HomeSex Story

बड़ी बहन किरण की चुदाई

Like Tweet Pin it Share Share Email

मेरा नाम श्याम निषाद है,उमर 20 साल का एक नॉवजवान लड़का हू, मैं गोरखपूरे सिटी मे रहता हू,मैं छोटा सा बिज़्नेस कराता हू, साथ ही साथ पड़ता भी हू, यह मेरी और मेरी बहन किरण की चुदाई की कहानी है. किरण मेरे बड़े पापा की लड़की यानी मेरी सोतेली बहन है,वो मेरी सग़ी बहन नही है, किरण 22 साल की है. उनकी शादी हो गई है एक 2साल की बच्ची भी है. वह बहुत ही सुन्दर है,उसके छ्होटे छ्होटे बूब्स, काले काले बाल , भूरी आखे, बूब्स एक दम उभरे हुए.जैसे की पहाड़ की छोटी है. वह बहुत पहले से मेरे ओर आकर्षित होती थी पर मैं बहन को चोदना नही चाहता था,

बहन की शादी के वो बहुत कम यहा आती है, डटे की बात है वह यहा आई है, ,किरण मेरे कमरे मे आई और बोली श्याम कैसे हो मैने कहा ठीक हू, और मामी पापा से मिलने चली गयी मैने बहन भाई की चुदाई की कहानी बहुत सी पड़ी है मैने सोचा चलो कोई और नही मिल रही है तो बहन को ही चोद देता हू,अगले दिन को पालन फिट था क्या करना है 11आम को किरण मेरे कमरे पास आई आते हुए मैने देख लिया था.

मैने लॅपटॉप मे BF लगा कर देखने लगा वो दरवाजे पे से देखने लगी और कुच्छ बोली नही 10 मिंट बाद मैने बाय्फ्रेंड बंद कर दी और पीछे मुरा तो वह खड़ी थी मैने कहा किरण आप कब आई वो बोली जब तुम ये गंड्ड़ी फिल्म देख रहे थे, मैने कहा कब ुआसने कहा अभी को, मैं उठ कर किरण के पास गया और किरण का हाथ पकड़ कर कमरे मे खिच लिया. कहने लगाकिरण आप किसी को नही कहेगी वो बोली कहून्नगी मैने कहा आप ऐसा नही कर सकती उनोोने कहा क्यो मैने कहा .

अभी बताता हू मैने उनके सीर को पकड़ कर अपने होंठों से उनके होंठों को किस करने लगा वो उूुुुुआअ या क्या कर रहे हो मुझे छ्होरो, मैने नही छ्होरा 7 मिंट तक किस किया और छ्होर दिया वो बोली तुम बहुत बेकार हो अपनी बहहन के शत ऐसा करते हुए सारम नही आ रही है मैं बोला भाई के सामने बाय्फ्रेंड देखते हुए आप को सारम नही आ रही है, मैने दरवाजा को बंद कर लिया वो बोली ये क्या कर रहे हो मिने कहा कुच्छ नही प्यार करने जर रहा हू मैं किरण के पास गया, उनकी शारी को खिच कर नीचे कर दिया वह गुलाबी शारी गुलाबी बेलौग, और वाइट ब्रा पहनी थी जो ब्ल्ौग मे से एक दम साफ दिख रही थी उनःनो शारी उतनी चाही पर मैने उन्हे पकड़ कर उनके ब्ल्ौग के ऊप्पर से बूब्स को दबाने लगाकिरण ने आख बंद कर ली मैने बेलौस के बतन को खहोलना शुरु किय और उसे निकार दिया क्या, शारी को भी खिच कर खहोल दिया अब वह मेरे सामने सिर्फ़ ब्रा और पेटिकोट मे खड़ी थी कारण किरण मुझसे लिपट गई मेरे होंठों को अपने होंठों से चूसने लगी मैं उनकी पीठ और गर को सहला रहा थाकिरण 10 मिंट तक मेरे होंठ को छूसी अब बड़ा मज़ा आ रहा था

READ  प्रोफेसर ने चूत स्टूडेंट से चुदवाई हेल्लो दोस्तों मेरा नाम शिव है मैं एक मध्यम बांधे का गेहूँवन का लड़का हूँ, मेरी उम्र 21 साल है. मैं आज आपको मैंने अपने इकोनॉमिकस की टीचर की चुदाई की तब की कहानी बताऊंगा…यह टीचर का नाम प्रियंका है. वैसे तो मैं कोलेज के पिछले दो सालो मैं कितनी ही इंडियन औरत और इंडियन गर्ल्स की चुदाई कर चूका था लेकिन मेरे लिए यह इंडियन चूत बहुत अलग थी और यह इंडियन चूत शायद मैं जिंदगी भर याद रखूँगा.   हमारे कोलेज मैं प्रियंका मेम का पहेला दिन मुझे आज भी याद है, वह किसी कोलेज गर्ल के जैसी ही लाग रही थी और यही धोखा सभी को हुआ था, कितनो ने तो उस दिन इस इंडियन सेक्सी लड़की को पटाने के तरीके भी सोचे थे, लेकिन जब पता चला की यह तो नई नई पढाई ख़त्म कर के बनी हुई प्रोफ़ेसर है तो कितनो के दील टूट गए थे. वैसे इस इंडियन सेक्सी मेडम के क्लास को कोई मिस नहीं करता था और लड़के तो कभी नहीं….! एकाद महिना हो गया इस सेक्स बम को क्लास में पढ़ाते हुए और उसकी और मेरी अच्छी जमने लगी थी, वोह अक्सर मुझे अपने पर्सनल काम के लिए बुलाती थी, लेकिन आज तक इसने मुझे अपने घर नहीं बुलाया था किसी भी काम से….उसके सारे काम स्टाफ रुम स्टेशनरी वगेरह के ही रहेते थे. मैं मनोमन सोचने लगा बस एक बार चांस दे दो तुम्हारी इंडियन चूत बजा ना दूँ तो मेरा नाम भी शिव नहीं. उस दिन सुबह सवेरे मेरी किस्मत खुल गई, प्रियंका मेडम ने मुझे केंटिन के बहार ही पकड़ा और कहा, “शिव आज मेरे घर आओगे. मुझे घर पे कुछ काम है ?” मेरे मन मे लड्डू फूटने लगे थे, मैंने कहाँ, “जरुर मेडम, पर मैंने आपका घर नहीं देखा है….!” प्रियंका मेडम, “एक काम करेंगे, शाम को मैं तुम्हे अपनी स्कूटी पर ही लिफ्ट दे दूंगी” दोपहर ही हुई थी और मेरे लिए एक एक पल निकालना भारी था, मैंने बाथरूम जा के एक बार लंड को अपने हाथ में लेकर इंडियन पोर्नस्टार प्रियंका चोपरा और प्रियंका मेडम के साथ थ्रीसम के ख़याल करते हुए हस्तमैथुन कर दियां. लंड एक घंटे में फिर से मुझे हेरान कर रहा था, मैं सोच रहा था की कब मैं मेडम के साथ जाऊं और कोई चांस शायद निकल आयें. शाम उस दिन बहुत देर से हुई, आखिर कार शाम के कुछ 5 बजे प्रियंका मेडम लायब्रेरी से निकली और बोली, “चलो शिव” उसने अपनी स्कूटी निकाली और वह अपने गोल गोल कूले इस स्कूटी की सिट पर रख के बैठ गई, मैं पीछे बैठ गया. मेरी नजर कभी उसके कूलों पर पड़ती तो कभी उसके कंधो पर, साड़ी के ब्लाउज़ के उपर के भाग में इस इंडियन टीचर के गोरे कंधे का भी अपना नशा था, मेरा लंड अब फिर से पेंट में ऊँचा हो रहा था. हम लोग मेईन मार्केट से होते हुए निकले और रास्ते में गर्दी होने के कारण कई बार ब्रेक लगाना पड़ा, मेरे दिमाग में शैतानी सूझी और मैं धीरे से आगे सरक गया, अब जब भी मेडम ब्रेक लगाती वह ना चाहते हुए भी मुझ से अपनी कमर टकरा देती थी. उसका घर आ गया और हम निचे उतरे, मेरा लंड मेरी जींस में भी काट रहा था. घर में दाखिल होते ही मेडम ने कहा, “मेरे मम्मी डेडी दो दिन से इंदोर गए है और मेरे पीसी मेरे डेड के पीसी में शायद वायरस आ गया है तो मुझे वह ठीक करवाना था तूम से. मैंने तुम्हे अक्सर लायब्रेरी के पीसी पर देखा है और सोचा की तूम यह कर लोगे.” मैंने कहा, “देखते है मेडम…!” उसने मुझे पीसी पर से कवर हटा के दिया और मैं वही कुर्सी में बैठकर पीसी चालू कर के चेक करने लगा, स्केन के रिज़ल्ट देख के मेरी आँखे खुली रह गई, मेडम ने उस पे हिंदी सेक्स स्टोरीस और वीडियो ही नहीं बल्क़ि पोर्न वीडियो वाली साइटें भी खोली थी और उसके डेड ने की हुई सेटिंग की वजह से फायरवाल ने इंटरनेट डिसेबल कर दिया था. मुझे लगा, इसमें इस इंडियन प्रोफ़ेसर की क्या गलती है…..हरेक जवान लड़की को चुदाई के अरमान होते है. लेकिन जब मैंने इन लिंक्स को देखा तो चोंक जरुर गया क्यूंकि इनमे गेंगबेंग और डीपथ्रोट के भी लिंक थे. मैंने लिंक डिलीट नहीं किये लेकिन सेटिंग चेंज कर के  पीसी को सही कर दिया. प्रियंका मेडम तभी चाय ले कर रूम में आई, मैंने उसे कहा, “यह हो गया है मेडम…आप चेक कर लो.”   मेडम निचे बैठी मेरी नजर अब उसके भारी इंडियन चुंचो पर थी, मैंने उसे कहा, “आप इंटरनेट ओन कर के देख लो”….मैं अभी भी उसके चुंचे ही देख रहा था….! मेडम बोली, “शिव क्या देख रहे हो.” मैं हडबडा गया और बोला, “कुछ नहीं मेडम” अब मेडम जो बोली वह मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था, उसने कहा, “खोल के दिखाऊं” मैं हक्काबक्का था पर मेडम तो सच कहे रही थी क्यूंकि उसने तुरंत अपना ब्लाउज मुझे दिखाते हुए साडी का पल्लू एक तरफ कर दिया, उसके जवान चुंचे 34 की साइज़ के तो होंगे ही और वह बदन पर एकदम लचे हुए थे. मेडम और मेरी आँखे मिली और उसकी आँखों में मुझे वासना का कीड़ा नजर आ गया. मैं भी अपनी जगह से उठ खड़ा हुआ और उसके समीप जा कर मैंने उसके बड़े बड़े चुन्चो को हाथ में लेकर दबाने लगा. मेडम का एक एक चुंचा ढाई किलो का था और मेरे हाथ में नहीं आ रहा था, मैं अब दोनों इंडियन देसी स्तन को हाथ में ले कर दबाने लगा. मेडम ने अब ब्लाउज खोल दिया और साड़ी और एक एक कर के अपने सारे कपडे उतार दियें, मेरा लंड पेंट के अंदर ही उछल पड़ा, क्या साफ़ चूत थी यारो हलकी गुलाबी और उसके उपर बड़े बड़े दो लिप्स. मैंने अपना हाथ अब मेडम के चूत के उपर रख दियां और मैं उसकी चूत को सहेलाने लगा, मेडम ने अब धीमे से मेरे शर्ट के बटन बिलकुल सेक्सी तरीके से खोलने शरु कर दियें, उसका हाथ शर्ट खोलने के बाद उसका हाथ मेरे लंड के उपर जींस निकालेबिना आ गया और वोह उसे दबाते हुए बोली, “शिव बंदूक तो बड़ी है तुम्हारी, गोलियां निकली है कभी इस से…!” मेडम को ऐसा बोलते सुनके मुझे अजीब और उत्तेजक दोनों एक साथ लगा, मैं कुछ बोला नहीं और उसे जोर से अपने आगोश में ले दबोचा, मेडम के सेक्सी इंडियन चुंचे मेरे छाती से टकराने लगे और मैं जैसे उन्हें अपनी छाती से दबाता था मेडम के मुहं से आहिस्ता आहिस्ता सिसकारियाँ निकलती थी. मैंने अब धीमे से अपनी जींस निकाल दी और प्रियंका मेडम तुरंत अपना हाथ मेरे लंड के उपर ले गई, उसने अंडरवेर उतारने का भी वक्त नहीं दिया और वह लंड को उपर से ही सहलाने लग पड़ी, मुझे उसके प्रत्येक स्पर्श से अलग ही रोमांच आ रहा था, अब मेडम ने मेरी चड्डी खोल दी और वह मेरे लंड को देख के मन ही मन हंस रही थी, उसे शायद आज अपनी साइज़ मिली थी क्यूंकि मेरा लंड बहुत ही तगड़ा था. मेडम ने मुहं खोल के आ किया और लंड को चोकोलेट बार की तरह चूसने लग गई. मैं इस सुखद आश्चर्य को कैसे हजम कर रहा था यह केवल मुझे ही पता था. मेडम इस इंडियन लोडे को जम के चूसने लग पड़ी और उसके हाथ मेरी गांड के उपर रखे हुए थे, मैंने अपना लंड मेडम के मुहं में धकेलना शरू कर दिया और मेडम चप्प्पप्प्प…चास्स्स्सस्स्स्स…..चोऊऊऊ…..चो…चो….करते हुए लंड को चुसे जा रही थी. मैंने अब अपना लंड उसके मुहं से निकाला और पता नहीं के इस सेक्सी इंडियन जवान मेडम को क्या सूझी उसने मेरा लंड हाथ में लेकर अपने निपल पर फेरना चालू किया, वोह बारी बारी एक एक निपल पर लंड को घिस रही थी, लंड चिकना होने की वजह से इस घिसाहट में एक अलग मजा मुझे भी आ रहा था. मेडम अब उठ खड़ी हुई और वह वही पर बैठक खंड के टेबल पर लेट गई, मैंने उसकी टाँगे खोली और अपना लंड लेके मैं भी पलंग पर चढ़ बैठा, यह पलंग सोने वाला नहीं बल्कि बेठने वाला था और मुश्किल से एडजस्ट हो पा रहे थे हम दोनों इस के उपर. मैंने अपना लंड धीमे से मेडम की चूत पर रखा और एक हलका झटका दे कर उसको इस चूत के अंदर धकेल किया, मेडम ने अपने होंठो को अपने दांतों के निचे दबाया और वह मेरी तरफ नजर कर राही थी, उसकी आँखों में संतोष के भाव थे और मैंने एक झटका और दे कर अब लंड को अंदर बहार करना चालू कर दिया, प्रियंका मेडम के सेक्सी इंडियन चुंचे इधर उधर उछल रहे थे जिनको अब मैंने अपने हाथ में लेकर दबाने लगा. मेरा लंड बिना रोकटोक इस देसी चूत के दरवाजे के अंदर बहार हो रहा था, शायद मेडम पहेले से ही बहुत चुदक्कड थी और इस लिए चूत उसकी फ़ैल चुकी थी और लंड इसलिए आराम से अंदर बहार हो रहा था वरना पहेले लंड डालो तो लडकियाँ अक्सर चिल्लाने लगती है…! करीब तिन चार मिनिट तक मैंने मेडम को ऐसे चोदा औ फिर मैंने उसके दोनों पग इस तरह अपने कंधे पे चढ़ाये के उसकी झांघे मेरे कंधो पर थी, जी हाँ मिशनरी पोजीशन, और अब में चप चप करके उसकी चूत को मारने लगा, यह पोजीशन सही थी क्यूंकि लंड अन्दर तक जा रहा था और इसमें मुझे कुछ ज्यादा ही रोमांच आया रहा था, और तो और मेडम भी इस पोजीशन में सिसकारियाँ कर रही थी. मैंने जोर जोर से इसकी इंडियन चूत को चोदना चालू रखा और 10 मिनिट की चुदाई के बाद मेरा लंड निढाल हो गया, सारा माल मलीदा इस देसी चूत के अंदर निकलने लगा. मैं मेडम के ऊपर ही दो मिनिट तक पड़ा रहा, थोड़ी देर बाद वो कोफ़ी बना के लेके आई और उसने कोफ़ी पिने के बाद मेरे लंड को फिर मसलना चालू कर दिया. अब की बार तो मैंने प्रियंका मेडम की 20 मिनिट तक लगातार चुदाई कर दी और फिर मैं अपने घर की और चल पड़ा, उसने मुझे ड्रॉप करने के लिए कहा लेकिन में चाहता था की हमें कोई और देखे ना, क्यूंकि कुछ लोडू लोग चुदाई का सेटिंग बिगाड़ देते है और मुझे यह इंडियन चूत को लम्बे समय तक लेना था क्यूंकि इस एक्जाम में पास होने पर में क्लास में इस सब्जेक्ट में टॉपर भी तो हो सकता था…..! Aug 26, 2016Desi Story

वह जोस मे आ रही थी उनहोने अपने ब्रा और पेटिकोट को भी उतार दिया अब वह सिरफ़ पेंटी मे खड़ी हो गयी मैं उनहे देखने लगा पूरा शेरर ढूड़ की तरह सफेद उओपेर ये चुचि जो कह रही थी आओ ंहझहे चूसो गुलाबी होंठ जान मार रहे थे मैं उनहे देख कर पागल हो रहा था, तुरंत ही उनके चुचि को हाथो मे लेकर मसलने लगा और होंठों को चूसने लगा उसके बाद मैं उनके बूब्स को चूसना शुरु किया, उनके बूब्स से दूध किकाल रहेते मैने पूछा किरण आप के चुचि मे से तो दूड निकल रहा है वह कुच्छ नही बोली अपने हाथ को उनके पेंटी के ऊप्पर रख कर चूत को मशालने लगा उन्होने मेरे पेंट मे हाथ डाल कर मेरे लॅंड को शहलाने लगी अब वह और जोश मे आ गई मेने फिर उनकी पेंटी निकल दी वाआहह क्या चूत है बिन एक बाल का गुलाबी मैने और छोटी सी ऐसे लग रहा है अभी यह चूत चुदी भी नही है मैने पूछा किरण जीजा आप को चोदते नही हहाई क्या वह बोली उनका लॅंड एक दम छोटा है चूत मे जाता है पता भी नही चलता और जल्दी ही झार जाते है.

मैने कहा घबराईए मत मैं हू ना अब आप की चूत की प्यास बुझेगी, मैने अपने सारे कपड़े उतार दिए उन्होने मेरे 7 इंच लंबा 3 इंच मोटे लॅंड को देख कर कहने लगी श्याम तेरा लॅंड तो बड़ा मोटा है. मैं बोला किरण आप के भाई का लॅंड है अब आप की प्यास बुझाएगा किरण को को बाद पर बता कर दोनो पैरो को फैला कर गुलाभी चूत को चातने लगा जो गीली थी किरण बोली ये क्या कर रहे हो मैने कहा आप बस चुप रहिए मैं चूत को चातने लगा किरण की आवाज़ भारी हो रही थी और आहह आआअहह आआआआहह आआआअहह उुउऊहह उउउहह उुउऊहह आआआआआआहह श्याम बड़ा मज़ाअ आआराहाआ हैयययययी तेरे जीजा ने कभी भी मेरे चूत को नही चाहता तुम चतो और सारा पानी पे जाऊ,मज़ा आ रहा है किरण गड़ उठा उठा कर मेरे जीभ से पेलवयए जा रही थी,मैं चूत से निकले वाले पानी को पिए जराहा मेरा लॅंड एक दम तन कर खड़ा था किरण की चूत को 15 मिंट तक चाहता अब किरण झरने वाली थी किरण बोली मैं जरने वाली हू, मैं बोला हुुआाअ उन्होने पानी छोड दिया मैने उनका सारा पानी पे गया,

READ  घर में आये मेहमान की गज़बकी चुदाई की

अब दीदी शांत हो गई, बाद पर लेट गई, मैने कह किरण ऐसे कम नही चलेगा, मैं बाद पर चड़ कर उनके ऊप्पर बाद कर लॅंड को मूह पर लगा दिया और बोला किरण मेरे लॅंड को चूसो किरण मना कर रही थी मैने ज़बरजास्ति किरण के मूह मैने लॅंड को डाल दिया अब किरण मेरे लॅंड को चूसने लगी मैं मूह को चूत समझ कर मूह को चोदे जा रहा था किरण फिर से गरम हो रही थी मेरे लॅंड को ज़ोर ज़ोर से चूस रही थी 10 मिंट के बाद मेरे लॅंड का जवाला मुखी फुट और उनके मूह मे मेरे पानी गर गे वह मेरे लॅंड को मूह मे से निकल कर लॅंड के पानी को थूकने जा रही थी मैने उनके मूह को अपने होंठों से मूंद लिया थूक नही पाई और पानी पे गयी मैं उनके गालबी होंठों को चूस रहा था वह भी,जीभ को किरण के मूह के अंदर डाल कर उनके जीभ को चूस रहा था वो मेरे जीभ को चूस रही थी मैं अपने एक होंठ से उनके चूत को शहलाने लगा अब फिर से वो गरम हो गई मेरा लॅंड भी तब तक खड़ा हो गया मैने किरण से कहा किरण आप पैर फैलाइए किरण ने पैर पायलाया लॅंड को चूत की होल पर रख कर एक धक्का दिया मेरा लॅंड अंदर नही गे फिर से मैने चूत पे लॅंड रख कर ज़ोर का धक्का दिया

अब मेरा 3 इंच लॅंड चूत को चीराता हुआ अंदर गया किरण चिल्ला उठी आआआआआआआहह आआआआअहहााआअ दर्द हो रहा है तुम्हारा लॅंड बहुत मोटा है, धीरे से करो मैं एक हाथ से उनके मूह को मुंडा और लॅंड को एक और ज़ोर का झटका मारा लॅंड पूरा का पूरा अंदर चला गया किरण के आखो से आंशु निकालने लगे मैं रुक गया 5 मिंट के बाद किरण बोली चोद रंडड़ी का भाई अपनी बहन के चूत को रंडड़ी का बना दिया अब चोद मैं लॅंड को अंदर बाहर करने लगा अब किरण को मज़ा आ रही था साथ मे मुझे भी जो पहली बार चूत पाई थी, किरण आआआआआअहह आआहह आआआअहह्ा आआअहह आआआआआआआअहह भाईईईईईईईईईई आौर जूओर सेययययी छोड़ााअ आआआअहह आअहह आआआहह आआहह आआहह मज़ा आराहाआआआअ है ययय्याआआआआआहह गड़ को उठा उठा कर साथ दे रही थी मैं बोला किरण आप

अब कुट्टिया की तरह हो जाइए किरण कुट्तिय की तारह हो गई मैं उनके पीछे चूत को चोद रहा था किरण बोली बही कस्स मैं तेरी बीबी होती मैं बोला किरण आप जब तक यहा है तब तक मुज्ज़े अपना पाती साझिए किरण बिलो डिक है पाती देव आआअहहुहहााअ आआअहह उूुुुुुुुुुुुउऊहह हहााअहह आआआआआआअहह आआआअहह आआआअहहहह आआहह्ा आआहहा मैं झड्ने वाला था मैं उनकी चूत मे झरने वाला था चोदना और तेज कर दिया मेरे से पहले किरण का ही पानी निकल गया मैं भी किरण की चूत मे ही झाड़ गया हम दोनो बाद पर लेट गई किरण बोली इससे पहने कभी इतना मज़ा नही आया भैइतूने मेरी तम्माना पूरी कर दी मैं पुच्छ ओ कैसे वह बोली मैं तुमसे शादी से पहले ही चुदवाना चाहती थी पर तुमने कभी भी मेरे तरफ़ ध्यान नही दिया मैं बोला किरण कभी भी ध्यान भी नही देता मैने भाई बाहान की चुदाई की कहानी पड़ा तभी तो मैने आप को चोदा किरण बोली ऊओह तो तुम जानते थे की मैं दरवाजे पर हू, मीया बोला हां किरण… किरण और मैने उसी दिन रात को 3 बार चूत और लॅंड का मज़ा लिया किरण 5 दिन तक थी हम दोनो ने खूब चुदाई के मज़े कियी.

READ  भाभी को घर मे ही चोद दिया

Desi Story

Related posts:

मेरी मों रंडी के जैसे चुदि
बुआ की बेटी की सीलतोड़ चुदाई
ऑटो में मिली एक मस्त आंटी की चुदाई
प्रोफेसर ने चूत स्टूडेंट से चुदवाई हेल्लो दोस्तों म...
बायोलॉजी टीचर की चुदाई
भाई को सीडयूज़ कर के चुदाई की
इंडियन सेक्स मालिक की बेटी के साथ
सयानी इंटर्न को चोदने की तकनीक
Indian sister ke sath romance se bhara sex – Incest story
Bache ke lie paisewali aunty ne chut chudwai
Renu chudi apne pati ke bhai se
दीदी की दूध की खीर खाकर चुदाई की
पहले दीदी और बाद में मामी की चूत चुदाई
क्या भैया मेरा दूध नहीं पिओगे आप
डॉ. दीदी की चूत की मालिस
चूची मसल कर चोदा मामी को
बड़ी गांड वाली पंजाबन आंटी
मेरी चालू माँ ने मुझे दिया नया बाप
रात भर चोदा मादरचोद भाई ने
मस्त चुदाई हुई दोनों बुर की
कामवाली और उसकी बहनों को रखैल बनाया
चुदाई की क्लास ली बहन की
मेरा नौकर श्यामू - Desi Sex KhaniyaDesi Sex Khaniya
A Real Love Story By Amar
Apni Class Fellow Ko Jamkar Choda
Pyar Ka Parwan Chadha | Sex Story Lovers
दीदी: माय वाइफ | Hindi Sex Kahani ,Kamukta Stories,Indian Sex Stories,Antarvasna
देवर के लंड से मिटी चूत की भूख indian sex stories
पति का लंड 2 इंच का था इस वजह से मैं ड्राइवर से फंस गई हु – Hindi Sex Stories
ससुर जी ने मेरी पिंक चुत को चाट कर पूरी रात मुझे ठोका और बोले दूसरा शॉट लगाने दो

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *