HomeSex Story

भाई का चूत प्यार – Desi Sex KhaniyaDesi Sex Khaniya

भाई का चूत प्यार – Desi Sex KhaniyaDesi Sex Khaniya
Like Tweet Pin it Share Share Email

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम पूजा है और मेरी उम्र 21 साल है. मेरे फिगर का साईज 36-30-34 है और मैंने  लेकिन अब वो मेरी चूत का बहुत बड़ा दीवाना बन गया है, उसका नाम राज है और मुझसे एक साल बड़ा है. उसकी लम्बाई 5.11 है और वो दिखने में एकदम ठीक लगता है और अब में सीधी अपनी आज की कहानी पर आती हूँ.
दोस्तों हुआ यह कि वो एक दिन मुझसे मिलने आया तो हम लोग एक दूसरे को नॉर्मली जब भी मौका मिलता बहुत अच्छे से मिलते और अपने मज़े मस्ती में व्यस्त रहते थे और उसी मज़े मस्ती करते समय एक दिन उसका हाथ मेरे बूब्स को छू गया मुझे उसके लंड आकार बड़ा होता हुआ नजर आया और अब मेरी भी चूत धीरे धीरे गीली होती जाती थी. जो मेरे लिए सब कुछ पहली बार और एकदम नया नया सा था, क्योंकि उसके पहले मेरे साथ ऐसा कुछ भी नहीं हुआ था कि मेरी चूत गीली हुई थी और ना ही मुझे इसका मतलब पता था.
फिर उसके हाथों से मेरे बूब्स को छूने पर मेरा यह हाल हुआ था, लेकिन में फिर भी एकदम चुप रही और बाद में धीरे धीरे हम दोनों खुलकर रहने लगे, लेकिन वो अब कुछ नहीं कर रहा था और ना ही में कर रही थी सिवाए थोड़ा बहुत इधर उधर छूने और किस करने के. फिर एक दिन उसने मुझे अचानक से कसकर पकड़ लिया और फिर किस करते करते मेरी पीठ को सहलाता और रगड़ता रहा.
फिर हमने स्मूच किया और उसकी जीभ मेरे मुहं में थी और अब हम दोनों धीरे धीरे जोश में आ रहे थे और फिर उसने अपना अगला कदम बढ़ाया और वो मेरा टॉप खोलने लगा. तो में भी अब धीरे धीरे मदहोश हो रही थी और मैंने झट से हाथ अपने दोनों हाथों को ऊपर कर दिया और उसने मेरा टॉप निकालकर दूर फेंक दिया. फिर वो मेरे 36 साईज़ के बड़े बड़े बूब्स को घूरने लगा तो मैंने कहा साले हरामी कहीं का, तू केवल घूरता ही रहेगा या दबाएगा या चूसेगा भी?
मेरी बात सुनकर वो बहुत जोश में आ गया और मेरे दोनों बूब्स को ब्रा के ऊपर से ही पकड़कर दबाने लगा और अब वो मेरी जीभ को कसकर चूस रहा था. फिर कुछ देर ऐसा ही चलता रहा और उसने मुझे बेड पर लेटा दिया. फिर मेरी गर्दन पर किस करने लगा और फिर धीरे धीरे नीचे की तरफ किस करते करते आगे की तरफ बड़ने लगा और अब वो मेरे बूब्स को ब्रा के ऊपर से किस करने के बाद पेट पर किस कर रहा था और फिर उसने मेरी जींस को उतार दिया और अब में केवल ब्रा और पेंटी में लेटी हुई थी और उसने अपनी टी-शर्ट और पेंट को भी उतारकर फेंक दिया और उसने किस करना लगातार जारी रखा और पेट पर किस करने के बाद जब उसने मेरी चूत पर पेंटी के ऊपर से किस किया तो मेरे मन में ऐसी खलबली हुई कि जैसे में एकदम पागल हो जाउंगी. वो किस करते करते मेरे टॉप पर फिर मेरे पैरों को किस करते करते ऊपर बढ़ा.
फिर पेट को एकदम बीच में चूमते चाटते हुए बूब्स के पास आया और दोनों बूब्स का कुछ हिस्सा जो ब्रा के अंदर होने के बावजूद भी दिख रहा था, उसे चूमता चाटता रहा और फिर मेरे ब्रा का हुक खोलकर उसने मेरी ब्रा को बाहर निकाल दिया और पागलों की तरह मेरे एक बूब्स को पकड़कर चूसने लगा. तो उसका वो बूब्स का चूमना, चाटना और मेरे दूसरे बूब्स को दबाना मुझे बिल्कुल पागल कर रहा था और अब में जोश में आकर चुदाई के लिए और भी बेकरार होने लगी थी.
उसने कहा कि मुझे ऐसा अहसास हो रहा है कि जैसे एक मम्मी आज अपने बेटे को दूध पिला रही है. तो मैंने झटसे उसकी बात का जवाब दिया और उससे कहा कि अब मम्मी मम्मी छोड़ो और अपनी जान का दूध पियो और यह सुनकर वो और भी जोश में आ गया, वो अब और कस कसकर मेरे एक बूब्स को चूसने लगा और दूसरे बूब्स को दबाने लगा, लेकिन कुछ ही देर में मेरे शरीर ने जवाब दे दिया और में झड़ गई, लेकिन यह तो अब सिर्फ़ शुरुआत थी. वो बहुत देर तक मेरे दोनों बूब्स को चूसता और दबाता रहा और में गरम होने लगी. फिर उसने मेरी पेंटी को खोला और मेरी चूत को सहलाने, रगड़ने लगा और फिर अपनी जीभ से मेरी चूत को चाटने, चूसने लगा. तो मुझे बहुत मज़ा आ रहा था और मैंने उसका सर पकड़ा और अपनी चूत पर दबा दिया, वो अब मेरी चूत को चूस रहा था. फिर उसने कहा कि आज में अपनी डार्लिंग का पूरा रस पी जाऊंगा.
तो मैंने पूछा कि डार्लिंग का क्या मतलब? तो उसने कहा कि यह तुम्हारी चूत आज से मेरी डार्लिंग है और में इसे डार्लिंग कहकर बुलाऊंगा. तो वो मेरी चूत को चूसने के साथ साथ मेरे बूब्स को दबाता रहा था और कभी मेरी गांड को घिस रहा था. तो में बिना चुदवाए ही मदहोशी के शिखर पर थी और में अपनी चूत पर बिल्कुल भी कंट्रोल नहीं रख सकी और में झड़ गई.
फिर उसने मेरी चूत का सारा रस पी लिया और चूत को चाटना, चूसना लगातार जारी रखा, लेकिन अब मुझे उसका मेरी चूत चूसना फिर से आउट ऑफ कंट्रोल करने लगा और अब में अपने पैरों को पटकने लगी और में अपना खुद का बूब्स पकड़कर दबाने लगी और जब मुझसे रहा नहीं गया तो मैंने कहा कि साले हरामी केवल तड़पाएगा या अब चुदाई भी करेगा?
उसने मेरे दोनों पैरों को फैलाया और अपनी अंडरवियर को खोलकर अपने लंड को मेरी चूत पर रगाड़ने लगा और उसने मुझसे कहा कि साली आज तो में तुझे ऐसे चोदूंगा जैसे कि तू मेरी पर्सनल रंडी है.
फिर वो अपने लंड को मेरी चूत पर रगड़ने लगा और अब आखिरकार वो पल आ ही गया जब उसने अपना लंड को मेरी चूत के छेद पर रखा, मेरी कमर को पकड़ा और झटका दे दिया, लेकिन वो भी साला मेरी तरह वर्जिन था वो भी बिना किसी अन्य चुदाई अनुभव के मेरी चुदाई करने लगा.
मैंने कहा कि रूको और उसके सरिए जैसे लंड को अपने मुहं में लेकर थोड़ी देर तक चूसा ताकि वो गीला हो जाए. फिर थोड़ी देर चूसने के बाद मैंने कहा कि हाँ अब घुसाओ और उसने फिर से वैसा ही किया, लेकिन इस बार पहले झटके में उसका लंड मेरी चूत के थोड़ा अंदर चला गया और मेरे मुहं से आआहह आऐईईई भाईईईईईईई थोड़ा आराम से करो औऊह्ह्ह्ह और बस आधा ही लंड अंदर गया था, लेकिन में वर्जिन थी इसलिए बहुत दर्द हो रहा था और पता नहीं खून भी कितना निकाला, लेकिन में उस दिन के पहले तक सच में वर्जिन थी और मुझे इस चुदाई में बहुत दर्द हो रहा था, लेकिन में बिल्कुल चुप रही. मेरी आँखे दर्द के मारे नम हो गई थी. उसे शायद समझ में आ गया था कि मुझे बहुत दर्द हो रहा है तो वो थोड़ा सा रुका और मेरे बूब्स को कसकर दबाने लगा और चूसने लगा.
फिर चूसने चाटने के बाद उसने एक और ज़ोर का झटका दिया और अपने लंड को मेरी चूत की गहराईयों तक डाल दिया और उस दर्द के मारे मेरी जान निकल रही थी, लेकिन अब मुझे चुदाई का मज़ा लेना था इसलिए में चुप रही और फिर थोड़ी देर तक वो मेरे बूब्स को दबाता रहा. मेरे ऊपर लेटकर मुझे किस करता रहा और अब उसने धीरे धीरे लंड को अंदर बाहर करना शुरू किया और मुझे किस भी करता रहा और थोड़ी देर में मुझे भी मज़ा आने लगा.
मैंने अपने पैर से उसकी कमर को जकड़ लिया. अब उसने अपनी स्पीड को बढ़ा लिया और मेरी चूत पर ताबड़तोड़ धक्के देने लगा. दोस्तों में क्या बताऊँ? वो इतना अच्छी तरह मुझे चोदेगा, मुझे नहीं लगा था. वर्ना में कब से उससे चुदवा चुकी होती और आज उसने मेरी चूत की सील को तोड़कर मुझे एक पूरी औरत बना दिया था. आज में अपनी चुदाई में खोई हुई थी और वो मुझे ज़िंदगी के मज़े दिला रहा था और इधर उसका लंड मेरी चूत में तेज़ी से अंदर बाहर हो रहा था और में भी अपनी गांड हिला हिलाकर उसका साथ दे रही थी.
मेरे मुहं से सिसकियां निकल रही थी और में बोले जा रही थी कि हाँ भाई और कस कसकर हाँ और ज़ोर से चोदो मुझे और तेज़ और तेज़. तो थोड़ी देर की चुदाई के बाद ही उसने कहा कि में झड़ने वाला हूँ, लेकिन मेरी प्यास अभी भी बुझी नहीं थी तो में थोड़ी उदास हुई, लेकिन मैंने कहा कि मेरे बूब्स पर अपनी क्रीम गिराओ. तो उसने अपना सारा क्रीम मेरे बूब्स पर गिराया और फिर मैंने उसके लंड को अपने मुहं में ले लिया और चूसना शुरू किया.
तो देखते ही देखते उसका लंड फिर से सरिए की तरह मेरी चुदाई के लिए खड़ा हो गया, में भी झट से अच्छी चुदेल की तरह अपने दोनों पैर फैलाकर बेड पर लेट गई और कहा कि अब जब तू बोलेगा में ऐसे ही पैर फैलाकर तेरा बिस्तर गरम करूंगी और अब तू मुझे अपनी रखैल समझना और जब जी करे मुझे जमकर चोदनाज में हमेशा तुम्हे ऐसे ही मज़ा देती रहूंगी.
मेरे पैर फैलाने के साथ ही उसने बिना वक़्त बर्बाद किए अपने लंड को मेरी चूत पर रखा और इस बार पूरे जोश में कस कसकर चुदाई शुरू कर दी और कहा कि हाँ आज से तू मेरी रखेल है और में तुझे हमेशा चोदता रहूँगा और चोद चोदकर तेरी चूत को फाड़ दूँगा. तो मैंने कहा कि हाँ तो कर ना जो तुझे करना है. में आज तेरे साथ सब कुछ करने के लिए तैयार हूँ, मुझे भी बहुत मज़ा आ रहा था और वो भी पूरे जोश से मेरी चुदाई कर रहा था, लेकिन हमारी ऐसी बातें हम दोनों को और भी जोश दिला रही थी. फिर मैंने उससे यह भी कहा कि तुम मुझसे वादा करो कि में जब भी तुमसे बोलूँगी, तुम अपना लंड मेरे लिए तैयार रखोगे.
फिर वो थोड़ा मुस्कुराकर मुझसे बोला कि हाँ मेरी जान, यह लंड तुम्हारा ही तो है और अब तुम जब भी बोलोगी में तुम्हारी सेवा में हमेशा हाजिर रहूँगा. फिर बहुत देर तक वो मुझे चोदता रहा और वो अपने लंड को मेरी चूत के अंदर बाहर अंदर बाहर करता रहा, लेकिन में उस बीच दो बार झड़ चुकी थी और आखिरकार वो भी कुछ देर बाद मेरे साथ ही झड़ गया, लेकिन इस बार वो मेरे अंदर ही झड़ गया.
मैंने गुस्से में कहा कि क्या तू मुझे प्रेग्नेंट करेगा? उसने स्माइल देकर कहा कि गुस्सा क्यों करती हो जान कल एक गर्भनिरोधक गोली खा लेना, प्रेग्नेंट नहीं होगी. फिर हम नंगे ही एक दूसरे को बाहों में लेकर सो गये. फिर एक बार मेरी आँख खुली तो मैंने उसके लंड को बहुत देर तक चूसकर खड़ा किया और उस दिन उसने मेरी तीन बार और चुदाई की एक बार मुझे पीछे से कुतिया पोज़िशन में चोदा और दूसरी बार उसने मुझे टेबल पर लेटाया और मेरी जमकर चुदाई की और एक बार मुझे बेड के साईड में लेटाकर मेरे पैर को उठाया और फिर से चोदा.
दोस्तों इसके बाद में उसकी रांड बन गई जो उससे चुदवाने के लिए हर पल पैर फैलाने के लिए तैयार थी. दोस्तों यह मेरी पहली चुदाई थी और में इसे कभी भी भूल नहीं सकती और साथ ही साथ में इसके बाद अपने भाई के लंड की दीवानी हो गई और अब उसके लंड से चुदाई के बिना मेरी चूत की प्यास नहीं मिटती. बस आप लोग दुआ करें कि वो मुझे हमेशा चोदता रहे और मेरी रसीली चूत और मेरी जवानी का असर हमेशा उस पर रहे और वो हमेशा मेरी प्यास बुझाता रहे.

READ  आंटी की मक्खन लगाकर चुदाई दिवाली में

Desi Story

Related posts:

मम्मी की चूत और बहन के बूब्स ko Bade Landse Chodaa
मेरा पहला सेक्स अनुभव
चुदासी औरतो की अन्तर्वासना
कुंवारी बहन की चुदाई
अम्मी अब्बू और जुनेद खालू
भाभी और उसकी चुदक्कड़ सहेली
Jawan ladki ki chut me lund diya
नैना की सील तोड़ी बड़े प्यार से
वेबसाइट पर मिली दिल्ली की लड़की को पटाकर चोदा
मेरे बेटे का दोस्त सनी
मेरा दामाद मुझे चोद रहा था और मैं सोने
सेक्सी योगा टीचर की चुदाई योगा क्लास
भरपूर जवानी को बर्दास्त नहीं कर पाई
दीदी के देवर से चूत फड़वाई
गांब की ताजी हवा और बुर के पानी
खुनी चुदाई हुई मामी की चूत की
पति ने ही रंडी बनाया मुझे दिल्ली लाकर
रोक न सका फिल्म हाल में चुद गयी
मेरी पहली बीवी बनी मामी
क्या मस्त भोसड़ी थी पडोसी आंटी की
रंडी की तरह दीदी को चोदा और पैसा दिया
हॉट एयर होस्टेस को जमकर चोदा प्लेन में
माँ की बड़े पापा के साथ चुदाई करते पकड़ा
Pumped by nurse | Sex Story Lovers
A Sex Story In Plane
My Blissful Encounter | Sex Story Lovers
Pinki Bhabhi Ki Pink Pink Choot
Mami Ko Apni Jaan Bana K Choda
सुहागरात में तीन लोगो ने मुझे जम कर चोदा – एक नम्बर की रंडी की तरह हो भाभी Indian Sex Stories
मेरी रसीली चूत और दो लण्ड – मेरे मुँह में उसने अपना पानी निकाल दिया:- आयशा – Indian Sex Stories

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *