HomeSex Story

पड़ोस वाली सरिता रंडी का गेम

Like Tweet Pin it Share Share Email

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम सुधीर है और में जलगावं का रहने वाला हूँ. दोस्तों में आज आप सभी के सामने अपने साथ घटी हुई एक सच्ची घटना बताना चाहता हूँ, में उस समय अपने कॉलेज के दूसरे साल में था और में अपने मोबाईल पर सेक्सी फोटो, फिल्मे देखने लगा था, लेकिन में सिर्फ़ उन्हें देखने से ही खुश नहीं होता था, मुझे वो सब काम किसी के साथ करना भी था तो इसलिए मैंने मेरे दोस्तों से इस बारे में बात की, क्योंकि मेरे सभी दोस्तों ने पहले से ही सेक्स किया हुआ था और उनमें से बस में ही वर्जिन था, लेकिन फिर उन्होंने मुझे एक रास्ता बताया. उन्होंने मुझसे कहा कि मुझे मेरे घर के पास में रहने वाली सरिता आंटी के साथ कुछ करना चाहिए, क्योंकि उनके पति की कुछ सालों पहले म्रत्यु हो चुकी थी. उनका एक बच्चा भी था, जिसका नाम गोलू था और उसकी उम्र करीब पांच साल थी, वो अभी स्कूल में पढ़ रहा था और वो पैसे लेकर भी किसी को भी अपने साथ सेक्स करने देती थी. मैंने यह बात भी बाहर के कुछ लोगों से सुनी थी और मुझे मेरे दोस्तों ने भी थोड़ा उनके बारे में बताया था.

दोस्तों मुझे अब अपने दोस्तों की कही हुई सभी बातें एकदम सही लगी, क्योंकि मुझे अपने लंड को किसी की भी चूत में डालकर शांत करना था और सरिता आंटी को अपनी चूत में किसी का भी लंड लेकर अपनी चूत की प्यास मिटानी थी और वैसे वो एक बच्चा होने के बाद भी दिखने में बहुत हॉट, सेक्सी थी, उनका कलर एकदम गोरा था और उनके फिगर का साईज़ करीब 36-26-38 था और अब में मन ही मन उनको चोदने की बात सोचकर उनके जिस्म को कई बार मन ही मन सोचकर मुठ मार चुका था. फिर एक बार जब में उनके घर पर उनके हालचाल पूछने अचानक से चला गया और फिर मैंने दरवाजा खटखटाया.

फिर उन्होंने अंदर से आवाज देकर पूछा कि कौन है? मैंने कहा कि आंटी में हूँ तो उन्होंने मेरी आवाज पहचानकर दरवाजा खोल दिया और जैसे ही मैंने उनको उस हालत में देखा तो में बस उन्हें देखता ही रह गया, क्योंकि वो शायद उस समय सीधा बाथरूम से नहाकर बाहर आई थी और उन्होंने उस समय ब्लाउज और पेटीकोट पहना हुआ था, जिसमें से उनका आधा बदन मेरी आखों के सामने पूरा नंगा था और जो बाकि बचा हुआ था और वो उनके पानी से भीगे हुए कपड़ो की वजह से अपना सही सही आकार बाहर से ही मुझे दिखा रहा था. उनके वो बड़े बड़े बूब्स उस भीगे हुए ब्लाउज से बाहर निकलकर मुझे उनकी तरफ आकर्षित कर रहे थे और अब उन्हें अपने सामने इस तरह देखते ही मेरा लंड तनकर खड़ा हो गया था और में लगातार उनके गदराए हुए बदन को देखे जा रहा था और अपने लंड को सहला रहा था.

फिर वो मुझसे बोली कि क्या हुआ बेटा? में बोला कि कुछ नहीं आंटी में तो बस ऐसे ही आपको देखने चला आया था. फिर उन्होंने मुझसे बैठने को बोला और अंदर से मेरे लिए पानी लेकर आ गई, लेकिन अब भी मेरा पूरा पूरा ध्यान उनके बूब्स पर था और जब वो मुझे पानी देने के लिए ठीक मेरे सामने आकर थोड़ा झुकी तो मैंने उनके बूब्स के दर्शन कर लिये और जब उन्हें यह महसूस हुआ तो वो झटके से खड़ी हो गई और सीधी किचन में चली गई.

दोस्तों मुझे तो अब कैसे भी करके अब उनकी चूत मारनी ही थी, क्योंकि उनके बूब्स ने मेरी आग को और भी भड़का दिया था, लेकिन मेरे कुछ समझ नहीं आ रहा था कि में कैसे बात करूँ? में उस दिन कुछ देर उनसे इधर उधर की बातें करके अपने घर पर चला आया और उनको सोचकर मुठ मारने लगा और उनका वो सेक्सी जिस्म मेरे दिमाग में पूरी तरह से बस चुका था, में दिन रात अब उनको ही सोचने लगा. एक दिन सरिता आंटी मेरे घर पर आई और फिर वो मुझसे बोली कि क्या तुम मेरे बेटे को ट्यूशन पढ़ा दोगे? क्योंकि वो अपनी पढ़ाई में बहुत कमज़ोर है और मेरी कोई भी बात वो नहीं सुनता, क्या तुम मेरे लिए अपना समय निकालकर इतना कर सकते हो? दोस्तों मुझे तो पहले से ही वहां पर जाने का कोई अच्छा सा बहाना चाहिए था और अब आंटी को खुद भगवान ने मेरे पास अपनी चुदाई का निमत्रंण देने भेज दिया था. फिर मैंने उनके कहते ही तुरंत हाँ बोल दिया, में मन ही मन बहुत खुश था और आज से मुझे अपना उनकी चुदाई का सपना पूरा होता हुआ नजर आ रहा था.

READ  साली चुद गई और उसे पता भी नहीं चला!

फिर मैंने उसी दिन से उनके घर पर जाकर उनके बेटे को पढ़ाना शुरू कर दिया और फिर उसी दिन मैंने सुना कि कभी कभी सरिता आंटी को उनके अपने ग्राहकों के फोन आते थे और सरिता उनसे पैसे और जगह के बारे में पूछकर हाँ में आ जाउंगी बोलती और फिर वो फोन कटकर देती थी. अब में हर रोज रात को सेक्स फिल्म देखता था और सरिता को सोचकर अपना लंड हिलाता था और सो जाता था. एक दिन बच्चे की पढ़ाई ख़त्म होने के बाद मैंने सरिता से पूछा कि क्या आप मुझसे अकेले में मिलोगी? वो बोली क्यों?

फिर मैंने कहा कि मैंने अब तक कभी भी सेक्स नहीं किया है और मेरे मुहं से इतना सुनते ही वो मुझ पर बहुत गुस्सा करने लगी और वो मुझसे कहने लगी कि तुम मेरे बारे में ऐसा सोच भी कैसे सकते हो? में तुम्हे अपने बेटे जैसा मानती हूँ और तुम मेरे लिए ऐसी सोच रखते हो? अब में उनकी सभी बातें सुनकर बहुत शर्मिंदा हुआ और फिर में अपने घर पर चला आया. अब मुझे चार पांच दिन हो गये थे और में उनके घर पर ट्यूशन के लिए नहीं गया तो एक दिन सरिता आंटी मेरे घर पर आई, में उन्हें देखकर बहुत डर गया था और में मन ही मन सोचने लगा कि कहीं यह मेरे घर पर कुछ बता ना दे.

फिर थोड़ी देर बाद वो मेरे पास आई और मुझसे बोली कि तुम बच्चे को ट्यूशन पढ़ाने क्यों नहीं आ रहे हो? अब में नीचे देख रहा था और वो मेरी तरफ तो मैंने उनसे कहा कि ठीक है में कल से आ जाऊंगा. फिर अगले दिन शाम को में उनके घर पर बच्चे को पढ़ाने चला गया तो मुझे अब भी बहुत डर लग रहा था. मैंने दरवाजा खटखटाया और सरिता आंटी ने दरवाजा खोला. फिर मैंने देखा कि उन्होंने उस समय ब्लाउज और पेटीकोट पहना हुआ था और अपनी नजर नीचे करके मैंने उनसे पूछा कि गोलू किधर है? फिर सरिता आंटी मुझसे बोली कि वो अभी कुछ देर में आ जाएगा, क्या में तुम्हारे लिए पानी लेकर आऊ? फिर मैंने अपना सर हिलाकर उनसे हाँ कहा, वो किचन में जाकर मेरे लिए पानी लेकर आ गई और फिर मेरे सामने झुककर मुझे पानी देने लगी, लेकिन में अब भी नीचे की तरफ देख रहा था. फिर सरिता आंटी मुझसे बोली कि क्यों आज देखोगे नहीं?

दोस्तों में उनके मुहं से यह शब्द सुनकर एकदम चकित था. फिर मैंने धीरे से सर ऊपर करके देखा कि आंटी मेरी तरफ मंद मंद मुस्कुरा रही थी और आज वो मुझे उनके बूब्स दिखना चाहती थी, वो सब मुझे उनकी आखों से पता चल रहा था और मुझे आज उनकी हरकते भी कुछ अजीब लगने लगी थी. तभी वो मुझसे मुस्कुराकर बोली कि क्यों दूध पिओगे? फिर मैंने बोला कि नहीं आंटी में अभी अपने घर से चाय पीकर आया हूँ. फिर वो बोली कि में तो दूसरे वाले दूध के बारे में बोल रही हूँ तो में उनकी यह बात सुनकर थोड़ा सा शरमाया. फिर वो मुझसे बोली कि अब क्यों शरमा रहे हो? तुम उस दिन तो मुझे बहुत निडरता और जोश दिखा रहे थे, क्यों आज ऐसा क्या हो गया?

फिर मैंने भी शरमाना छोड़कर उन्हें हाँ बोल दिया, वो मुझे अपने बेडरूम में ले गई और मुझे तुम यहीं पर रूको कहकर बाहर चली गई और थोड़ी देर बाद जब वो आई तो मैंने देखा कि वो पूरी नंगी थी और जब वो मेरी तरफ़ आ रही थी तो उनके बड़े बड़े बूब्स हिल रहे थे. फिर वो मेरे पास आकर बेड पर बैठी और मुझसे बोली कि क्या अब पिओगे मेरा दूध? मेरा लंड अब उन्हें पूरा नंगा देखकर एकदम टाईट हो गया था.

READ  सेक्स स्टोरीज पढ़ कर अपनी चुत किरायेदार से चुदवा ली

मैंने सबसे पहले उनके होंठो पर किस किया और फिर कुछ देर बाद धीरे धीरे नीचे आते हुए उनके बूब्स दबाने, मसलने लगा और वो आहह आईईईइ उफ्फ्फफ्फ्फ़ करके सिसक रही थी. फिर मैंने उनके बूब्स को चाटना, चूसना शुरू कर दिया. दोस्तों मुझे इतना मज़ा आ रहा था, मुझे ऐसा लग रहा था कि में आज जन्नत की सैर कर रहा हूँ, लेकिन अभी तो बहुत सारा मज़ा बाकी था. फिर में अब अपने हाथों को नीचे सरकाते हुई उनकी चूत पर ले आया और जिसकी वजह से वो अब ज्यादा ही सिसकने लगी थी और मुझसे रुकने के लिए बोल रही थी.

फिर मेरे रुकते ही उन्होंने मेरे सारे कपड़ो को एक एक करके उतारना शुरू कर दिया, मेरी शर्ट निकालने के बाद उन्होंने मेरी पेंट को भी उतार दिया, में अब उनके सामने सिर्फ़ अंडरवियर में था और अब वो रंडी मेरी अंडरवियर के ऊपर से मेरे लंड पर हाथ फेरने लगी और जिसकी वजह से मेरा लंड और भी टाईट हो गया था. तभी उन्होंने मेरी अंडरवियर को एक ही झटके में पूरा नीचे कर दिया और अब वो मेरे लंड के साथ खेलने लगी और लंड को धीरे धीरे हिलाने, सहलाने लगी. फिर मैंने उनसे कहा कि अभी रूको मुझे भी तुम्हारी चूत के साथ खेलना है. फिर वो बोली कि हाँ ठीक है, लेकिन पहले मुझे तुम्हारा लंड चूसने दो, उसके बाद फिर तुम मेरी चूत को चाटना. फिर मैंने कहा कि नहीं हम दोनों एक साथ एक दूसरे का चूसेंगे. फिर वो बोली कि वो कैसे?

फिर मैंने 69 पोजीशन बनाकर उसकी चूत को चूसना चाटना शुरू किया और सरिता भी अब मेरे लंड को बहुत मज़ा ले लेकर चूस रही थी. फिर कुछ देर बाद मैंने चूसकर महसूस किया कि उनकी चूत से नमकीन पानी बाहर आ रहा था और में बहुत मज़े से चूसे जा रहा था. फिर कुछ देर बाद वो मुझसे पूछने लगी कि क्यों तुम्हे सेक्स के बारे में इतना सब कैसे मालूम है और तुम तो कहते हो कि आज तक तुमने कभी किसी के साथ सेक्स नहीं किया? फिर मैंने उनसे कहा कि मैंने अपने मोबाईल में यह सब सेक्स फिल्में भर रखी है और जिनको देखकर में अब यह सब कुछ सीख चुका हूँ और आंटी बहुत मज़े कर रही थी, लेकिन अब मेरा वीर्य निकलने वाला था तो में उनसे कहने लगा कि अरे यार मेरा सारा वीर्य तुम्हारे मुहं में ही निकल जाएगा तो में तुम्हे कैसे चोदूंगा?

फिर आंटी तुरंत बोली कि तू बिल्कुल भी फ़िक्र मत कर में तेरा लंड एक बार फिर से खड़ा कर दूँगी. अब में उसकी चूत में अपनी जीभ को अंदर बाहर कर रहा था और उसकी गांड में अपनी एक उंगली डालकर अंदर बाहर कर रहा था और थोड़ी देर बाद मेरा वीर्य आंटी के मुहं में निकल गया. फिर आंटी ने पूरा वीर्य पी लिया और मेरे लंड को पूरी तरह से चाट चाटकर साफ कर दिया, उन्होंने मेरे मुरझाए हुए लंड पर वीर्य की एक भी बूँद नहीं छोड़ी थी, लेकिन में अब भी उनकी चूत को एक बार चोदना चाहता था.

फिर वो मुझे हाथ पकड़कर बाथरूम में ले गई और अब हम दोनों एक दूसरे को नहलाने लगे, कुछ देर बाद मुझे पेशाब आ रहा था. फिर मैंने सरिता आंटी से कहा कि आंटी मुझे पेशाब आ रहा है. फिर वो साली रंडी मुझसे बोली कि रुक में नीचे बैठकर तेरा लंड अपने मुहं में डालती हूँ और अब तू मेरे मुहं में ही करना और फिर उसने ठीक वैसा ही किया. मैंने भी उसके मुहं पर पेशाब कर दिया और वो जल्दी जल्दी मेरा पेशाब गटकने लगी, सरिता आंटी अब पूरी बदल चुकी थी और उन्होंने कुछ देर मेरा लंड चूसकर खड़ा कर दिया और फिर छोड़ दिया. फिर हम बेडरूम में चले गये. फिर उसने मुझे नीचे लेटाया और अब वो मेरे लंड पर बैठ गई और मेरा लंड फिसलता हुआ उनकी चूत की गहराईयों में चला गया और अब वो मुझसे बोली कि तू अब कुछ भी मत कर, में सब कुछ कर लूँगी, यह बात कहकर वो खुद ऊपर नीचे होने लगी, मेरे दोनों हाथ उन्होंने उनके बूब्स पर रख दिए और मुझे भी अब बहुत ही मज़ा आ रहा था, लेकिन मुझे मेरी स्टाईल में उसकी चूत मारनी थी तो कुछ देर बाद मैंने उन्हें रोक दिया और उनको लेटने के लिए कहा.

READ  भाबी के गांड में मेरी लंड

फिर वो तुरंत मेरे ऊपर से उतरकर नीचे लेट गई. मैंने उनके दोनों पैरों को अपने कंधो के ऊपर किए और अपने लंड को उनकी चूत पर रख दिया, वो पहले तो हंस रही थी, लेकिन जब मैंने मेरा 6 इंच का लंड उनकी चूत में पहले ही जोरदार झटके में डाल दिया तो वो बहुत ज़ोर से चिल्ला उठी, ऊईईईई माँ में मर गई, तू तो आज मेरी चूत फाड़ देगा, आआआहह ओह्ह्ह्हह सिड छोड़ दे मुझे आआहह उफ्फ्फ्फफ्फ्फ़. फिर मुझे उनकी सिसकियों की आवाज सुनकर और भी जोश आने लगा था, में अब और भी ज़ोर ज़ोर से उनको धक्के मारने लगा, जिसकी वजह से पूरे बेडरूम में थप थप की आवाज़े गूंज रही थी.

फिर करीब 15 मिनट तक लगातार में उन्हें चोदता रहा और फिर मैंने अपना पूरा वीर्य उनकी चूत में डाल दिया. फिर उन्होंने झट से एक बार फिर से मेरा लंड हाथ में लिया और चूसने लगी, मेरे लंड से वीर्य को चाटकर साफ करने लगी. तभी किसी ने बाहर से दरवाजा खटखटाया और हम दोनों बहुत डर गए, लेकिन उस आवाज को सुनकर हमारी जान में जान आ गई. मम्मी दरवाजा खोलो तो उन्होंने जैसे तैसे करके जल्दी से अपने कपड़े पहने और फिर मुझे बेडरूम में रुकने के लिए बोलकर वो दरवाजा खोलने चली गई. दोस्तों तब तक मैंने भी अपने कपड़े पहन लिए थे, गोलू को सरिता दरवाजा खोलते ही बोली कि कितनी देर से बाहर खेल रहे हो? अब चलो अंदर आ जाओ तुम्हारी ट्यूशन लेने के लिए भैया आए हुए है. फिर वो दौड़ता हुआ सीधा बेडरूम में आ गया, लेकिन यह भी अच्छा हुआ कि मैंने तब तक अपने पूरे कपड़े पहन लिए थे.

गोलू सीधा बेड के ऊपर आ गया और फिर वो मुझसे पूछने लगा कि भैया यहाँ पर इतना गीला क्यों हुआ? लेकिन उसे में क्या कहता? में उसकी बात को सुनकर बिल्कुल चुप रहा, लेकिन तभी पीछे से उसकी माँ ने आकर उससे कहा कि कुछ नहीं बेटा अभी कुछ देर पहले यहाँ पर पानी गिर गया था यहाँ पर इसलिए गीला हुआ है. आंटी ने यह बात कहकर उसे बहला दिया और वो समझ भी गया. अब हम दोनों ने एक दूसरे की तरफ़ देखा और मुस्कुराने लगे. दोस्तों इस तरह मैंने पहली बार अपनी आंटी के साथ सेक्स किया था और उनके बेटे की ट्यूशन अब तक चालू है और अब भी उनका बेडरूम हमेशा गीला ही रहता है, क्योंकि में हर कभी मौका देखकर उनको चोदने लगता हूँ.

Aug 15, 2016Desi Story

Content retrieved from: .

Related posts:

पापा के दोस्त संग माँ का लाइव सेक्स
3 कोलेजिन लड़को ने भाभी लो पूरी रात लंड चुसवाया फिर गोद में बिठा के उछाल उछाल के चोदा
चचेरी बहन की चूत की पानी पानी कर दिया मैंने
मौसी की लड़की और मैं
पहले पति ने घर से निकाला नए पति ने रंडी बनाया
ट्रेन में मम्मी की चुदाई
प्रेमी ने चोद दिया
लंड ले कर काम सीखा
Chikni chuto ko chatne ka sawad liya
मेरी तड़प और दोस्तों की अय्याशी
बीवी को चुदाई का नशा
Outdoor me naina ki chut chudai
पति के दोस्त ने मुझे जीत लिया
भाबी थी सहर की गाँव में आकर चुद गई
सेक्सी पड़ोसन की प्यासी चूत
खुस करदिया ताईजी को चोद कर
मेरी चालू माँ ने मुझे दिया नया बाप
माँ के चूत के बाद मामा के घर में
कजिन की चुदाई की उसके शादी से पहले
चुदाई की क्लास ली बहन की
माँ के साथ चुदाई की
भूरी आँखों वाली कुंवारी छोकरी
क्या ऐसा ही होता है प्यार का पहला एहसास
गाँव की चुदाई कहानी : पड़ोस की भाभी मस्त माल
Kya Mast Malish Ki Bua Ki Gand Ki
Majjak Majjak Mein Mama Ki Ladki Ko Chodai Kiya
Bhahut Natak Se Bhabhi Ko Pataya Patna Me Aur Choda
कविता को पसंद आया बनाना लंड
मामा ने जबरजस्ती उसकी चूत में अपना लंड घुसेड़ दिया
सगे भाइयों का लंड मैंने एक साथ खाया और गांड भी चुदवा ली

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *