भाभी की सीक्रेट सेक्स की इच्छा

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम शुभम है और में बिहार से हूँ. ये स्टोरी मेरी और मेरी भाभी के बीच की है जिनको मैंने 1 महीने पहले चोदा है. भाभी का नाम सौम्या है और भाभी का फिगर 34-30-36 है, जिस टाईम मेरे भैया की शादी हुई थी उस टाईम में 8 साल का था और तब से आज तक भाभी बिल्कुल नहीं बदली बल्कि और सेक्सी हो गयी है, चलो और लेट ना करते हुए अब में सीधे स्टोरी पर आता हूँ.

ये बात जनवरी की है, जब भैया भाभी घर आए थे (हाँ भाभी के एक बेटा है जो कि 8 साल का है) जब में भाभी को स्टेशन लेने गया, तब मैंने उन पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया क्योंकि तब मेरे मन में उनके लिए ग़लत सोच नहीं थी.

फिर एक दिन भाभी सुबह-सुबह नहाकर अपने बेडरूम में कपड़े पहन रही थी, लेकिन उन्होंने ग़लती से दरवाज़ा बंद नहीं किया था और जैसे ही में अंदर गया तो में देखकर हैरान हो गया, जब भाभी ने ब्रा नहीं पहन रखी थी और मेरी नज़र सीधे उनके बूब्स पर ही गयी और में उन्हें देखता ही रह गया. फिर अचानक भाभी ने ज़ोर से बोला, तो में बाहर चला गया.

उस दिन मैंने 3 बार मुठ मारा और में पूरे दिन उस सीन के बारे में ही सोचता रहा. फिर जब शाम को हम सब एक साथ बैठे तो मैंने शर्म से भाभी की तरफ एक बार भी नहीं देखा. फिर भाभी ने मुझसे बोला कि शुभम दिन में तुमने जब मुझे देखा तो तुरंत वापस क्यों नहीं गये? तो में भाभी को सॉरी बोलने लगा, हाथ जोड़ने लगा, क्योंकि मुझे लगा कि भाभी मम्मी से बोल देगी, लेकिन भाभी ने एक स्माइल दिया और बोली कि कोई नहीं ये तुम्हारी ग़लती नहीं है, इस उम्र में अक्सर ऐसा होता है.

फिर भाभी ने मुझसे अचानक पूछा कि तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है? तो मैंने बोला कि नहीं भाभी मेरी ऐसी किस्मत कहाँ. फिर भाभी बोली कि इसमें किस्मत की क्या बात है? फिर भाभी ने पूछा कि क्या तुम वर्जिन हो? तो में चुप रहा. फिर भाभी बोली कि बोलो भी, तो मैंने बोला कि हाँ भाभी, लेकिन में वर्जिनिटी तोड़ना चाहता हूँ और वो भी किसी ऐसी लड़की के साथ जो बिल्कुल आपकी जैसी हो.

READ  ट्रेन में मम्मी की चुदाई

भाभी ने मुझसे बोला कि तुम मेरे लिए ऐसा सोचते हो, तो मैंने बोला कि नहीं भाभी. अब मुझे लगा कि भाभी बुरा मान गयी है मगर वो मुस्कुरा भी रही थी और ये मेरे लिए ग्रीन सिग्नल था. फिर मैंने झट से बोला भाभी आई लव यू, तो भाभी ने बोला कि सॉरी अब नहीं क्योंकि अब मुझ पर केवल तुम्हारे भैया का अधिकार है, तो में उदास हो गया. फिर भाभी ने स्माइल किया और में समझ गया और मैंने सोच लिया कि आज तो इसे कैसे भी करके चोद के रहूँगा.

फिर मैंने भाभी से पूछा कि भाभी एक बात पूंछू तो वो बोली कि हाँ पूछो. फिर मैंने बोला कि भाभी आप कब तक वर्जिन थी? तो भाभी ने कुछ नहीं बोला और 2 मिनट के बाद वो बोली कि शादी से पहले मैंने अपने बॉयफ्रेंड के साथ 2 बार सेक्स किया था और मैंने बोला कि ओह्ह्ह आप भी बहुत पहुंची हुई चीज़ थी तो भाभी ने एक और सेक्सी सी स्माइल दी. फिर मैंने भाभी से बोला कि भाभी कोई आपकी नज़र में हो तो बताओं में भी वर्जिनिटी लूज करना चाहता हूँ. फिर वहाँ बड़े पापा आ गये तो भाभी वहाँ से उठ गई.

अगले दिन घर में कोई नहीं था, केवल में, भाभी और भाभी का बेटा था और जब दिन के 2 बज रहे थे, तब भाभी टी.वी देख रही थी. फिर में वहाँ गया तो भाभी बोली कि आओ बैठो, तो मैंने बोला कि भाभी कोई मिली क्या? तो वो बोली नहीं और मैंने अचानक से पूछा कि भाभी आप भैया से खुश तो हो ना, तो भाभी दुखी सी हो गयी. फिर मैंने बोला कि भाभी क्या हुआ? तो भाभी बोली कि खुश रहती तो एक ही बच्चा होता क्या? फिर मैंने भाभी का हाथ पकड़ा और भाभी को हग किया, क्या फिलिंग थी वो? रुई जैसे बूब्स की.

READ  My fiance took my boss’s cock

फिर मैंने भाभी से बोला कि भाभी में आपको प्यार करना चाहता हूँ, तो भाभी बोली कि ये क्या बोल रहे हो? तो मैंने बोला कि सॉरी, लेकिन ये सच है और फिर भाभी वहाँ से चली गयी. फिर अगले 2 दिन तक भाभी ने मुझसे बात नहीं की. फिर तीसरे दिन मैंने भाभी से बोला कि भाभी आई एम सॉरी में आपको दुखी नहीं करना चाहता था, तो भाभी बोली कि इट्स ओके.

अब में समझ गया और मैंने भाभी को एक ज़ोर से हग किया और गर्दन पर किस किया. अब भाभी मदहोश होने लगी थी और बोली कि चल बेडरूम में चलते है यहाँ कोई देख लेगा. फिर हम जल्दी से बेडरूम में गये और दरवाजा अंदर से लॉक किया, अब अंदर जाते ही मैंने भाभी को स्मूच करना शुरू कर दिया. अब भाभी भी मेरा पूरा साथ दे रही थी, फिर धीरे-धीरे मैंने भाभी की साड़ी खोली, अब वो केवल पेटीकोट और ब्लाउज में थी.

फिर मैंने एक-एक करके उसके पूरे कपडे उतार दिए और केवल पेंटी को रहने दिया. फिर भाभी ने अपने बूब्स दोनों हाथों से ढक लिए और बोली कि नहीं ये ग़लत है, लेकिन अब में कहाँ सुनने वाला था. फिर मैंने उनकी पेंटी उतारी और उनकी चूत में उंगली करना शुरू कर दिया. अब भाभी मदहोश होने लगी थी, अब वो भी मेरा साथ देने लगी और एक-एक करके मेरे भी पूरे कपडे उतार दिए.

फिर हमने करीब 5 मिनट तक स्मूच किया, फिर मैंने उनकी चूचीयां दबाई और उनके बूब्स का दूध पिया. फिर मैंने उनकी चूत पर किस किया तो भाभी को एकदम से करंट लगा और चिल्लाने लगी शुभम हाँह्ह्ह्हह ऐसे ही और बोल रही थी कि आआअज तक तुम्हारे भैया ने ऐसे कभी नहीं किया है. अब वो मेरा सिर अपनी चूत पर दबा रही थी और अचानक से अकड़ सी गयी, फिर उन्होंने अपना सारा पानी मेरे मुँह पर छोड़ दिया और फिर में भी उनकी चूत का पूरा पानी पी गया.

READ  दो बुर की प्यास बुझाई मेरी लंड ने

फिर थोड़ी देर के बाद हम 69 पोज़िशन में आ गये, अब वो मेरा लंड चूस रही थी, आह क्या फिलिंग थी? अब में बहुत गर्म हो गया था, अब में उनकी चूत चाट रहा था. उनकी चूत पर हल्के-हल्के से बाल थे. फिर भाभी एक बार और झड़ गयी और फिर मैंने पूरा रस पी लिया. अब भाभी ज़ोर-ज़ोर से बोलने लगी कि अब डाल दो सहा नहीं जा रहा है. फिर में तुरंत उनके हुकुम का पालन करने लगा, फिर मैंने अपना लंड उनकी चूत पर रखा और रगड़ने लगा. अब भाभी मदहोश हो रही थी और बोल रही थी कि साले चोद मुझे, फाड़ डाल मेरी चूत को.

फिर मैंने एक ज़ोर का धक्का मारा, तो भाभी ज़ोर से चिल्लाई और मैंने झट से उनके मुँह पर अपना मुँह रखा ताकि कोई सुन ना ले और फिर लगातार अपनी गाड़ी चलाने लगा. अब भाभी चिल्ला रही थी, इतने दिन से कहाँ था? डालल्ल्ल्ल आहह एयर तेजज़्ज़्ज औरररर तेजज़्ज़्ज, फिर भाभी अकड़ गयी और तीसरी बार झड गयी. अब में भी झड़ने वाला था और मैंने भाभी से पूछा कि भाभी कहाँ निकालूं? तो भाभी बोली कि मेरे अंदर ही छोड़ दे. फिर में भी झड़ गया. फिर उस दिन हमने 3 बार सेक्स किया और फिर ज़ब तक भाभी थी तब तक मैंने सेक्स किया.

Aug 8, 2016Desi Story

Content retrieved from: .

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *