दूल्हे ने दुल्हन की दोस्त को चोदा

हैल्लो दोस्तों, ये मेरी बिल्कुल सच्ची घटना है. मैंने कैसे अपनी पत्नी की फ्रेंड की चुदाई की? वो भी शादी की अगली रात को इस स्टोरी में बताने जा रहा हूँ. मेरा नाम सचिन है और में बरोडा का रहने वाला हूँ. मेरी स्टोरी की हिरोईन है वंदी, जो कि एक डॉक्टर है, वो मेरी पत्नी की बेस्ट फ्रेंड है, क्या मस्त फिगर है उसका? बड़े-बड़े बूब्स, पतली कमर और मस्त राउंड मोटी गांड. उसका फिगर 36-28-36 है और में उससे शादी से पहले से बात करता था, में पहले से उसे चोदने का सपना देखता था, लेकिन वो पूरा होगा ये यकीन नहीं था.

अब मेरी शादी दिसम्बर में थी, मेरी पत्नी का घर मेरे घर के पास में ही था और अब में उसकी फ्रेंड्स को पहचानने लगा था. फिर मैंने उन सबको भी इन्वाईट किया था. अब रात को मेरी पत्नी के यहाँ नाच गाना जल्दी ख़त्म हो गया था, तो उसकी दोनों फ्रेंड वंदी और दीपिका वहाँ पर प्रोग्राम ख़त्म करके मेरे घर पर आए थे. अब रात के करीब 2 बज रहे थे, अब मेरे घर से भी मेहमान लगभग निकलते ही जा रहे थे और अब में थक गया था तो में उन दोनों के साथ बैठा और बात कर रहा था. अब हमारे बीच नॉर्मल सी बातें हो रही थी. फिर अचानक से.

वंदी : जीजू कैसी तैयारी है कल की?

मुझे लगा कि वो शादी की बात कर रही है तो मैंने सामान्य उत्तर दिया.

में : बस सुबह-सुबह देखेंगे जो भी करना है.

वंदी : हम तो रात की तैयारी के बारे में बात कर रहे है और फिर वो दोनों हंसने लगी.

फिर मैंने सोचा कि चलो ये अच्छा मौका है तो मैंने भी तीर मार ही दिया.

में : अभी बोलो तो में अभी भी तैयार हूँ.

दीपिका : अभी दीदी भी तैयार ही है.

फिर मैंने सोचा कि वो मेरी पत्नी के बारे में बात कर रही है, लेकिन वंदी ने उसे प्यार से मारा. फिर बोली तू भी ना कुछ भी बोल रही है, अब मुझे कुछ समझ में आया था.

दीपिका : जीजू में वो वाली दीदी की वंदी दीदी की बात कर रही हूँ, वो आपको बहुत टाईम से पसंद करती है.

फिर मैंने वंदी की तरफ देखा तो वो शरमा गयी. फिर मैंने सोचा कि चल इसे आज तो चोद ही डालते है, वैसे भी सब जा चुके थे और जो मेहमान थे, वो सो गये थे.

में : आई लाईक यू टू वंदी, मुझे तुम बहुत सेक्सी लगती हो.

दीपिका : जीजू, इसे कल की तैयारी के बारे में बताओ ना.

में : हाँ चलो और में उन दोनों को अपने घर की छत पर ले गया.

वंदी : जीजू आप यहाँ पर सुहागरात मनाने वाले हो? और फिर वो हंसने लगी.

में : मनाऊंगा तो नीचे ही, लेकिन कैसे मनाऊंगा वो दिखाने लाया हूँ? फिर मैंने दीपिका से पूछा कि मुझे तुझे भी तो दिखाना है?

दीपिका : अभी तो वंदी दीदी को दिखा दो, में बाद में देखूँगी.

READ  गांव की प्यासी औरत - Desi Sex KhaniyaDesi Sex Khaniya

वंदी : वो पहले से सुहागरात मनाकर आई है, अभी 1 घंटे पहले ही उसके बॉयफ्रेंड ने उसे जमकर चोदा है.

ये सुनकर में तो और भी ज़्यादा उत्तेजित हो गया.

में : ठीक है, दीपिका नीचे से कोई आता दिखे तो बताना, अभी में तेरी इस दीदी को सुहागरात दिखाता हूँ.

फिर मैंने वंदी को अपनी तरफ खींचा और उसने पिंक कलर की चनिया चोली पहनी थी, जिसमें से उसकी कमर साफ़ दिख रही थी. अब चाँदनी रात में ये मस्त बदन माहौल को और भी सेक्सी बना रहा था. फिर मैंने उसके कोमल-कोमल होंठो पर अपने होंठ रख दिए. अब किस-करते करते में अपने हाथ उसकी गांड पर घुमाने लगा, इतनी मस्त गांड थी उसकी कि क्या बताऊँ? अब वो भी किस करते-करते मेरे लंड पर हाथ घुमाने लगी. फिर में उसकी पीठ जो कि बैकलेस चोली में थी, उस पर हाथ घुमाने लगा.

फिर मैंने उसको दूसरी साईड घुमा दिया और पीछे से उसके बूब्स पकड़ लिए तो उसने ज़ोर से सिसकारी ली सस्स्स्स्सिसस. फिर धीरे से में उसकी पीठ को चूमने लगा, अब चूमते-चूमते मैंने अपने दातों से उसकी चोली की गाँठ खोल दी. अब मैंने उसकी चोली निकाल दी, उसने ब्लू कलर की ब्रा पहनी थी, उसमें उसके 36 साईज़ के बूब्स थे.

अब में पीछे से ही उसके चनियें में हाथ डालने लगा और साथ में उसकी गर्दन पर किस करने लगा. अब मैंने उसके कपड़े उतार दिए और वापस अपने दातों से ब्रा खोल डाली, अपने दातों से ब्रा खोलने का मज़ा ही कुछ और होता है. अब वो सिर्फ़ पेंटी में थी, एक पराई लड़की को मेरे सामने सिर्फ़ पेंटी में देखकर मेरा लंड और टाईट हो गया था, जो कि अब सीधा वंदी को अपनी पेंटी के ऊपर से अपनी गांड पर महसूस हो रहा था.

फिर मैंने उसे घुमाया और उसके बूब्स दबाने लगा, अब वो अपने एक हाथ से मेरे लंड को पकड़कर दबाये जा रही थी. अब उसके बूब्स में से बहुत सेक्सी खुशबू आ रही थी, तो में ज़ोर से दबाता रहा और चूसता रहा. अब वो आँहें भर रही थी अया जीजू बहुत अच्छा लग रहा है और ज़ोर से चूसो. फिर में उसके बूब्स और ज़ोर से चूसने लगा और पेंटी को साईड़ में करके उसकी चूत पर हाथ रख दिया, उसकी एकदम चिकनी चूत थी, जैसे आज ही क्लीन करके आई हो.

फिर मैंने देखा कि अब उसकी चूत गीली हो गयी है तो मैंने देर करना ठीक नहीं समझा और में सीधा अपना सिर उसकी पेंटी के पास ले गया. अब में उसकी पेंटी उतारने लगा था, अब चाँदनी रात में क्या मस्त चिकनी चूत थी उसकी? ऐसा लग रहा था कि अभी के अभी अपना लंड उसकी चूत में डाल दूँ, लेकिन मैंने सोचा कि थोड़ा ज़्यादा मज़ा लेते है. अब मैंने उसकी चूत पर अपना मुँह रख दिया और चूसने लगा तो उसने जोर से सिसकारी भरी आआआहह जीजूउुउ आआआहह, मुझे बहुत मज़ा आ रहा है आहह.

READ  Shirin ke sexy chunche daba ke chut me lund diya

फिर थोड़ी देर तक उसकी चूत चूसने के बाद उसने अपना पानी छोड़ दिया तो में उसका पूरा पानी पी गया. उसकी चूत से एक अलग सा टेस्ट आ रहा था. मैंने इतनी चूत का रस पीया था, लेकिन उन सबसे ये कुछ अलग था. अब उसने मुझे खड़ा किया और फिर नंगा किया और अब वो मेरे 7 इंच के लंड को देखे ही जा रही थी और हिला रही थी.

फिर अचानक से उसने अपने होंठ मेरे लंड पर रख दिए, अब चाँदनी रात और एक लड़की के होंठ आपके लंड पर इससे बढ़िया बात क्या हो सकती है? फिर वो धीरे से अपने होंठ मेरे लंड पर ऊपर करने लगी और लंड ऊपर नीचे करने लगी. अब वो मेरा लंड बिल्कुल पोर्न स्टार की तरह चूस रही थी. फिर थोड़ी देर के बाद मैंने उससे कहा कि मेरा निकलने वाला है. फिर उसने अपनी स्पीड बढ़ा दी, लेकिन मेरा लंड मुँह के बाहर निकाला तो में समझ गया कि उसे मेरा रस पीना है.

फिर थोड़ी देर के बाद मेरा रस निकल गया तो वो मेरे लंड का पूरा पानी पी गयी. अब उसने लंड को वापस मुँह में लिया और चूसने लगी, अब मेरा लंड वापस टाईट हो गया. फिर मैंने कहा कि वंदी अब इसे अपनी चूत में डालने दो, अब रहा जा रहा है. फिर उसने कहा कि में तो कब से इस लंड की प्यासी हूँ जीजू, आप ही देर कर रहे हो. ये सुनकर मैंने उसे उठाया और रज़ाई जो कि में नीचे से लाया था, उस पर लेटा दिया.

अब में उसकी चूत पर अपना लंड रगड़ने लगा तो वो मेरा लंड चूत में लेने के लिए तड़प रही थी. अब में जानबूझ कर उसे तड़पा रहा था. अब वो बहुत गर्म हो गयी और बोली कि जीजू प्लीज़ ये लंड आपकी इस साली की चूत में डाल दीजिए. फिर मैंने ये सुनकर एक झटके में अपना लंड उसकी चूत में डाल दिया. मुझे पता था कि वो चिल्लायेगी तो उसके चिल्लाने से पहले मैंने अपने होंठ उसके होंठ पर रख दिए थे. उसकी चूत कुंवारी तो थी, लेकिन ज़्यादा चुदी हुई भी थी, इसलिए उसकी चूत टाईट थी.

फिर मैंने देखा कि मेरा लंड पूरा अंदर गया था. फिर मैंने वापस अपना लंड बाहर खींचा और ज़ोर से धक्का मारा तो अब मेरा लंड पूरा अंदर घुस गया था. फिर वो बोली कि आआआआआहह जीजू ये तो बहुत बड़ा है प्लीज़ निकालो इसे, आअहह मेरी चूत फट जायेगी, आआआअहह. अब में ऐसे ही उसके ऊपर लेटा रहा और उसे किस कर रहा था और बूब्स दबा रहा था. फिर अब उसे थोड़ा अच्छा लग रहा था तो अब वो अपनी गांड हिलाने लगी तो में समझ गया कि अब उसे मज़ा आ रहा है.

फिर मैंने भी अब धक्के लगाने चालू कर दिए, आआआह्ह्ह्ह वंदी मेरी जान तेरी चूत तो बहुत ही गर्म है, इतनी गर्म चूत मैंने आज तक नहीं देखी. फिर वो बोली आआहह जीजू आपका लंड भी कुछ कम है आआहह, मुझे आज तक इतना मज़ा मेरे बॉयफ्रेंड ने भी दिया था. अब में समझ गया कि उसको किसने चोदा था, लेकिन मुझे क्या? मुझे तो चूत मिल रही थी और उसे लंड मिल रहा था. बॉयफ्रेंड या गर्लफ्रेंड को चीट करके सेक्स करने का अपना एक अलग ही मज़ा है.

READ  जो भी हो हमें चुदाई मिलना चाहिए

अब में अपनी गर्लफ्रेंड जो कि कल मेरी पत्नी बनने वाली है, उसको चीट कर रहा था और वो अपने बॉयफ्रेंड को चीट कर रही थी. अब करीब 15 मिनट हो गये थे और अब वो 2 बार झड़ चुकी थी. फिर मैंने उससे कहा कि चल अब डॉगी स्टाईल में आ जा, तो अब वो घूमकर डॉगी स्टाईल में आ गयी. अब उसकी पीछे से क्या मस्त गांड लग रही थी? फिर 1 मिनट तक तो मैंने सोचा कि इसकी गांड में ही डाल देता हूँ.

फिर मैंने उससे कहा कि वंदी तेरी गांड बहुत मस्त है और मुझे मारनी है तो उसने कहा कि जीजू अभी मेरी चूत की प्यास बुझाओ, में गांड मरवाने के लिए आपको किसी स्पेशल दिन बुलाऊँगी, अब तो में कल आपकी आधी घरवाली बनने वाली हूँ. फिर मैंने सोचा कि चलो कोई बात नहीं. फिर कभी गांड मार लूँगा. अब मैंने पीछे से उसकी गीली चूत पर अपना लंड रखा और एक धक्के में पूरा डाल दिया तो उसके मुँह से आआआहह निकल गयी. अब में उसे धीरे-धीरे चोदने लगा.

अब करीब 20 मिनट हो गये और उसका 2 बार और पानी निकल गया. फिर उसने कहा कि जीजू अब दर्द हो रहा है प्लीज़ निकाल लीजिए, अभी तो घर भी जाना है आहा आहाआ. तभी अचानक मेरी नज़र उसकी फ्रेंड दीपिका के ऊपर गयी, जिसके बारे में अभी तक भूल चुका था. अब वो अपनी चूत में उंगली कर रही थी. ये देखकर में और भी उत्तेजित हो गया और ज़ोर-ज़ोर से धक्के मारने लगा.

फिर मैंने वंदी से कहा कि मेरा निकलने वाला है, में कहाँ निकालूँ? तो उसने कहा कि जीजू मेरी चूत में ही निकालो, मुझे आपका रस मेरी चूत में महसूस करना है, में बाद में आई-पिल ले लूँगी. फिर मैंने पीछे से उसके बूब्स पकड़े और अपनी स्पीड बढ़ा दी तो 5 मिनट के बाद मेरा पानी निकल गया और उधर दीपिका और वंदी दोनों का भी पानी निकल गया.

फिर वंदी ने अपने कपड़े पहने और दीपिका ने अपने कपड़े ठीक किए और बोली कि जीजू लगता है कल सुहागरात में तो दीदी की चूत का भोसड़ा बन जायेगा. फिर मैंने कहा कि तुम दोनों खुद ही देख लेना, तो वो दोनों बोली कैसे? तो मैंने कहा कि में रिकॉर्डिंग कर लूँगा. फिर हम तीनों साथ में बैठकर देखेंगे. फिर वो दोनों मान गयी और बोली कि बाय अब हम चलते है, सुहागरात बहुत मस्त रही मज़ा आ गया, अब हम ऐसी सुहागरात मनाते रहेंगे और ये कहकर वो दोनों चली गई.

Aug 15, 2016Desi Story

Content retrieved from: .

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *