मैंने उसे अपनी और खींच लिया और उसे किस करने लगा, अब वो भी मुझे किस कर रही थी. फिर 5 मिनट तक किस करने के बाद वो उठी और दरवाजा बंद करके आई और मेरी जांघो पर बैठकर मुझे किस करने लगी.

READ  मेरी दोस्त कोमल की जबरदस्त चुदाई

अब में भी उसके बूब्स दबा रहा था और किस कर रहा था. फिर में उसे उठाकर बेडरूम में ले गया और बेड पर लेटा दिया और उसका ब्लाउज निकाल कर उसकी ब्रा के ऊपर से ही उसके बूब्स चूसने लगा. अब वो आहें भर रही थी, अहहहह आह एयाया कर रही थी. फिर मैंने उसकी ब्रा निकाली और उसने मेरी शर्ट निकाली. अब में उसके निप्पल चूस रहा था और अब मुझे बहुत मज़ा आ रहा था.

अब में बीच-बीच में उसे काट भी रहा था और वो आहें भर रही थी, आह हाह हहहहह आहह कर रही थी. फिर उसने मेरी पेंट निकाली. अब मेरा तना हुआ लंड देखकर वो खुश हो गई और बोली कि ये तो बहुत बड़ा लग रहा है. फिर उसने मेरी अंडरवियर निकाली और मेरा लंड चूसने लगी और अब मुझे बहुत मज़ा आ रहा था.

फिर मैंने भी उसकी साड़ी और पेंटी उतार दी, अब वो भी पूरी नंगी हो गई थी और उसकी चूत पर एक भी बाल नहीं था. फिर में उसकी चूत में अपनी दो उंगली डालकर अंदर बाहर करने लगा, अब वो आहें भर रही थी अहहह हहहहहा हाहहह हाहहह अब ज्यादा मत तड़पाओ, डाल दो अंदर कह रही थी. फिर मैंने भी उसको लेटाकर अपना लंड उसकी चूत पर रखा और एक जोर से धक्का मारा तो वो चिल्ला उठी आहह अहह हहह हाह कर रही थी. अब में उसको जोर-जोर से धक्के मारने लगा, अब उसे भी मज़ा आ रहा था. फिर मैंने उसे 20 मिनट तक चोदा. फिर मैंने उसकी गांड मारी और अपने घर आ गया.

Aug 15, 2016Desi Story

Content retrieved from: .

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *