HomeSex Story

भाबी की सही चुदाई की रस्ते में

भाबी की सही चुदाई की रस्ते में
Like Tweet Pin it Share Share Email

हेलो फ्रेंड, भाभी और प्यारी आंटी. मैं रॉकी (नाम चेंज). मैं पहली बार यहाँ पर अपनी स्टोरी लिखने वाला हु. ये मेरी लाइफ का फर्स्ट सेक्स एक्सपीरियंस है. ये कहानी मेरे और पूनम (नाम चेंज) भाभी के बीच में है. मेरा नाम रॉकी है और मैं कोल्हापुर से हु और मेरी ऐज २७ इयर्स है. मैं गोरा हु और मेरे लंड का साइज़ ५ इंच और हाइट ५.७ फिट है. मुझे स्टोरीज पढ़ना बहुत अच्छा लगता है और मेचुर लेडीज में बहुत इंटरेस्टेड हु. आंटी और भाभी को ताड़ना मेरी होबी है और मैं उन्हें चोदने का मौका कभी नहीं छोड़ता. ये कहानी ४ मंथ पहले की है. जब मैं घर गया हुआ था छुट्टियों में. मैं एक आईटी पर्सन हु और जब मैं कोल्हापुर से मुंबई वापस आ रहा था तबकी है. जिस ट्रेवल में, मैं मुंबई इंटर हुआ, तो उनपर नजर गयी, मेरा लंड खड़ा एकदम से हो गया था.

वो दिखने में वो बहुत हॉट और सेक्सी लगती थी. उन्होंने रेड ब्लू साड़ी पहनी थी. उनका फिगर ३६ – २८ – ३६ था. मैं अपना सामान ऊपर रख रहा था. तब उनके बूब्स के क्लविज दिख रहे थे. उनकी सीट मेरे आगे ही थी और उसके बाजु वाली सीट पर एक लेडी थी. बाद में पता चला, कि वो अकेली ही ट्रेवल कर रही थी. मैं तो मन ही मन उन्हें चोदना शुरू कर दिया. फिर मुझे एक चांस मिला. हमारे यहाँ से जाने वाली ट्रेवल होटल में रात को खाना खाने के लिए रूकती थी. मैं उस होटल में फ्रेश होने के लिए बाथरूम में जाकर फ्रेश हो गया. पूनम भाभी अकेली ही बैठी थी और पूरा होटल ट्रेवल के लोगो से फुल हो चूका था. फिर मैं ने उनसे जाकर पूछा, क्या मैं यहाँ बैठ सकता हु, अगर आपको कोई ऐतराज ना हो. वो मुस्कुराते हुए बोली – हाँ बैठो ना. मुझे कोई प्रॉब्लम नहीं है. फिर हम दोनों ने आर्डर दिया और आर्डर आने में अभी काफी देर थी. क्योंकि लोग बहुत सारे थे. तो मुझे एक चांस मिल गया और उनके पास जाने का. तो मैंने उनसे बातें करना शुरू कर चालू हो गया. फिर मैंने पूछा – आप कहाँ से हो? वो बोली – मैं गुजरात से और मैं गांधीनगर (कोल्हापुर) में मेरे भाई के पास गयी थी. मैंने पति और मैं मुंबई में रहते है.

READ  मैने चोदा रे बहन को

फिर उन्होंने मुझसे पूछा, कि मैं कहाँ से हु. मैंने उन्हें बताया, कि मैं कोल्हापुर से हु. फिर खाना खाने के बाद, मैं और वो ट्रेवल में वापस जाकर बैठ गए. लगभग पुणे के पास आते ही दूसरी लेडी बाईपास पर उतर गयी. फिर पूनम भाभी अकेली ही बैठी थी. तो उन्होंने मुझे कहा, कि अगर मैं आपको डिस्टरब नहीं कर रही हु और अगर आप को कोई ऐतराज़ ना हो, तो आप मेरे बाजु वाली सीट पर आकर बैठ सकते हो. मैंने मुह में तो पानी आ गया और तभी मैं उस ट्रेवल को बुलाकर बताया, कि मैं आगे बैठना चाहता हु, ये मेरे पहचान की है. वो स्माइल करके मेरी ओर देखा. पूनम भाभी ने भी कहा, कि मैं उनका पहचान वाला हु. तो उस ट्रेवल वाले ने परमिशन दे दी. थोड़ी देर बाद हम बातें करते रहे. तब मैंने उनकी लेग को टच किया हुआ था. वो कुछ भी नहीं बोल रही थी. तो मैं थोड़ा सा अन्दर की ओर सरक गया. हमारी बातें चल रही थी. तभी उन्होंने बताया, कि उनके पति उनकी तरफ जयादा ध्यान और समय नहीं दे पाते है. फिर मैं ने उन्हें समझाया और कहा – दूकान में बिजी होने की वजह से आपको टाइम नहीं दे पाते होंगे.

फिर मैंने उनसे पूछा, कि आप फेसबुक और व्हाट्सऐप करते हो क्या? मैंने उनका नंबर ले लिया और अपना नंबर भी दे दिया. थोड़ी देर में सब सो गए और तभी ट्रेवल वाले ने सारी लाइट बंद कर दी. फिर मैं ने पूनम भाभी के हाथो को टच किया. ४ – ५ ऐसे ही होने की वजह से मैं समझ गया, कि उसको इनसब बातो से कोई ऐतराज़ नहीं है. फिर मैंने सोने का बहाना किया. तो उन्होंने मेरा हाथ बाजु में कर दिया और कुछ भी नहीं बोली.

READ  चोदु चाची की चूत फाड् चुदाई हुई

मैंने एक बार और हाथ रख दिया. उस टाइम उन्होंने मेरा हाथ नहीं हटाया. मेरा लंड खड़ा हो चूका था. उन्होंने नोटिस कर लिया था और ये भी जान चुकी थी, कि मैं सोया नहीं था. फिर उन्होंने अपने बेग से कम्बल निकाला और ओड कर मेरा हाथ अपने बूब्स पर ले लिया. उन्होंने ब्लाउज के पुरे हुक खोल दिए और अपने बूब्स को बाहर कर दिया. मुझे भी कम्बल में लेकर मेरे पेंट में हाथ डाल कर मेरे लंड को सहलाने लगी. मैंने भी उनकी ब्रा के हुक को खोल दिया और बूब्स से सैट से खेलने लगा. फिर मैंने धीरे से उनकी पेंटी में हाथ डाल के सहलाने लगा… क्या गरमी थी वहां…

फिर मैंने पूनम भाभी का पेंटी निकालने की कोशिश की. वो ना बोलने लगी, कि यहाँ पर बहुत लोग है और देख लेंगे. मैंने कहा – कोई नहीं देखेगा. मैंने उनकी पेंटी को ट्रेवल में ही निकाल दिया और अपनी जेब में डाल ली और उन्हें नीचे से पूरा नंगा कर दिया. वो बहुत गरम हो चुकी थी. वो मेरे लंड से खेल रही थी और मैंने भी उनकी वेर्जिना में अपनी फिंगर डाल दिया था और मजा ले रहा था. तभी हम मुंबई पहुच गए. फिर बाहर ही एक होटल में हम दोनों गए और हस्बैंड – वाइफ कह कर हमने होटल में एक रूम ले लिया था. वहां जाते ही, पूनम भाभी पूरी नंगी हो गयी.. वो पहले ही आधी नंगी हो चुकी थी. उन्होंने मेरे लंड अपने मुह में लेकर १५ – २० मिनट तक पूरा सक कर लिया और बाद में मैंने उन्हें २ घंटे तक भाभी को हद पोज में चोदा और उनकी गांड की विर्जिनिटी भी मैंने ही ली. मैंने उनकी ब्रा और पेंटी मेरे पास रख ली और वो वेसे ही तैयार हो गयी.

READ  बेस्ट फ्रेंड ने चुदवाया

उसके बाद, हम दोनों अपने – अपने घर चले गये और अब हमे जब भी मौका मिलता है. हम चुदाई करते है. तो दोस्तों, ये थी मेरी कहानी जब मैंने पूनम भाभी को ट्रेवल में पटाया और उनकी मस्त चुदाई करके उनको घर भेजा.

Desi Story

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *