दोस्त की बहन को पटाया

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम ज़ैद है, में दिल्ली का रहने वाला हूँ और में पेशे से एक फोटोग्राफर हूँ, उम्र 22 साल, हाईट 5 फुट 7 इंच, शानदार बॉडी है और लंड 6 इंच लम्बा और 2 इंच मोटा है. वैसे तो इस कहानी के पहले तक में वर्जिन ही था और हाथ से मुठ मार मारकर थक गया था. मैंने इस साईट पर काफ़ी स्टोरी पढ़ी है, जिससे मुझे भी चुदाई का हौसला मिला. मुझे छोटी लड़कियों को चोदने का बड़ा मन करता है, खासकर कि जिनकी उम्र 18 से 24 साल हो और पतली फिगर वाली लड़कियां तो कमाल की लगती है.

ये कहानी सोम्या नाम की लड़की की है और जब मैंने उसे चोदा था, तब उसकी उम्र 19 साल थी . ये कहानी 2 साल पुरानी है, सोम्या मेरे ही दोस्त की बहन है. 12वीं क्लास के बाद ग्रेजुयेशन के लिए जब मेरा दोस्त जयपुर गया तो उसे घरवालों ने नया फोन दिला दिया तो उसका पुराना फोन सोम्या के पास आ गया था. उसके पुराने फोन में मेरा नंबर सेव था, सोम्या मुझे जानती थी, क्योंकि में उसके घर आया जाया करता था और वो मेरी भी दोस्त थी. फिर एक दिन की बात है कि मुझे एक अंजान नंबर से मैसेज आया तो मैंने पूछा कि कौन? तो उसने बताया कि सोम्या. फिर ऐसे ही हमारी बात होने लगी, करीब एक हफ्ते के बाद उसने मुझसे पूछा कि आर यू वर्जिन? फिर मैंने कहा कि हाँ और तुम? तो उसने भी हाँ में जवाब दिया.

फिर तो हम फोन पर ही सेक्स के बारे में बात करते रहते थे कि चूत में उंगली करने से मज़ा आता है, मुठ कैसे मारते है? फिर फ़ेसबुक पर एक दूसरे को पॉर्न वीडियो लिंक सेंड करना चलता रहता था, अब हम एक दूसरे से काफी खुल चुके थे. फिर उसने मुझसे पूछा कि क्या तुम्हें लड़की चोदने का मन नहीं करता? फिर मैंने कहा कि एक बार मिल जाए तो चोद-चोदकर पलंग ही तोड़ दूँ, लेकिन लड़की कहाँ है?

फिर मैंने उससे पूछा कि यार में मुठ मारूँगा तो क्या तू मेरा नाम लेकर एक बार चिल्लायेगी प्लीज? बड़ा मज़ा आयेगा और थोड़ा मनाने पर वो मान गयी. फिर मैंने अपने लेपटॉप पर उसकी प्रोफाइल पिक्चर खोली और उसे सेक्सी आवाज़े निकालने को कहा. अब इधर मेरा लंड फूलकर फटने को हो गया था. फिर मैंने कहा कि मेरा नाम चिल्ला तेज़ और चाहें तो अपनी चूत भी रग़ड लो, माँ कसम उसने जो आवाज़े निकाली मेरा तो लंड मुठ मार-मारकर दर्द कर गया. फिर जैसे ही मेरा मुठ झड़ा तो मैंने उससे कहा कि लव यू जानेमन आज तक इतना मज़ा कभी मुठ मारने में नहीं आया. फिर उसने भी कहा कि मेरी चूत गीली हो गयी और हम ऐसे ही मुठ मार करते थे.

फिर एक दिन उसने मुझसे पूछा कि मेरी चूत बड़ी मचल रही है गाजर डालकर देख लूँ. फिर मैंने कहा कि मेरा लंड ले ले तो वो नहीं मानी और कहने लगी कि किसी को पता लग गया तो, नहीं बाबा मुझे चुदाई से बड़ा डर लगता है, मेरे लिए गाजर ही ठीक है. फिर मैंने सोचा कि 2 महीनों से इसकी चूत मारने को में गर्म कर रहा हूँ और मज़ा गाजर लेगी. फिर मैंने उसे बहुत समझाया कि चुदाई में बड़ा मज़ा आयेगा, लेकिन वो नहीं मानती थी और हर बार मना कर देती थी. फिर मैंने सोचा कि इसे चोदने का तगड़ा ही प्लान बनाना पड़ेगा, क्योंकि इतनी मेहनत से पकाई खिचड़ी कौन जाने देगा. फिर एक दिन मैंने स्कूल से छुट्टी मारी और उसे फोन किया कि आज हम दोस्त मूवी देखने के लिए जा रहे थे, लेकिन प्लान कैन्सिल हो गया और में अकेला हूँ, अब क्या करूँ? मुझे मालूम था कि उसके मम्मी, पापा दोनों जॉब करते है तो मैंने उससे कहा कि में तुम्हारे घर आ रहा हूँ तो उसने मना किया, लेकिन में नहीं माना और मेडिकल स्टोर से कंडोम का पैकेट और वाईन शॉप से बियर खरीद ली और उसके दरवाजे की डोर बेल बजा दी.

READ  रंगीली पड़ोसन

फिर मैंने सामने देखा तो मेरी आँखे फटी की फटी रह गई, अब 33-26-32 के फिगर वाली, गोरी सी, मस्त पतली, सोम्या खड़ी थी. फिर मैंने सोचा कि आज तो पलंग तोड़ दूँगा. फिर उसने मुझे अंदर बुलाया और वो पानी लेने चली गयी. फिर जब वो वापस आई तो वो स्कर्ट और टॉप में क़यामत लग रही थी, काले बाल, गुलाबी होंठ, मस्त गोल-गोल बूब्स में समा जाने वाली चूचियां, पतली कमर 26 की और गांड तो पूछो ही मत 32 की हवा में उछाल-उछाल कर चोदूं. अब उसके आते ही मैंने उससे कहा कि तुम्हारे लिए एक सर्प्राइज़ है. फिर उसने पूछा कि क्या? तो मैंने बताया कि तुम्हें बियर टेस्ट करनी थी तो इसलिए में लाया हूँ तो वो ख़ुशी से मेरे गले लग गयी, क्या बताऊँ दोस्तों जब उसकी चूचियां मेरी छाती से लगी? तो मेरा मन किया कि इसे यही चोद दूँ, लेकिन फिर हम बियर पीने लगे और मैंने सिगरेट जला ली, अब मैंने उसे इतनी पिला दी कि वो मस्त हो जाए.

फिर मैंने उसे अपने पास बुलाया और अपनी गोदी में बैठा दिया और उससे बोला कि प्लीज तेरी चूत फाड़ दूँ तो उसने हंसकर कहा कि में तुम्हारी तो हूँ जो मन में आए वो करो. बस इतना सुनते ही मेरे अंदर का जानवर जाग गया और मैंने उसका टॉप गले से फाड़ दिया और उसका टॉप फटकर लटक गया. अब वो डर सी गयी और कहने लगी कि में कही भागी थोड़ी जा रही हूँ.

फिर मैंने कहा कि जानेमन मेरा पहली बार है तो कंट्रोल नहीं हो रहा है, आज तो में तुझे पूरे दिन चोदूंगा और मैंने उसकी गर्दन पर किस करना स्टार्ट कर दिया तो अब वो आहें भरने लगी. फिर मैंने अपने मुँह में उसका कान लिया तो वो पागल सी हो गयी. फिर हमने हमारी लाईफ की पहली स्मूच की. फिर हमारे होंठ मिले, अब में उसके लोवर लिप को बड़े प्यार से चूसता रहा और अब में अपने हाथ से उसके गाल सहलाता रहा और अपना दूसरे हाथ से उसकी टी-शर्ट में से ब्रा के ऊपर से उसके निप्पल मसल रहा था.

फिर मैंने उसके मुँह में अपनी जीभ डाल दी और 5 मिनट चूसने के बाद मैंने उसकी बाकी की टी-शर्ट भी फाड़ दी और वो ऊपर से सिर्फ़ काली ब्रा और नीचे नीली स्कर्ट में थी. अब हम हॉल में थे तो मैंने उससे कहा कि बेडरूम में चलते है और उसे अपनी बाँहों में उठा लिया, यार वो इतनी हल्की थी कि मैंने पूछा तेरा वजन क्या है? तो उसने कहा कि 42 किलोग्राम है. फिर मैंने उससे कहा कि तुझे तो में उठा-उठाकर चोदूंगा और उसे अपने कंधे पर डालकर बेडरूम का दरवाज़ा खोला और उसे सीधा बेड पर फेंक दिया.

READ  दुनिया जिसे नाजायेज कहती हें

फिर मैंने भी अपनी स्कूल यूनिफॉर्म उतार दी और सिर्फ़ चड्डी में बेड पर चढ़ गया और वो सेक्सी सी स्माईल दे रही थी. फिर मैंने उसे अपनी बाँहों में खींचा और पीछे से हाथ डालकर उसकी ब्रा के हुक खोल दिए, जैसे ही ब्रा नीचे गिरी तो मैंने उसके बूब्स दबाने और चूसने शुरू कर दिए और चूसते-चूसते उसे लेटा दिया. अब उसका 32 साईज का एक पूरा बूब्स मेरे मुँह में था, अब मेरा मन कर रहा था कि इसे खा जाऊँ. फिर वो ज़ोर-ज़ोर से चिल्लाने लगी ज़ैद और चूसो, प्लीज दूसरे वाले को भी चूसो.

फिर मैंने उसकी स्कर्ट में हाथ डाल दिया तो वो एकदम से उछल गयी. फिर मैंने उसे खींचा और उसके मुँह पर उसके होंठो के पास एक जोर से किस दे दी तो वो चिल्ला पड़ी. फिर मैंने उसकी स्कर्ट उतार दी, अब वो सिर्फ़ पेंटी में थी और सफ़ेद चादर में गोरी सी अप्सरा मेरी बाँहों में थी. फिर मैंने अपने दातों से उसकी पेंटी उतारी और फेंक दी. फिर मैंने उसके पैरों को चूसना शुरू किया और उसकी दोनों जांघो को 10 मिनट तक चूसा, अब उसकी गुलाबी वर्जिन चूत मेरे सामने थी.

फिर मैंने पहली बार उसे छुआ तो उसकी सिसकी निकल गयी. फिर मैंने अपनी एक उंगली उसकी चूत में डाल दी तो वो कसमसा गयी और मैंने कहा कि अभी उंगली में इतना मचल रही है तो जब लंड लेगी तब क्या होगा? तो उसने कहा कि अपना वो तो दिखाओ तो मैंने पूछा कि वो क्या? तो उसने शरमाते हुए लंड कहा. फिर मैंने कहा कि लो खुद ही चड्डी उतार लो. फिर उसने जैसे ही मेरी चड्डी उतारी तो मेरा 6 इंच लम्बा लंड अब उसके सामने था.

फिर उसने कहा कि अरे बाप रे ये लंड तो मेरी छोटी सी चूत का बैंड बजा देगा, नहीं बाबा मुझे नहीं करनी चुदाई. फिर मैंने कहा कि अरे कुछ नहीं होगा और में आराम से करूँगा. फिर बहुत मनाने पर उसने मेरा लंड अपने हाथ में लिया और जैसे ही मेरे खड़े लंड पर उसके कोमल हाथों का स्पर्श हुआ तो में पागल हो गया. फिर उसने अपने दोनों हाथों से मेरी मुठी मारी. फिर मैंने उसे अपना लंड मुँह में लेने को कहा तो वो नखरे करने लगी. फिर मैंने ज़बरदस्ती अपना लंड उसके मुँह में डाल दिया. फिर थोड़ी देर में उसने भी अपनी जीभ हिलाई और मज़े से चूसने लगी. अब 5 मिनट के बाद मुझे लगा कि में झड़ने वाला हूँ तो मैंने उसके बाल पकड़े और मुँह में लगातार धक्के लगाने लगा.

फिर जैसे मेरा पानी निकला तो मेरी चीख निकली ओह बहनचोद मज़ा आ गया. फिर उसने एक लम्बी साँस ली और कहा कि भोसड़ी के तूने मेरी जान निकाल दी थी. फिर मैंने कहा कि डार्लिंग अब चूत चुसाई का मज़ा ले. फिर मैंने अपनी ज़ीभ से उसकी चूत को खूब चूसा. फिर वो अहह अहह और तेज़ चूसो अहह चिल्लाती रही. फिर मैंने उसकी चूत का सारा पानी पी लिया.

READ  दोस्त की मम्मी ने लंड पकड़ लियाBlojob Kiya

फिर उसने मुझे गले लगा लिया और कहा कि इतना मज़ा आएगा मैंने कभी नहीं सोचा था. फिर मैंने कहा कि असली मज़ा तो अभी बाकी है. फिर मैंने उससे कहा कि अपने हाथों से मेरा लंड सहला. फिर कुछ देर में मेरा लंड फिर से उसे चोदने के लिए तैयार हो गया. फिर मैंने अपने बैग से जब कंडोम का पैकेट निकाला तो उसने हंसकर कहा कि अच्छा तो मुझे चोदने की पहले से ही तैयारी है. फिर मैंने उससे कहा कि आजा रांड तेरा बैंड बजाऊँ. फिर मैंने कंडोम पहना और उसके ऊपर चढ़ गया.

फिर मैंने उसकी दोनों टाँगे चौड़ी की और अपने लंड को उसकी चूत की दरार पर रखा और रगड़ा तो वो सिसक उठी और बोली कि डाल भी दो, अब और ना तड़पाओ. फिर मैंने अपना लंड उसकी चूत पर सेट किया और उसकी टांगो को अपनी कमर पर लपेट लिया और एक हाथ से उसकी गर्दन पकड़ी और एक हाथ से लंड चूत पर सेट किया और एक धक्का दिया.

अभी मेरा सिर्फ़ आधा लंड ही अंदर गया था कि वो चिल्ला उठी हाइई दर्द हो रहा है प्लीज निकालो, लेकिन मैंने उसकी एक नहीं सुनी और जोर से उसे पकड़ा और अपना लंड घुसाता रहा. फिर जब मेरा लंड 4 इंच घुस गया तो वो रोने लगी, प्लीज मुझे जाने दो, में नहीं ले पाऊँगी, प्लीज मुझे छोड़ दो. फिर मैंने अपना लास्ट झटका दिया और उसकी चीख निकल गयी, अब उसकी सील टूट चुकी थी और अब वो अपने नाख़ून मेरी पीठ पर चुभा रही थी. फिर मैंने अपना लंड झटके से बाहर निकाल कर पूरी जान से वापस अंदर डाला तो वो चीख पड़ी.

फिर मैंने धीरे-धीरे उसे चोदना शुरू किया तो 2 मिनट के बाद उसे भी मज़ा आने लगा, अब वो भी नीचे से अपनी गांड हिलाने लगी और अहहा अहहह करने लगी. फिर थोड़ी देर वैसे मारने के बाद मैंने उसे घोड़ी बनाया और पीछे से उसकी चूत मारी और आगे झुककर उसके बूब्स भी मसले. अब वो भी मेरे झटको का जवाब अपनी गांड पीछे कर-करकर दे रही थी.

फिर मैंने उसे गोद में उठा लिया और हवा में उछाल कर चोदने लगा. फिर थोड़ी देर तक ऐसे चोदने के बाद मैंने उसे बेड पर लेटाया और सूपर फास्ट धक्के लगाने चालू कर दिए. अब वो तो पागल ही हो गयी थी और तेज़ अहहहह अहह उम्म्म्मम और तेज़ और अंदर तक डालो, फाड़ दो मेरी चूत बना दो इसका भोसड़ा मेरे राजा, चोदो और चोदो, मुझे क्या मालूम था कि इतना मज़ा आयेगा? नहीं तो कब से चुद रही होती. अब इधर मेरी स्पीड अपनी लास्ट स्टेज पर थी, बस फिर मैंने एक धक्का मारा और मेरा फव्वारा छूट गया, उसकी चूत ने भी मेरे साथ ही पानी छोड़ दिया. फिर हम दोनों 20 मिनट तक एक दूसरे के ऊपर पर पड़े रहे.

फिर मैंने उसे दुबारा चोदा और उस दिन उसे मैंने 5 बार चोदा. फिर बाद में हमने सेक्स को मजेदार बनाने के लिए सोचा कि वो स्कूल गर्ल और में टीचर, वो स्कूल यूनिफॉर्म में है या हम ऐसे बर्ताव करते है जैसे देवर भाभी या फिर नौकर नौकरानी. ऐसे खेलों में और मज़ा आता है.

Aug 15, 2016Desi Story

Content retrieved from: .

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *