HomeSex Story

दीदी के देवर से चूत फड़वाई

दीदी के देवर से चूत फड़वाई
Like Tweet Pin it Share Share Email
दीदी के देवर से चूत फड़वाई

मेरा नाम सीमा है, मैं अभी २२ साल की हु, ये कहानी आज से ४ साल पहले की है, Antarvasna Hindi Sex Stories जब मैं पहली बार सेक्स की थी, मैं देखने में बहुत ही अच्छी हु, और सबसे खूबसूरत पार्ट जो मेरे शरीर में है वो है मेरी दोनों टाइट बड़ी बड़ी चूचियाँ और मेरे चूतड़ जो गोल गोल पीछे के तरफ निकला हुआ काफी सेक्सी है, मेरे होठ बहुत ही गुलाबी और रसदार है, मैं काफी मोर्डर्न तो नहीं हु, क्यों की मैं गाँव की रहने बाली हु, पर माल टंच हु, आपको ऐसी माल कही शहर में नहीं मिलेगा पुरे देसी हु, और एक नम्बर की चुदक्कड़.

मेरे जब स्तन उगने सुरु हुए थे तब से ही मैं लड़को में मशहूर थी, सब मेरे ऊपर मरते थे, पर मैं किसी पे नहीं मरती थी क्यों की मेरे घरवाले बड़े ही स्ट्रिक्ट थे, मैं मन मसोस के रह जाती थी, ऐसे भी मैं गाँव में रहती थी तो वह के कायदे क़ानून होते है, पर जब से मेरे चूत में बाल और चूचियाँ बड़ी बड़ी होने लगी तब से मुझे लगा की ये चुदाई क्या बला है मैं चखना चाहती हु, मैंने एक पोर्न मूवी देखि अपने मोबाइल पे तब से तो और भी जख्मी शेरनी जैसी हो गई थी मुझे लगता था की कैसे मैं लंड को चखु, पर ये सब सम्भब नहीं था, मैंने कोई प्लान भी नहीं किया था की कब चुदुंगी मैं तो सोच रही थी की शादी के पहले तो कोई उपाय नहीं है चुदाई का, पर ये सब शादी के पहले ही सच हो गया है कैसे आगे बताती हु,

मेरे भैया बंगाल में रहते है, मैं उन्ही के पास गई थी, मेरी बहन लव मैरिज की है वो भी अपने पति के साथ मेरे भैया के कॉलोनी में ही रहती है, एक दिन मेरे दीदी के देवर आये, मैं पहली बार देखि थी क्यों की दीदी के शादी में कोई बारात या तो और ज्यादा ताम जहां नहीं हुआ था वो दोनों चुपके चुपके शादी की थी, मैं भैया के यहाँ थी, भैया भाभी और मैं, भैया ईस्टर्न कोल् फील्ड में काम करते थे, वो ड्यूटी चले गए, गर्मी का दिन था, भाभी भी दूध लेने चली गई, मैं घर पे अकेली थी, दीदी का देवर मेरे यहाँ ही सोये हुए थे, वो दिन में बारह बजे आये, वो ऐसे लग रहते थे बड़े ही शर्मीले स्व्भाव के, वो बहुत ही काम बातचीत करते थे.

READ  प्यासी आंटी और उनकी गांड की खुजली

घर में मैं अकेली थी और वो सोये थे, मुझे पता नहीं क्या हुआ लगा की आज मैं अपने वासना की आग को इनसे बुझा सकती हु, तो मैं झाड़ू लगाते लगाते उनके कमरे में गई जहा वो सोये थे, मेरी दिल की धड़कन तेज हो रही थी क्यों की मैं क्या करने जा रही थी मुझे ही पता था, मैंने गई और पलंग को एक टक्कर मारी वो उठ गए, वो बोले भाभी नहीं है घर पे तो मैंने कह दिया वो नहीं है वो दो घंटे बाद आएगी पहले दूध लेगी फिर वो कही और जाएगी, तो वो जाने लगे, मैंने उनके जुटे छुपा दिए, वो ढूढ़ने लगे, वो मुझसे पूछते की जूते आपने देखे है तो मैं सिर्फ हस रही थी तो उका शक मेरे ऊपर ही जा रहा था, फिर मैंने उनके चूतड़ में चुति काट ली, फिर दोनों में एक दूसरे को ऊँगली मारने की नौबत आ गई, मैंने उनके पेट में उनलगी करती वो मेरे पेट में ऊँगली करते.

धीरे धीरे उनको सुरूर छा गया और वो मेरे चूच को ऊँगली मारने लगे, मैं भी उनके लंड को छूने लगी, वो मुझे पीछे से पकड़ के मेरे गांड में अपना लंड रगड़ दिए, सच पूछिये तो पहली बार लंड रगड़ने का एहसास बड़ा ही मस्त था मैं और भी मस्ती में आ गई, और फिर से मैंने उनके लंड को छू दिए अब वो मेरे चूत को छूने लगे, मैं नाईटी पहननी थी, वो निचे से हाथ डालने लगे, मैं सोची की कही भाभी ना आ जाये क्यों की मुझे पता था भैया तो रात को १० बजे आएंगे अभी तो चार ही बजे है, मैंने लैंडलाइन से भाभी को फ़ोन किया तो वो बोली की मैं सात बजे तक आउंगी, आज दूध मार्किट से ही ले लुंगी, जरुरी काम पड़ गया है मुझे मेरी दीदी के घर जाना है. मैं घडी देखि उसमे चार बज रहे थे मैंने समझ गई की अभी तीन घंटे तक कोई नहीं आने बाला.

READ  My Sexy Shylaja Aunty Story

फिर क्या था मैंने बाहर जाकर देखा दरवाजा बंद था मैंने वापस जैसे ही आई तो मुझे फिर से पीछे से पकड़ लिए और मेरे चूचियों को मसलने लगे, मैंने भी मसलवा रही थी, बस सी सी सी की आवाज मुह से निकल रही थी, मैं कामुक होते जा रही थी, दर्द भी हो रहा था कोई पहली बार मेरी चूचियों को मसल रहा था, मैं अपना गांड उनके लंड पे रगड़ने लगी, और फिर ऐसा लगा की मेरे पुरे शरीर में विजली दौड़ गई और मैं वापस मुड़ी और उनका सर पकड़ कर मैं उनके होठो को चूसने लगी, वो मेरी चूतड़ को पकड़ के मेरी चूत को अपने लंड से संताने लगे, दोनों की साँसे तेज हो गई थी और वो मुझे पलंग पे लिटा दिए और मेरी नाईटी ऊपर कर दी, फिर वो मेरी चूच को दबाने लगे, मैं ब्रा नहीं पहनी थी मैं टेप पहनी थी वो टेप को ऊपर कर दिए और मेरी चूच को मुह से पिने लगे और दाँतो से दबाने लगे, मेरे मुह से सिस्कारियां निकलने लगी.

मैं अपने पैर को उनके पैर से रगड़ने लगी फिर वो मेरी ब्लैक कलर की पेंटी के निचे हाथ डाले और बोली सीमा आपकी चूत तो बहुत गरम और गीली हो चुकी है तो मैंने कहा ये सब आपके वजह से हुआ है, वो फिर मेरी पेंटी को उतार दिए और फिर मेरे चूत को चिर कर देखने लगे मुझे शर्म आ गई, मैंने अपने चूत को अपने हाथो से ढक लिए, वो फिर मेरी हाथ को हटा के चूत को निहारते हुए अपना लंड निकाले और मेरे चूत के छेद पे रख के जोर से घुसाने लगे, मेरी चूत काफी टाइट थी इस वजह से जा नहीं रहा था, वो जोर लगा रहे थे पर जाने का नाम नहीं ले रहा था फिर से जोर लगाये और उनका लंड मेरे चूत में अंदर चला गया पर खून की कुछ बुँदे बेडशीट पे गिर गया, आप ये कहानी नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पे पढ़ रहे है.

मेरी चूत फट चुकी थी अब हुआ असल खले वो जोर जोर से अपना लंड मेरे चूत में डालने लगे, मैं चिल्ला चिल्ला के चुदवाने लगी, उन्होंने मेरी चूत को फाड़ दिए, मुझे दर्द भी बहुत हो रहा था और मजा भी आ रहा था, मैं खूब चुदी करीब दो घंटे तक, फिर दोनों खल्लाश हो गए. उसके बाद वो वह सात दिन तक रहे और मुझे सात दिन में करीब १७ बार चोदे, अगले महीने मेरी शादी है, अब मैं दूसरे लंड का इंतज़ार कर रही हु, आपको मेरी कहानी कैसी लगी रेट जरूर करे.

READ  My fiance took my boss’s cock

Desi Story

Related posts:

बुआ और उनकी दोनों बेटियों को चोदा Desi Family Sex Stories
कोलेज की रंडियां
गर्लफ्रेंड की चूत और गांड मारी
मेरे दोस्त की कजिन्टर
माँ की खुशी के लिए बहन से शादी
Ankita ko asli lund se chudwa ke maza aaya
आंटी ने ब्याज के लिए गांड मरवाई
बेंक मैनेजर के साथ सुहागरात
पंजाबी औरत के साथ चुदाई का मजा
कामवाली बाई को बनाया घरवाली
में बन गयी अंकल की बीवी
बाजु वाली भाबी की चूत की पुंगी बजाई
पति का छोटा लंड के चलते ही मैंने ये कदम
रंडी की तरह दीदी को चोदा और पैसा दिया
रेखा को अपने लण्ड पर बैठने को कहा
चुदाई की क्लास ली बहन की
जवान लड़की की बुर चुदाई की गर्म कहानी
Mom Ne Help Kiya Chudai Ke Liye - Part v
Kya Mast Malish Ki Bua Ki Gand Ki
Mom Ne Help Kiya Chudai Ke Liye - Part iv
तोहफा चुदाई का – मेरा फिगर ३८-३०-३८ है, दो बड़ी बड़ी चूचियां है और बड़ी भारी गांड है :- मनीषा
साली चुद गई और उसे पता भी नहीं चला!
पहली बार गांड मरवाई शालिनी ने
आंटी की मक्खन लगाकर चुदाई दिवाली में
कुँवारी चूत की महक – प्लीज़, हितेश निकालो… बहुत दर्द हो रहा है!! !!! 2 इंच का टोपा उसकी चूत में घुसा ...
क्रीम लगा के बहन की चूत चोदी
मेरी लड़को से चुदवाने की आदत रोज नया कड़क लंड चाइये होता हे :- जरीन
पूरे दिन में शेखर ने चार बार मेरी चूत मारी और हम रात को नंगे ही सो गये
ऐसा चोदना की मैं रो पडू
[H&G] 장거리 정찰병 가이드 영상/Long-range Recon Guide tips

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *