HomeSex Story

भोसड़ी फाड़ चुदाई मामियों के साथ हुई

भोसड़ी फाड़ चुदाई मामियों के साथ हुई
Like Tweet Pin it Share Share Email

नानी के घर अपनी दो मामियो के साथ अकेला था. में अपनी बड़ी मामी को पहले ही चोद चूका हूँ.  दोनों मामियो के बिच लड़ाई थी और दोनों एक ही घर में अलग अलग रहती थी. बड़ी मामी तो रात में चोदने को तैयार ही रही बट में छोटी मामी को भी चोदना चाहता था.मेने प्लान के मुताबिक बड़ी मामी को ये कहा की छोटी मामी की नंगी फोटो उनको दूंगा. अगर उन्होंने इसमें मेरा साथ दिया. बड़ी मामी तैयार हो गयी और मेने छोटी मामी को भी अपने साथ रात में एक ही कमरे में सोने के लिए तैयार कर लिया. मेरी छोटी मामी बड़ी मामी से ज्यादा मस्त थी उनका फिगर स्लिम था और वो फैर भी थी.

सब लोग लाइट ऑफ करके लेट गए हाफ ऑवर के नाद मेने अपना काम सुरु किया. बड़ी मामी तो तैयार ही थी और और में उनके मजे कर चूका था अब छोटी मामी की बारी थी दोनों मामी मेरी तरफ बेक करके अपने नेते की तरफ मुह करके लेटी थी.

मेने छोटी मामी की तरफ हाथ बढाया तो एक मिनट के बाद उनकी बोदीटच हुई. फिर अँधेरे में ही धीरे धीरे उनके चुतरो तक हाथ ले गया. पहले दूर से ही महसूस किया उनके चुतर एक दम तर्बज की तरह थे. फिर मेने धीरे से उनके चुतर को हाथ लगाया. मुझे बड़ी मामी के चुतर याद थे. उनके चुतर बहुत सॉफ्ट एक दम रु जेसे थे. छोटी मामी के चुतर हार्ड थे. छोटी मामी गाँव की गोरी थी. एक दम मजबूत सरीर वाली.

उनके चुतारो पे में हाथ फेरने लगा. उनके पुरे चुतारो पे में हाथ फेर रहा था उन्होंने चड्डी नहीं पहनी थी. मेने उनके चुत्रो की दरार में ऊँगली डालते हुए उनकी थाई तक गया मामी सो नहीं रही थी बट रेसिस्ट नहीं कर रही थी. उन्हें लगा की में बस टच करके सो जाऊँगा. और वो बड़ी मामी किसीसे कुछ कह ना दे इसी लिए भी चुप चाप थी. उन्हें क्या पता था की ये सब बड़ी मामी की मदद से ही हो पा रहा था. मेने अब उनके पेटीकोट के साथ अपनी ऊँगली गुमाई और साड़ी को पेटीकोट से अलग कर दिय था अब वो केवल पेटीकोट में थी और अगले ही मिनट में उनके पेटीकोट का नाडा खुल गया वो चुप चाप उठ के बात रूम में चली गयी.

उसके जाते ही में और बड़ी मामी अपने अंडरगारमेंट्स में आ गए और नाईट बल्ब जला दिया वो लौट के आई तो देखा की में और बड़ी मामी केवल चड्डी बनियान ब्रा में है वो एक दम सिक हो गयी. वो अपने कमरे में जाने लगी तो मेने उसको पकड़ लिया और कहा की आज वो छोड़ेगी जरुर अब उसका मन हे वो बी मजा ले या फिर केवल फैक का सीकर हो. और ये भी कहा की इसकी कोई बात नहीं मानेगा. क्युकी बड़ी मामी तो खुद ही चोदने जा रही थी.

READ  Ankita ko asli lund se chudwa ke maza aaya

अब दोनों मामी चोदने के लिए तैयार थी. मेने दोनों से कहा की चलो आज कॉम्पीटेसन कर ले दोनों में से जो जीतेगा वो बड़ा हो जाएगा वो पूछने लेगी कौन सा मेने कहा सेक्स कॉम्पीटेसन फिर में केवल चड्डी में और वो दोनों ब्रा और पेंटी में तैयार हो गयी.

सबसे पहला राउंड था ;एंड चाटने का जो पहले मुझे जड़ेगा वो जित जाएगा. लेकिनं ब्लो जिब से चोदना था छोटी मामी ने कहा वो मुह में नहीं लेगी. तो मेने और बड़ी मामी ने उनके हाथ पकडे और और फिर उनके जद्बे में दबाव दे कर उनका मुह खोल कर उसमे अपना लंड घुसा दिया और आगे पीछे करने लगा. २ मिनट के बाद उनहे भी मजा आने लगा. और वो बोली अरे ये तो एक दम लोली पॉप की तरह हे.

वो अगले चार मिनट तक चुस्ती रही. और उसके बाद में जड़ गया. उन्होंने पूरा का पूरा अपने मुह में ले लिया. मेरे लंड पर एक दम लार लार ही थी उनकी. अब बारी बड़ी मामी की थी वो इसमें एक्सपर्ट थी मेरी बड़ी मामी सेक्स की देवी हे. उन्होंने सब से पहले अपनी टांगो से मेरे लंड की टिप को छुवा फिर लंड की टॉप के साथ टुंग की टिप टिप को घुमाने लगी.फिर धीरे से लंड को मुह में लिया.

वो अलग अलग से चूस रही थी. एसा लग रहा था की लंड ले हरक वब का रस पीना हो उनके मुह में में करीब तिन मिनट में जड़ गया. बड़ी मामी जित गयी अगले राउंड में मेने उनकी चूत को अपनी जिब से चाटा सबसे पहले मेने चूत के बाहरी होटो को टुंग की टिप से ओपन किया फिर काफी देर तक गोल गोल बहार ही गुमाता रहा. फिर उनकी चूत में जिब डाल दी बड़ी मामी की चूत एक दम चिकनी सेव की थी और और छूती मामी की चूत में मुलायम बाल थे चिकनी चूत की वजह से मेने बड़ी मामी की चुसाई अच्छे से की और वो ज्यादा जल्दी जड़ गयी.इस राउंड में छोटी मामी जित गयी. अब दोबो को अग्र्मे मजा आ रहा था.

अगले राउंड में चूची फुलाना था पहले मेने बड़ी मामी के ब्लाउज खोल दिए. उनका साइज़ ३६ बी था. में अपने लंड को उनके नावेल बटन के अप्प पास घुमा रहा था. फिर वह से बोदी पे रगड़ते हुए सीधे चुचे के बिच में ले गया और बूब्स के किबारो में घुमाने लगा उनका सरीर मेरे लंड की महक से महकने लगा.

फिर मेने हाथ से धीरे धीरे उनके निपल्स से खेलने लगा. उनके चुच्ये एक दम खरबूजे की तरह हो गए थे. अब उनका साइज़ ४१ हो गया था इसके बाद मेने छोटी मामी के साथ भी एसा ही किया उनके बूब्स ३० थे लेकिन बाद में ३८ हो गए और वो जित गयी. बड़ी मामी बहोत सी चोदासी हो रही थी अपनी चूत में बहुत तेजी से ऊँगली करने लगी और कहने लगी तन्नु ये गेम ख़तम कर चल अब चोदाई करते हे.

READ  सोनिया मेडम की मस्त चुदाई

मेने कहा ठीक हे छोटी मामी दो राउंड जीती हुई वो जित जायेंगी वो गेम बढ़ने के लिए तैयार हो गयी. मेने भी जल्दी ही गेम ख़तम करने की सोची और बेक्स्त राउंड में दोनों से अपने लंड को ज्यादा बड़ा करने को कहा. छोटी मामी लंड को हाथ में ले के हिलाने लगी फिर उसने बादाम का तेल लंड में लगाया और अपने लम्बे बालो के बिच लंड ले के मसल ने लगी. लंड लम्बा हो रहा था उसके बाद उसने अपनी चूत के बड़े लंड को चारो तरफ घुमाया. और खुस की गांड को लंड की टिप से टच करने लगी और लास्ट में अपने आर्म्स पिट्स के बालो में लंड छुपाके हिलाने लगी मेरा लंड पूरा ६ इंच का हो गया था. अब बड़ी मामी की बारी थी सबसे पहले उन्होंने मेरे लंड में लगे तेल को धोया और तिस्यु से साफ़ किया फिर अपने मुह का खूब सारा थूक लेके तुंग से मेरे लंड की चारो तरफ लगाया. इसके बाद अपने बड़े बड़े बूब्स से प्रेस करने लगी.

मेरा लंड अपने पुरे तुफान में आ गया. फिर उसने और थूक लगाया और लंड की टिप अपनी आँखों के बराबर ससे ऐसे एसे घुमाने लगी जेसे के काजल लगा रही हो अब मेरा लंड ६ इंच से ज्यादा लम्बा हो गया था और इस राउंड में वो जित गयी थी.

खेल बराबर पे था और मेरा लंड एक दम तनतनाय था. सो मेने फाइनल राउंड में दोनों की गांड में लंड डालने को कहा. और जिसकी गांड में पहली बार में ज्यादा नादिर जाएगा वो जित जाएगा. दोनों ने कभी भी गांड में नहीं डलवाया था. वो मना करने लगी मेने कहा ठीक हे फिर कोई नहीं जीतेगा. बड़ी मामी बोली ठीक हे तन्नु ठीक हे लेकिन आराम से गांड फट जायेगी. तो मामा को क्या बताउंगी की केसे फटी हे.

पहले मेने छोटी मामी की गांड में लंड डाला हाथ से उनका होल बड़ा किया और एक दम से लंड घुसेड दिया. वो एक दम चीख पड़ी हाय दिया रे मार डाल्ला मादर चोद ने उसकी गांड बहोत टाइट थी मेरा केवल ४ इंच ही अन्दर अन्दर गया दूसरी बारी बड़ी मामी की थी उनकी गांड में हाथ लगते ही जन्नत की फिलिंग आ जाती हे.

उनका छेद फेला के लंड अन्दर डाला लंड तुरंत पूरा का पूरा लंड अन्दर चला गया. और वो जित गयी. अब दोनों मामी बहोत चोदैसी थी उनकी आपस की लड़ाई कहा ख़तम हो गई थी जेसे में सोंच रहा था सेक्स भी कितनी बड़ी चीज हे दो फेमिली की लड़ाई ख़त्म करा सकता हे.मेने बड़ी मामी की गांड से अपना लंड नहीं निकाला और धक्के मारने लगा. पहले तो वो बोली ये क्या कर रहे हो. मेने कहा आप बस मजे लो वो मस्त होने लगी और में धक्के मारने लगा.

READ  कोलेज की रंडियां

वो दूसरी मामी से बोली संध्या.. मेरी चूत चाट बड़ी मामी चार पैर पे (डौगी स्टाइल में) थी. छोटी मामी उनकी चूत चाटने लगी. दोनों एसे थी जेसे कोई माँ अपने दूध पिला रही हो. बस अंतर ये था की यहाँ दूध की जगह चूत थी. छोटी मामी की चुत्तर बड़ी मामी की तरह थे वो उनको चाट रही थी. छोटी मामी बोली दीदी आप तो बहोत अच्छे से चुत्तर चाटती हे.

वो बोली जब हम छोटे थे तो में और बाकी कजिन एसे ही खेलते थे. और बाहर जब टट्टी करने जाती थी तो बस टिस्यू से पूछ लेते थे. और एक दुसरे की चाट के साफ़ करते थे. १५ धक्को के बाद में छोटी मामी के पीछे जाके लगा. वो एक दम पलट के बोली तन्नु मेरी गांड मत मारो मुझे बहोत दर्द होगा. मेरी गांड दीदी की तरह मुलायम नहीं हे. मेने उसकी एक नहीं सुनी और उसकी गांड में धक्के मारने लगा. वो जोर जोर से चीखने लगी. बड़ी मामी बोली संध्या तू तो एसे चिल्ला रही हे जेसे आज पहली बार चोद रही हे.

थोडा सबर कर अभी मजा आएगा छोटी मामी का चिल्लाना बंद नहीं हुआ तो उन्होंने अपने निपल उनके मुह में घुसेड दिए. जब मेरा मन छोटी मामी से भर गया तो मेने अपना लंड बड़ी मामी की चूत में डाला अब्ब हम तीनो आराम से लेटे थे. में बड़ी मामी की चूत में डाल रहा था. और वो छोटी मामी की चूत की चूत को उंगलियों ससे और टुंग से मजा दे रही थी.करीब १५ मिनट बाद बड़ी मामी थक गयी और बोली तन्नु बस कर अब.

संध्या को भी मजा करा दे. इतबा कहते कहते उसने पानी भी निकाल दिया. अब में छोटी मामी की चूत में अपना हथियार डाल रहा था. बिच बिच में रुकने से में झड नहीं रहा था, और ज्यादा देर तक चोद पा रहा था. ये टेक्निक उसी दिन पता चली मुझे.

में संध्या मामी की चूत में डालने लगा. और खूब तेज झटके मारने लगा. ओह बड़ी मामी आप एक दम रंडी हो और आज आपने मुझे भी रंडी बना दिया. बड़ी मामी बोली तू सती सावित्री हे मजा तो बड़े मन से ले रही हे. छोटी मामी बोली अब कुछ फ्री में मिल रहा हो तो कोई मौका जाने थोडा ही देता. हे..? और दोनों हसने लगी छोटी मामी की चूत एक दम टाइट थी मुझे उनसे ज्यादा मजा आ रहा था.

१५ मिनट बाद उनका भी पानी निकलने लगा था.. में भी झड़ने लगा था मेने कहा किस्मे झाड़ू….छोटी मामी बोली मेरी चूत में मत झाड़ना बड़ी मामी बोली इस रंडी की चूत में मत झाड़ना उसके मुह में झड. में छोटी मामी के मुह में झड दिया. इसके बाद तीनो ने चड्डी पहनी और दोनों मुझसे लिपट के सो गयी.

Desi Story

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *