HomeSex Story

दोस्त की बहन चोदी

Like Tweet Pin it Share Share Email

कनिका गौरव की छोटी बहन थी और मेरे से काफी घुली मिली थी क्यूंकि मैं अक्सर उसके छोटे मोटे काम निपटा दिया करता था और जब से गौरव का आई आई टी  में  एडमिशन हुआ था तो मैं ही कनिका का ख़ास भाई बना हुआ था, कनिका अब कॉलेज के सेकंड इयर में थी और उसके अरमान उछल उछल कर बाहर आने लगे थे. एक दिन उसने मुझसे कहा “भैया वैलेंटाइन डे की पार्टी है मेरे दोस्त के फार्म हाउस पर और माँ पापा जाने नहीं देंगे आप साथ चलोगे तो शायद जाने दें”. मैंने अंकल आंटी कजो विश्वास दिलाया तो उन्होंने हाँ कर दी लेकिन शाम को जल्दी आने के स्ट्रिक्ट इंस्ट्रक्शन भी दे ही दिए, मैं कनिका को ले कर उसके दोस्त के फार्म हाउस पर चला गया तो देखा कि वैलेंटाइन डे पार्टी के नाम पर वहां रेव पार्टी चल रही थी और कनिका नए जाते ही अपने दोस्त राहुल से जॉइंट छीन कर पफ मारना शुरू कर दिया.

 

मैं कनिका को साइड में ले गया तो उसने कहा “भैया ये सिंगल्स पार्टी है और यहाँ तो लोग मिन्गले होने के लिए ही आते हैं ना” मैंने उसे समझाया लेकिन तब तक उसके दोस्त ने हमें टकीला नॉक आउट के लिए खींच लिया मैं देख कर हैरान था की कनिका अकेली पांच पांच टकीला गटक गयी. हमने काफी देर तक डांस किया और फिर जब मैं और कनिका अकेले साइड में बैठ कर सिगरेट पी रहे थे तो मैंने पूछा “कनिका तू इतनी सुन्दर है तुझे तो कोई भी मिल जायेगा फिर तू ऐसी पार्टी में क्यूँ आई” तो उसने कहा “तुम्हारे लिए आई हूँ और तुम्हे यहाँ लाने का बहाना था वरना मम्मी पापा को तो वैसे ही गोली दे के यहाँ आ जाती अकेले”. मैं भौंचक्का रह गया आखिर कनिका मुझे क्यूँ लाना चाहती थी इस पार्टी में, मेरे इस सवाल का जवाब कनिका के सॉफ्ट और गुलाबी होठों ने मेरे होठों पर दे दिया.

मैंने उसको एक चांटा मारा तो वो हंसी और बोली “मुझेतुमसे यही उम्मीद थी लेकिन सोचो अगर तुमने मुझे ना की तो यहाँ कितने होंगे जो मेरे साथ ये सब करना चाहेंगे” मैंने चरों ओर देखा तो मुझे भी लगा की इन चूतियों की जगह अगर मैं रहूँगा तो शायद लड़की ठीक रहेगी. मैंने कनिका को साइड में ले जा कर उसे गले लगा लिया तो उसने ज़ोर से हंसकर कहा “प्यार कर रहे हो क्या, तो मत ही करो. कुछ ऐसा करो जिस से मेरा और तुम्हारा वैलेंटाइन डे सफल हो जाए”. मैंने उसकी ढिठाई देखि और गुस्से में उसे ले जा कर वहीँ फार्म हाउस के एक बेडरूम में पटक दिया और कुण्डी लगा ली तो कनिका नए कहा “ये हुई ना कुछ मर्द वाली बात, नहीं तो मैं तो तुम्हे गे ही समझ लेती”. कनिका के व्यंग्य बाण मेरे दिल को चीरे जा रहे थे सो मैंने गुस्से में जैसे ही अपनी टी शर्ट उतारी वो मेरे सीने से लग गयी और मेरे बलिष्ठ शरीर को चूम चूम कर कहने लगी “इस बॉडी पर तो मैं स्कूल टाइम से मरती हूँ, काश तुमने मुझे ये पहले दे दी होती” और इतना कह कर उसने मेरे शरीर को किसी भूखी रंडी की तरह चूमना शुरू कर दिया जिस से मैं अपने हवास खोने लगा था.

READ  प्रोफेसर से चुदाई

कनिका चूमते हुए जब मेरे लंड तक पहुंची तो मेरे लंड घबराया हुआ ज़रूर था पर खड़ा था और कनिका को झेलने के लिए रेडी था, कनिका ने मुस्कुराते हुए मेरी जीन्स के ऊपर से ही मेरे लंड को चूमना और चाटना शुरू कर दिया जिस से मेरी हालत खराब हो चली थी, मैंने भी जोश में आ कर उसका टॉप और ब्रा उतारी तो मेरे सामने उसके मखमली गोर चित्ते चुचे नाच रहे थे जिन्हें कनिका ने मुझे रिझाने के लिए थोडा हिलाया तो मेरी आँखों में भी हवस जाग उठी. कनिका नए मेरी पेंट खोली और पिल पड़ी मेरे लंड पर वो मेरा लंड चूसते हुए बोले जा रही थी “इतने सालों से मैं वेट कर रही थी तुम आगे हो कर मुझे दोगे लेकिन आज मुझे ही माँगना पड़ा तुमसे इसे, तुम्हे पता है इस प्यार के इंतज़ार में मैंने कितनों को मना किया है”.

कनिका फुल नशे में थी और जैसे ही उसने मेरे लंड को अंडर वियर से आज़ाद किया उसकी आँखें फटी की फटी रह गईं और वो बोली “ओ एम् जी, इस दिस अ डिक ओर व्हाट” मैं मुस्कुराया और मैंने उसके अरमान पूरे करने के लिए उसके मुंह में मेरा नौ इंच लम्बा लंड पेल दिया जो सीधे उसके गले में लगा होगा क्यूंकि उसकी आवाज़ रुंध गयी थी. मैं उसके मुंह में अपना लंड डाल कर अन्दर बाहर करने लगा वो छूट कर दूर हुई तो मैंने उसके बाल पकड़ कर उसके एक चांटा लगा कर अपने लंड को वहीँ सेट रखा, कनिका की आँखों से आंसू निकल रहे थे और मैं उसके मुंह को चोदे जा रहा था. आखिर मुझे उस पर दया आई और मैंने उसके मुंह से लंड निकाल ही लिया लेकिन फिर उसे पलंग पर पटका और उसकी जीन्स और पैंटी खोल कर मैंने उसकी हलके बालों वाली जवान चूत को बिना किसी लाग लपेट के बिना सहलाए या प्यार किये बस झट से अपना लंड उसकी चूत में घुसा दिया.

READ  दुनिया जिसे नाजायेज कहती हें

कनिका चीख पड़ी क्यूंकि उसकी चूत अच्छे से गीली नहीं हुई थी पर मेरा लंड उसके थूक से अच्छा गीला हो गया था और बड़ी ही आसानी से मेरा लंड उसकी चूत में पैवस्त हो गया, कनिका चीखें मार रही थी और मैं हंस हंस कर उसको छोड़ रहा था. साली के सारे अरमा जो पूरे करने थे, धक्के बराबर लगते रहे और उसकी चीखें भी लेकिन भार चल रहे ट्रांस म्यूजिक के शोर में किसी को हवा तक नहीं लगी. अब कनिका की चूत थोडा थोडा रिसने लगी थी जिस से चुदाई रवां हो गयी और कनिका की चीखें सिस्कारियों में बदल गयी, मैंने उसे  मिशनरी में चोदना छोड़ कर उसकी टांगों को हवा में उठाया और उसे कमर हिलाने को कहा तो उसने वैसे ही किया, अब कनिका मचाक मचाक कर चुद रही थी और मैं पूरी ताकत से उसे पेल रहा था. कनिका नए एक हलकी चीख मारी और उसकी चूत नए जवाब दे दिया था लेकिन मैंने हार नहीं मानी और उसकी एक टांग नीचे रख कर मैंने उसे बेड के क्किनारे तक खींचा और उसकी संकरी चूत में फिर से लंड पेल कर चुदाई मचनी शुरू कर दी.

कनिका हाय हाय करे जा रही थी और मुझे उस पर रहम नहीं आ रहा था क्यूंकि मैं उसकी चुदाई की प्यास बुझा ही देना चाहता था ताकि मेरे दोस्त के परिवार की आगे बदनामी ना हो, वो एक और बार झड़ गयी और बोली “प्लीज़ भैया अब छोड़ दो ना अब नहीं करना और” तो मैंने कहा “मेरी प्यारी बहना रानी अभी तो खेल शुरू किया है मैंने और उसकी गांड पर एक ज़बरदस्त चांटा लगा कर मैंने कनिका को पलट कर घोड़ी बना दिया और फिर से उसे गांड हिलाने को कहा. कनिका मारे दर्द के पिलपिली हो गयी थी लेकिन अब अगर मना करती तो ना जाने क्या होता सोच कर वो चुप चाप चुदती रही, मैं उसे घोड़ी बना कर चोदने के साथ ही उसके चुचे मसल रहा था जो अब तक लाल हो चुके थे और उसकी गांड पर रह रह कर चांटे मार रहा था जिस पर लग भग नील जैसे निशाँ आ गए थे.कनिका फिर गिडगिडाई और बोली “भैया प्लीज़ थोड़ी देर रुक जाओ ना मेरी चूत फट जाएगी, मैं मर जाउंगी ऊऊह्ह्ह माँ” मैंने कहा “बहना रानी ये तुझे मेरे हैवान को जगाने से पहले सोचना चाहिए था”.

अब कनिका वाकई रोने लगी थी क्यूंकि उसकी चूत में से खून का फव्वरा सा फट पडा था जो मैंने अपनी ऊँगली पर के कर उसे दिखाया और वो ज़ोर ज़ोर से रोने लगी, मैंने अब बस करने का सोचा और उसे सीधा लिटाकर मुठ मारने लगा करीब दो मिनट बाद मेरे लंड से ढेर सारा वीर्य निकल कर कनिका के चूचों चेहरे और नाभि पर गिर गया, वो निढाल पड़ी थी और रोते रोते गहरी साँसें भर रही थी. आधा घंटा वो वहीँ सोयी रही और मैं बाहर पार्टी में और दारु पीता रहा, कनिका के दोस्तों नए पूछा तो मैंने बताया उसे चढ़ गयी है वो सो रही है, फिर मैं दारू ले कर अन्दर गया कनिका को उठाया उसे कुछ खिलाया और वापस वोडका पिला कर एक दफे और उसी अंदाज़ में चोदा. शाम को उसे नार्मल कर के पैन किलर वगेरह खिला कर उसका हुलिया ठीक कर के मैंने उसके घर छोड़ा तो तीन चार दिन तक वो बाहर नहीं निकली क्यूंकि उसकी चूत और टांगों में दर्द था और जब निकली तो सीधे मेरे फ्लैट पर आई और इस बलाकी चुदी जो आज तक चुद रही है, अगले महीने उसका ब्याह है और वो चाहती है की उसकी शादी के बाद भी वो मेरे लंड की दासी बनी रहे.

Aug 19, 2016Desi Story
READ  ससुर जी ने सासु माँ समझ के मुझे चोद दिया

Content retrieved from: .

Related posts:

पापा के दोस्त संग माँ का लाइव सेक्स
मैं अकेली और चोदने बाले तीन जम कर चोदा तीनो लड़को ने
ऑटो में मिली एक मस्त आंटी की चुदाई
नई बॉस की गर्मी मिटाई
मौसी की लड़की की सिल तोड़ चुदाई
ज्योति की ज्वाला और मेरे लंड का उबाला
अपने प्यार को बारिश में चोदा
गर्लफ्रेंड को चोदा उसकी बहन की शादी में
पड़ोस वाली सरिता रंडी का गेम
पड़ोसी की बेटी की चुदाई
भाभी की सीक्रेट सेक्स की इच्छा
अंजली की दूसरी सुहागरात
पति ने अपनी बीवी को मुझसे चुदवाया
मामी की गदराई जवानी को लूटा
पड़ोस की लविंग भाभी
लुधियाना बस स्टेंड पर मिली सेक्सी लड़की
चॉकलेट लगा कर चूत चाटी
सुहानी सुहागरात भाबी के संग
चूत चाट कर चुदाई की बहन की
भाबी के मस्त बुर - Desi Sex KhaniyaDesi Sex Khaniya
लंदन में इंडियन रंडी की चूत मारी
सब बूढ़े मिलकर मेरी भोसड़ी फाड़ दी
दोस्ती में हो गयी चूत की और लंड की मस्ती
बुंदेलखंड की औरतें - Desi Sex KhaniyaDesi Sex Khaniya
जितनी जगह बची थी सब पे लंड घुसा दिया
मेरी दहकती चूत - Desi Sex KhaniyaDesi Sex Khaniya
बड़ी बहन किरण की चुदाई
Mom Ne Help Kiya Chudai Ke Liye - Part iv
बीवी ने भिखारी के लोड़े के साथ मजा किया
देवर और उनके दोस्तों ने मिलकर खूब चोदा – मेरी मेक्सी और ब्रा और पेंटी को उतारकर मुझे नंगा कर दिया

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *