HomeSex Story

तांत्रिक ने चोदा और गांड

Like Tweet Pin it Share Share Email

डिअर फ्रेंड, मैं सीमा गुप्ता, एक हाउस वाइफ हु दिल्ली के लक्ष्मीनगर एरिया से, मेरी शिक्षा दीक्षा लखनऊ में हुयी है, मैं अपने माँ बाप का एकलौती संतान हु, माँ पापा रिटायर्ड बैंक मैनेजर है, वो लोग मेरी शादी बड़ी ही धूम धाम से की, पति के रूप में पंकज गुप्ता बहुत ही नेक इंसान था पर जैसे ही वो बेवफा हुआ मेरा घर बिखर गया, यहाँ तक की मैं उस बिखराव को ठीक करने के लिए मुझे क्या से क्या करना पड़ा, मैं आपको अपनी पूरी दास्ताँ आगे बताती हु,

 

मेरी उम्र 28 साल की है, मैं मदमस्त जवानी को हमेशा बचा के रखी क्यों की मैं अपनी जवानी सिर्फ अपने पति के ऊपर ही न्यौक्षावर करना चाहती थी, कई बार ऐसा मौक़ा आया पर मैं हमेशा चुदने से परहेज करते रही, शादी हुई और बस २ महीने तक बस चुदाई ही चुदाई, बहुत मजे किये, कभी शिमला में चुदाई, कभी मनाली में चुदाई, कभी होटल में, घर की तो बात ही छोड़ दीजिये, घर का कोई ऐसा कोना नहीं बचा था जहा मैं नहीं चूड़ी थी और कोई ऐसा जगह नहीं था जहा मेरी चुदाई की वो सेक्सी आवाज ना निकली हो, सबसे ज्यादा मजा तो मुझे रोटी बनाते हुए आता था, मैं खड़े होक स्लेप पे रोटी बेलती थी और मेरा पति मुझे पीछे से साडी उठा को चोद रहा होता था !

मेरी ज़िंदगी काफी हसी ख़ुशी चल रही थी पर थोड़े दिनों में ही ग्रहण लग गया मेरे प्यार को, एक लड़की जो कामिनी थी मैं तो सच में दोस्तों मैं उससे कमीनी ही कहती थी, वो थी मेरे हस्बैंड का दोस्त, पर उसकी नियत सही नहीं थी, मेरे पंकज को पटा के एक बार धनौल्टी जो की उत्तराखंड में है चली गई और रंगरेलियां मनाई, तभी से पंकज मेरे चुदाई का हिसा भी कामिनी को ही दे आता था, अब पंकज मेरे से झगड़ा भी करने लगा, और कहने लगा तुम बहन जी टाइप हो, मॉडर्न नहीं हो देखो कामिनी को कैसी लगती है, क्या रूप है, क्या फिगर है, और तुम अपने आप को आईने में देखो कैसी लगती हो, मैं समझ गई.

READ  A night at the hotel

कामिनी मेरे पति को मुझसे छीन चुकी थी, अब करती भी क्या, मैं पूरी रात तकिये के सहारे ही सोने लगी, ज्यादा से ज्यादा हुआ तो नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पे जाके कहानिया पढ़ ली, पर इससे मुझे कुछ भी रहत नहीं मिल रहा था बस टाइम पास हो रहा था, मैं अपने जवानी को यूं ही जलते नहीं देखना चाहती थी, मैं भी फुदकना चाहती थी, मुझे भी लगता था मेरा पति मुझे चोदे, सेक्स करे, संसार की सब खुशियां मुझे दे, अब तो मैं ये भी सोच ली थी की पति मुझे जैसा चाहे वैसा चोदे, पहले मैं गांड मारने नहीं देती थी, और मुझे लण्ड भी मुह में लेना अच्छा नहीं लगता था पर अब इरादा बदल गया था अब तो मैंने आइसक्रीम की तरह लण्ड भी चूसने को तैयार थी और गांड भी मरवाने को, पर कुछ भी हासिल नहीं हुआ. और धीरे धीरे मेरा पति मुझसे दूर हो गया.

मैंने एक न्यूज़ पेपर में एक तांत्रिक का इस्तेहार देखि और फिर फ़ोन किया, उन्होंने मुझे कहा ठीक है बेटी मैं तेरे पति को वापस ला दूंगा, मैंने भी विश्वास किया, उन्होंने कुछ पैसे का इंतज़ाम करने के लिए कहा और कहा की एक पूजा है जो मुझे रात में करनी होगी, वो भी तुम्हारे घर में, फिर मैंने एक डेट दिया जब मेरे पति कंपनी के काम से बाहर जा रहे थे मैंने २० तारीख का डेट दिया.

तांत्रिक करीब शाम को ६ बजे के करीब आया, और मेरे बैडरूम में निचे कई सारे कर्म काण्ड निचे करने लगा, करीब २० के करीब दीपक जलाया और फिर सुरु हो गया, उसने मुझसे कहा अब आप स्नान कर के आओ पर शरीर के ऊपर सिर्फ एक ही कपडा होना चाहिए, मैं थोड़ी सहमी हुई थी, मैं एक कपडे में कैसे वो भी एक अजनबी के सामने, पर मैं सोची की चलो अपना घर ठीक करने के लिए मुझे कुछ भी करना पड़े तो भी ठीक है, मैं नहा के एक कॉटन की साड़ी डाल के आ गयी, मैं बिलकुल राम तेरी गंगा मैली की हीरोइन की तरह लग रही थी मेरी चूचियाँ हिल रही थी और साइड से दिख रही थी, बड़ी बड़ी चूचियाँ जिसको ब्रा और ब्लाउज में बाँध के रखती थी आज सब आजाद था, मैं बहुत ही सेक्सी लग रही थी.

READ  Meri Choot Pr Kalakari - Indian Sex Stories

फिर वो तांत्रिक मेरे ऊपर भी करी कर्म काण्ड लिया और बोला लेट जाने को, और वो खुद ही मेरा साडी ऊपर कर दिया, बोला मुझे योनि पूजा करना है, मैं कुछ समझी नहीं पर मैं सब कुछ करने के लिए तैयार थी, उसने मेरे चूत्त में जल और थोड़ा सा फूल चढ़या और मन्त्र बोला. पूरा घर घूप और अगरवती से महक रहा था, फिर तरीक ने मेरे ऊपर से निचे शरीर को हाथ से सहलाया उसका हाथ मेरे स्तनों को छुआ मेरे अंदर अजब सी गुदगुदी होने लगी, फिर थोड़े देर में मुझे निर्वस्त्र कर दिया, और कहा आप मुझे किसी चीज की लिए मना नहीं करना, मैं भी सोची चलो जो होना है आज ही होगा कल से तो मैं अपने पति की ही रहूंगी, मैं अपना सब कुछ उस तरीक को सौप दी.

वो तांत्रिक करीब ३६ साल का था, वो मुझे अपनी बाहों में जकड लिया, और चोदने लगा, वो मेरी चूचियों को मसलते हुए भद्दी भद्दी गालियां दे रहा था, मैं फिर पैर फैलाकर चुद रही थी, मुझे भी शकुन था की अब सब कुछ ठीक हो जायेगा, रात भर यही चलता रहा चुदाई और तंत्र मंत्र, मुझे एक उम्मीद थी की सब कुछ नार्मल होने का, सुबह हो गया मैंने पैसे भी दिए उस तांत्रिक को और मुझे फिर से एक बार खड़े खड़े चोद के चला गया.

दूसरे दिन ही मेरे पति आने बाले, था मैं सज संवर के थी, ताकि मेरा पति मुझे पसंद करे, शाम को करीब ६ बजे घंटी बजी, मेरा पति आया, बहुत ही दुखी था मैं पुछि की क्या बात है, तो वो बताया की कामिनी आज मेरा सारा पैसा लेके फरार हो गई है, मैंने उसके ऊपर कम्प्लेंट किया किया है उसने मेरी ज़िंदगी बर्बाद कर दी है, और वो मेरे साइन से लिपट गया, मैं आपको ये नहीं कह सकती की ये कैसे हुआ, अपने आप हुआ की तांत्रिक की वजह से हुआ पर जो भी हुआ अच्छा हुआ.

Jul 29, 2016Desi Story
READ  Tmkoc Episode 1 - Indian Sex Stories

Content retrieved from: .

Related posts:

Rich fuck on terrace
माँ बेटी को साथ साथ चोदा पूरी रात
क्यों चुदवाने लगी मेरी खूबसूरत बड़ी
दो परिवार की आखिर मिलन हो ही गयी
जो भी हो हमें चुदाई मिलना चाहिए
पति के सामने चुदाई दुसरे लंड से
एक अधूरी हसरत - Desi Sex KhaniyaDesi Sex Khaniya
Collegue Dost Ki Maa Ko Chodai Ki Kahani
Majjak Majjak Mein Mama Ki Ladki Ko Chodai Kiya
बैगन वाली भाभी की चूत मे मेरा बैगन
Nasty Romance With Maid Manjula
Pleasurable Sex With My Sexy Mom Part - 1
Got Dominated By Neighbor Indian Aunty
The Beginning - Indian Sex Stories
Stripping And Helping Maid With Chores
Khel Khel Me Sex Fail
Noor Arora: Anal With Sikh Guy
Ennoda Akka Kudutha Sugam - Indian Sex Stories
मेरी गर्लफ्रेंड की हॉट चुदाई • Hindi sex kahani
पहली बार चुदाई का एहसास • Hindi sex kahani
पड़ोसी लड़के के घर जाकर अपनी चूत की खुजली मिटाई • Hindi sex kahani
Bete ne apni maa ki chut ki chudai ki
Hot gaand wali Shabbo ki mast chudai ki Hindi kahani
Indian teen sucked a matured man in running bus
New experiences at new place
Checking the milk - Sucksex
Guarded affair - Sucksex
Indian pictures - Sucksex
Lesbian fun - Sucksex
Mature Indians - Sucksex

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *