HomeSex Story

पुरानी क्लासमेट की चुदाई

Like Tweet Pin it Share Share Email

हेलो, दिस इस विनय. कैसे हो आप सब? क्या हाल है आपकी चूत के और लंड के. मैं उतराखंड से हु. मुझे मैरिड लेडी यानी भाभी और आंटी को चोदने में मज़ा आता है. मेरी आप की तरह बहुत सारी भाभी और आंटी दोस्त है. जिनके बदन को मैंने मसला, चूमा और उनकी चूत को चूसा और मस्त चोदा. उन्होंने मेरे साथ बिस्तर में खूब मज़े किये है और अपने शरीर की आग को शांत किया है. मुझे चूत को रगड़ना, मसलना और चुसना बहुत पसंद है और उनको अपने लंड से लम्बे समय तक चोदना बहुत पसंद है. अब मैं आपको ज्यादा बोर ना करते हुए, सीधे स्टोरी पर आता हु. मैं एक २६ साल का लड़का हु और एवरेज लूकिंग हु. मैंने मेरे लंड का साइज़ तो कभी नापा नहीं, पर इतना है कि मेरे लंड ने किसी भी भाभी को अधुरा नहीं छोड़ा और जिस भी भाभी या आंटी ने ने लंड का पूरा मज़ा लिया, उसने मेरे लंड को खूब प्यार किया. ये स्टोरी मेरी क्लास में पढने वाली एक लड़की है. जिसका नाम सपना था और उसका फिगर ३६-२८-३० था. उसके मोटे- मोटे बूब्स, पतली कमर गोल- गोल चुतड.. हाँ कोई भी देखे तो लंड खड़ा हो जाए. हम एक दुसरे को स्कूल टाइम में पसंद करते थे. लेकिन, बात कभी नहीं कर पाते थे.

कुछ टाइम पहले, हम एक दुसरे से अचानक से मिले और अपने नंबर एक्सचेंज किये. धीरे- धीरे बात करते- करते, एकदिन पता चला कि उसका पति उसको चोदता नहीं है. और वो रोने लगी, कि मैं क्या करू? मुझे सेक्स करना है बट मेरा पति तो कुछ करता ही नहीं है. तो मैंने उससे कहा – मैं करू? तो वो कहने लगी.. नहीं यार. वी आर फ्रेंड. मैं अपने पति से बहुत प्यार करती हु. मैं ऐसा नहीं कर सकती. मैंने उसे समझाया, कि अगर तुम सेक्स करना चाहती हो और तुम्हारा पति सेक्स नहीं करना चाहता है. तो तुम्हे किसी और के साथ सेक्स करना चाहिए. इस पर वो गुस्सा हो गयी और कहने लगी, मैं आपको रंडी लगती हु. जो किसी के साथ भी सेक्स कर लू. मैंने फिर से उसे समझाया और सॉरी कहा. कुछ टाइम बाद, हमने बाहर घुमने का प्लान बनाया. हम बाहर घुमने गये. तो सपना बोली, यार मैं थक गयी हु. सिर में दर्द हो रहा है. मैंने एक रूम रेंट पर लिया और उसे मेडिसिन देके सुला दिया. अब मैं अकेले बोर हो रहा था.. तो मैं भी सो गया उसके साथ. कुछ टाइम बाद, मुझे लगा कि वो अपनी गांड जानबूझकर मेरे लंड के पास कर रही थी.

READ  बहन की चुदाई नंगा करके

मैं भी अपना लंड बाहर निकालकर सो गया और बाद में देखा, कि मेरे लंड को आराम से हाथ में लेकर हिला रही थी. मैं नीद का बहाना करके लेट गया और अब लंड ऊपर की तरफ हो गया. सपना खुश हो गयी और उसने अपना मुह मेरे लंड के पास लायी और मेरा लंड चूसने लगी. मैं तो जन्नत के मज़े लिए जा रहा था. मैंने उसे किस करना चाहा. हम दोनों सेक्स में एकदम पागल हो गये. मैंने उसका सूट और पजामा निकाल दिया और उसने ब्रा और पेंटी नहीं पहनी हुई थी. उसकी चूत एकदम साफ़ दी. पुरे शरीर में वेक्स करवा रखी थी. उसके ३६ के बूब्स मुह में लेकर चूसने लगा. कुछ देर बूब्स चूसने के बाद, मैं उसकी चूत की ओर बढ़ा. तो वो कहने लगी, कि पहले मुझे लंड को चूस लेने दो. फिर तुम आराम से चूत को चुसना और चोदना. वो मेरे कपड़े उतारने लगी और मेरा लंड चूसने लगी. मुझे बहुत मज़ा आ रहा था. कुछ देर बाद, मेरा निकलने लगा था, तो मैं उसे नीचे गिरा दिया. तब सपना बोली – मुझे लंड चुसना था.. आज मैं खुश हो गयी हु कि मैंने लंडपान कर लिया.

अब वो नीचे लेट गयी और अपनी लेग चौड़ी कर ली. मैंने उसे देखा तो खुश हो गया. क्योंकि वो ज्यादा चुदी नहीं थी. मैं सपना की चूत चाटने लगा और अब वो मोअन करने लगी. हाँ जानू चाटो…. चाटो और जोर से चाटो… मज़ा आ रहा है. चाटते रहो.. अहहहः म्मम्मम्म. इस तरह वो खूब मज़े लेने लगी. अहहः अहहः हाहाहाहा म्मम्मम ऊऊऊम्म्म्म ईईईईईइ कमीने अन्दर तक.. ओहोहोहो माँआआआअ… और फिर वो झड़ गयी. अब मैं उसे चोदना चाहता था. बट मेरे पास कंडोम नहीं था. मैंने उसे कहा – एक मिनट रुको. मैं कंडोम लेकर आता हु. फिर तुझे आराम से जी भरके चोदुंगा. वो कहने लगी – कंडोम मेरे पास है. मैंने अपनी फ्रेंड से लिया था और मेरा पहले से प्लान था, कि आज मुझे किसी भी तरह से चुदना है. मैंने उसके पर्स से कंडोम निकाला और मैंने कंडोम अपने लंड पर चड़ा लिया. वो मुझे किस करते हुए बोली – मेरे साजन, अपनी शबनम को ऐसे चोदना, कि प्यास बुझ जाए. मैंने आराम से सपना की टांगो को चौड़ा किया और लंड को आराम से अन्दर डालने लगा.

READ  लखनऊ के नवाब जैसा ठाट

सपना बोली – नहीं यार, आज चुदना नहीं है चूत को फाड़ना है. इसलिए आराम से नहीं… तेजी से लंड को अन्दर डालो. मैंने एक जोरसे तेज झटके में पूरा लंड उसकी चूत में पेल दिया. सपना चिल्ला उठी. हाँ जानू, ऐसे ही आआहहहहह ऊऊह्ह्ह्ह ह्ह्हह्ह्ह्ह मज़ाआआ आआअ गयाआआआ. इस तरह से मैं उसे खूब देर तक अलग- अलग पोजीशन में चोदता रहा. सपना नीचे से अहहहह्हाहा अहहहहः ऊऊईईइ सिसिसिसिसिसी… कमीने आराम से चोद… हहहः ह्ह्ह्हह्ह मार… जोर से मार. उसके नाख़ून मेरी पीठ में गड़े हुए थे और मेरी गांड की तेजी मेरे लंड को अन्दर तक ठेल रही थी. अब उसके मुह से निकल रहा था ….मार डाला रे… हाई रे… मेरी चूत फाड़ डाली…कमीने… जोर से फाड़… और जोर से … अहहहः.. आराम से कर साले… फिर कुछ टाइम बाद, हम दोनों का निकल गया.

फिर मैं आराम से उसके ऊपर से उठा. हम दोनों इतने खुश हुए, कि हम दोनों वहीँ पर नंगे सो गये.

Aug 28, 2016Desi Story

Content retrieved from: .

Related posts:

शादी के पांचवे दिन तक इंतज़ार की पति के लण्ड खड़ा होने फिर हुई वेवफा
दो सेक्सी डॉक्टर्स की चूत चुदाई
मेरे दोस्त की कजिन्टर
अपना वीर्य आंटी को चटाया हेलो दोस्तों.. मेरा नाम नि...
बीवी के साथ हनिमून Horny Wife in Red Bra Sex
भाईयों और बहनों का ग्रुप सेक्स
कोठे वाली के साथ सेक्स का अनुभव
दोस्त ने मेरी माँ को ज़बरदस्ती चोदा
नैना की सील तोड़ी बड़े प्यार से
मेरे दोस्त की सेक्सी माँ मनीषा
Marathi Brother Sister Sex Story
भाभी की चुदाई - Desi Sex KhaniyaDesi Sex Khaniya
मेरी मौसी की चुदाई - Desi Sex KhaniyaDesi Sex Khaniya
मेरी प्यारी बुर रानी सीमा आंटी
माँ और बहन की चुदाई
सर्दी में गरमा गरम देवर का लंड
मेरी पहली बीवी बनी मामी
जब मैने अपनी सास की चुदाई की
रोक न सका फिल्म हाल में चुद गयी
दो बुर की प्यास बुझाई मेरी लंड ने
गरम पड़ोसन की नरम चूत खुन से धुल गई
चुदाई की क्लास ली बहन की
चुदाई की क्लास ली बहन की
वोह थी सिला,सिला का चूत मिला
पत्नियों की अदला बदली - Desi Sex KhaniyaDesi Sex Khaniya
My Horny Bhabhi – 1
A Sex Relation Between Tenant And Landlord
Pyar Ka Parwan Chadha | Sex Story Lovers
Diwali Ke Patakhe Meri Gand Mein-दीवाली के पटाखे मेरी गांड में
कुवारी चूत की चुदाई करी ऑफिस मैं और मुठ पिलाया indian sex stories

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *