बॉडी मालिश और खड़े लंड को मिली चूत

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम राजू है और में इस साईट पर बहुत सारी कहानी पढ़ चुका हूँ, मुझे लगा कि मुझे भी अपनी लाईफ कि कुछ घटना आप लोगों के साथ शेयर करनी चाहिए. में फर्स्ट टाईम अपनी स्टोरी लिख रहा हूँ और कुछ ग़लती हो तो माफ़ करना. में दिल्ली में आयुर्वेद थेरेपिस्ट का काम करता हूँ, इस काम ने मुझे बहुत कुछ दिया है. 25 दिसम्बर 2010 को मुझे क्लिनिक जाना पड़ा, क्योंकि मेरे साथ काम करने वाले बाकी थेरेपिस्ट सारे चर्च गये थे.

अब मुझे आधे दिन काम करना था, फिर उस दिन 11 बजे एक सुंदर सी एक लेडी आई, उनको डॉक्टर से मिलना था उस लेडी को चलने में काफ़ी प्रोब्लम हो रही थी तो मैंने उसे डॉक्टर के पास भेज दिया. फिर करीब 20 मिनट के बाद डॉक्टर ने मुझे अंदर बुलाकर बताया कि इन मेडम को स्पीनल मसाज और पीछे की साईड पोटाली मसाज देना है.

फिर में उस लेडी को लेकर रूम में गया और कहा कि मेडम आपको अपना ऊपर का पूरा ड्रेस निकालना पड़ेगा नहीं तो आपकी ड्रेस तेल के कारण खराब हो सकती है. तो उसने कहा कि आप कैसे भी करो? लेकिन मेरा दर्द कम कर दो. फिर मैंने उसे पेट के बल लेटने को कहा और तो वो लेट गयी. अब उसके ऊपर सिर्फ़ एक टावल और नीचे सलवार था. फिर मैंने टावल को खोलकर गर्दन से पीठ तक ऑयल लगाया और मसाज करना शुरू कर दिया. फिर 10 के बाद उसकी गर्दन पर मेरे हाथ लगने के कारण उसके मुँह से कुछ आवाजे निकलने लगी तो मैंने सोचा कि दर्द के कारण होगा लेकिन थोड़े टाईम के बाद ऐसा लगा कि ये तो कुछ और हो रहा है. अब मुझे भी कुछ हो रहा था, अब में उसकी चूची साईड से टच करने लगा, अब उसके मुँह से बस म्‍म्म्ममम म्‍म्म्मममम आवाज़ निकल रही थी.

READ  दीदी के देवर से चूत फड़वाई

अब मैंने उसकी पीठ मसाज स्टार्ट कर दी और उसको कहा कि ये आपका सलवार थोड़ा और नीच कर दूँ, तो वो मान गयी. अब मुझे उसके आधे चूतड़ नज़र आ रहे थे और कुछ देर तक मालिश करते-करते सलवार और नीचे कर दिया. अब में उसको पॉइंट मसाज देने लगा और पीठ पर मसाज करते-करते कभी मेरा हाथ उसकी गांड की दरार में चला जाता. अब ये करते-करते मेरे लंड का बुरा हाल हो गया था.

मैंने सोचा अगर इसके घर जा कर मसाज करूँगा तो कुछ हो सकता हैं, फिर मैंने उससे पूछा कि मेडम अगर आप चाहें तो में आपके घर आकर भी मसाज कर सकता हूँ. तो उसने कहा ठीक है तुम अभी आ सकते हो, तो मैंने कहा कि में 1 बजे फ्री रहूँगा. फिर उसने ओके बोला और फिर मैंने पीठ मसाज के बाद उसकी बॉडी से ऑयल सॉफ किया और वो बाहर चली गयी, अब जाते-जाते उसने कहा कि वो मेरा बाहर इंतजार करेगी.

अब उसके जाते ही में बाथरूम के अंदर घुस गया और उस लेडी को मन में सोचकर मुठ मारी तब जाकर मुझे कुछ आराम मिला, क्योंकि मेरे लंड का करीब 1 घंटे से बुरा हाल था. अब में 1 बजे बाहर निकला, तो वो लेडी मेरा इंतजार कर रही थी, फिर वो मुझे अपने घर ले गयी, उसका काफ़ी बड़ा मकान था. फिर वो मुझे अपने बेडरूम में ले गयी, वहाँ 2 रूम हीटर थे, उसने उन दोनों को चालू कर दिया, क्योंकि सर्दी का टाईम था और उसने अपने कपड़े उतारना शुरू किया और वो सिर्फ़ ब्रा पेंटी में बेड पर सीधा लेट गयी. फिर मैंने भी उसके पैरो की मसाज स्टार्ट की, अब मसाज करते-करते मेरा हाथ उसकी चूत को टच कर रहा था, अब मुझे बहुत अच्छा लग रहा था.

अब उसकी पेंटी थोड़ी गीली थी, ये सब देखकर मेरे लंड का बुरा हाल हो गया. अब में उसके पेट का मसाज कर रह था, अब में मसाज करते- करते कभी चूचि को भी दबाता और अब वो सिर्फ़ सिसकारियाँ ले रही थी. फिर मैंने कहा कि मेडम में ये ब्रा निकाल दूँ, तो उसने हाँ बोला और मैंने उसकी ब्रा को निकाल दिया. अब उसके मोटे-मोटे बूब्स मेरे सामने थे और अब में ज़ोर-जोर से उसकी चूचीयों की मालिश करता रहा और उसके मुँह से हहाआअँ यसस्स आआआररम से मसस्स्स्स्सई की आवाज निकल रही थी.

READ  बुआ और उनकी दोनों बेटियों को चोदा Desi Family Sex Stories

अब ये सब सुनकर मुझसे कंट्रोल नहीं हो रहा था, अब मैंने धीरे-धीरे उसकी पेंटी में हाथ डालकर उसकी चूत की मालिश करना स्टार्ट किया और उसकी चूची को अपने मुँह में लेकर चूसने लगा. अब मैंने उसके निप्पल को चूस-चूस कर लाल कर दिया और उसके चूत के दाने को अपने हल्के हाथों से मसलना चालू किया. अब वो तो अपनी आँखे बंद करके सिसकारी ले रही थी, अब में धीरे-धीरे उसकी चूत में उंगली डालने लगा. ऐसा करते ही उसका पानी छूट गया और मेरा हाथ पूरा गीला हो गया तो मैंने कहा कि मेडम मुझे आपकी चूत को चाटना है, तो उसने हाँ में अपना सिर हिलाया. फिर मैंने उसकी पेंटी को निकाला, उसकी चूत पर काफ़ी बाल थे और मुझे बालों वाली चूत बहुत पसंद है.

फिर मैंने धीरे से उसकी चूत के दाने को चूसा और अपनी जीभ अंदर बाहर करने लगा, अब में उसकी चूत को चाटता रहा. फिर कुछ देर के बाद उसने फिर से आवाज़ निकालना स्टार्ट कर दिया ओूऊऊऊऊव सस्स्स्सस्स साआआअ वूऊव्व्व हूऊओ यससस्स. अब वो बोली कि राजू अब जल्दी से मुझे चोदो. फिर मैंने अपना लंड बाहर निकाला और उसकी चूत की मेरे लंड से मालिश करने लगा. अब मुझसे सहा नहीं गया तो में अपना लंड उसकी चूत में डालने लगा, उसकी चूत थोड़ी सी टाईट थी.

मैंने उससे पूछा, तो उसने बताया कि उसका पति अमेरिका में जॉब करता है और साल में एक महीने के लिए वो आते है. अब में उसे आराम से चोदने लगा, अब उसकी चूत गीली होने के कारण और मजा आ रहा था. अब उसके मुँह सिर्फ़ एयए हहूऊ वूओव फुक ऊऊऊओ की आवाज़ निकल रही थी. फिर करीब 10 मिनट तक चोदने के बाद में नीचे लेट गया और वो मेरे ऊपर आ गयी और मेरे लंड को अपनी चूत में डालकर ऊपर नीचे होने लगी.

READ  पायल मेरे लंड की दीवानी हे उसे में लंड नहीं देता तब वो इतना तड़पती हे की जैसे चुत में आग लगी हो

फिर कुछ देर के बाद वो झड़ गयी और मेरे ऊपर ही लेट गयी, मेरा अभी झड़ना बाकी था तो उसने मुझसे कहा कि उसकी गांड में लंड डालो और वो घोड़ी स्टाइल में हो गयी. अब उसकी पीछे से चूत और गांड देखकर मुझसे भी रहा नहीं गया, अब में फिर से उसकी चूत और गांड को चाटने लगा. अब उसके मुँह से आआआः ससहस की आवाज़ निकलने लगी थी. फिर कुछ देर के बाद में उसकी गांड में लंड डालने लगा, लेकिन उसकी गांड बहुत टाईट थी. फिर मैंने थोड़ा सा तेल अपने लंड पर लगाया और धीरे-धीरे अंदर करने लगा, अब मेरा लंड थोड़ा सा अंदर जाते ही उसके मुँह से दर्द के मारे चीख निकल गयी.

थोड़ी देर तक रुकने के बाद मैंने एक जोरदार झटका देकर अपना पूरा का पूरा लंड उसकी गांड में डाल दिया. अब उसका दर्द के मारे बुरा हाल था, फिर कुछ देर रुकने के बाद में धीरे-धीरे अंदर बाहर करने लगा. फिर कुछ देर के बाद उसको भी मज़ा आने लगा, अब वो खुद आगे पीछे होने लगी थी और में तेज़ी से उसकी गांड मारने लगा. फिर 10 मिनट के बाद मैंने मेरा वीर्य उसकी गांड में गिरा दिया और शांत होकर उसके ऊपर लेट गया. अब वो लेडी काफ़ी खुश थी, फिर उसने मुझे 2000 रुपये दिए और में करीब 6 बजे तैयार होकर वहाँ से चला गया.

Desi Story

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *