माय वाइफ विद फ्रूट सेलर

हाई, मेरा नाम राजेश है और मैं सूरत से बिलोंग करता हु. मेरी उम्र ३२ साल है और मेरी वाइफ २८ की है. मेरी वाइफ बहुत ही सूंदर है और उसकी फिगर ३६ २४ ३६ है. वो एकदम गोरी और सेक्सी भी है. चलिए अब मैं स्टोरी पर आता हु.

ये बात आज से २ साल पहले की है. मैंने अपने बचपन में अपनी मम्मी को अपने को अपने मकानमालिक से करवाते हुए बहुत बार देखा था. इसी वजह से मुझे सेक्स करते हुए देखने का बड़ा शौक था बचपन से ही. चार साल पहले मेरी शादी हुई सेजल से. मैं जब भी सेजल के साथ सेक्स करता था, तो उसे दूसरे के लण्ड के बारे में बोलते हुए करता था. शुरुआत में तो वो मना करती थी, लेकिन फिर वो मान गयी. एक दिन हम सब्जी लेने गए थे, तो वहां फ्रूटवाला बहुत ही सूंदर और हट्टा – कट्टा था. मेरी बीवी भी उस से फ्रूट खरीदने गयी. जब बीवी झुक कर फ्रूट देख रही थी, तो वो फ्रूट वाला मेरी बीवी  बाहर झांकते हुए बूब्स और उसके नेवल को घूर रहा था. मैंने ये देख लिया था और बीवी ने भी नोटिस कर लिया था.

फिर वो देखते – देखते अपने लण्ड को अंदर से ही खुजला रहा था. उसको ऐसा करते देख कर मेरी बीवी भी मस्ती में आ गयी और वो जानबूझकर झुकने लगी. ताकि वो उसकी बूब्स को देख सके और मेरा लण्ड खड़ा हो जाए. फिर हम दोनों घर वापस आ गए. मैंने घर वापस आते ही अपनी बीवी की चूत को चाटा और उसे जोर से चोदने लगा. उस फ्रूट वाले का नाम वसीम था. मैंने उसको बोला, तुम सोचो; जैसे मैं नहीं तुमको वसीम चोद रहा है. वो भी अब मुझ से फुल मजे में चुदवाने लगी. वो गन्दी – गन्दी गलिया बक रही थी. हम दोनों एक दम जोरकी चुदाई कर रहे थे. १५ मिनट के बाद हम दोनों ही ठन्डे हो गए. वसीम के नाम पर हम ने १ – २ ऐसे ही सेक्स के मजे लिए. मेरी वाइफ मेरे प्रति बहुत ही ईमानदार थी, इसलिए वो कभी भी मेरे सामने अपनी इच्छा जाहिर नहीं होने देती थी. मुझे पता था, कि वसीम उसको पसंद आ गया है और वो उस चुदवाना चाहती है. इसलिए मैंने एक प्लान बनाया.

एक दिन मैंने वसीम को फ्रूट का आर्डर दे कर कहा, कि मेरे घर पर पंहुचा दो. फिर मैंने अपनी वाइफ  को कहा, आज तुम रात में सेक्सी ड्रेस जो पहनती हो.  पहनना और पुरे दिन ऐसे ही घूमना. मेरी वाइफ की उस ड्रेस में एक छोटी ब्रा और बहुत ही पतली सी पेंटी है. दोपहर को कोई १:३० बजे उस वसीम ने डोरबेल बजायी और मेरी वाइफ भूल गयी, कि वो लिंगेरी में है. उस ने झटके में ऐसे ही दरवाजा खोल दिया. वसीम उसको देख कर चौक गया और वो उसको ऐसे ही देखता रहा. उसकी आँखे एकदम फैल गयी थी, जैसे उसने किसी जन्नत की हूर को देख लिया हो. मेरी वाइफ के गोरे बूब्स और गोरी एस, गोरा पेट सब देख कर उसका लण्ड एकदम से कड़क हो गया था. उसने लुंगी पहनी हुई थी. उस लुंगी में से बाहर निकलते हुए लण्ड को मेरी वाइफ ने नोटिस कर लिया और उसकी चूत में से पानी चु गया. वो वसीम से शर्मा रही थी.

READ  पडोसी आंटी की गांड और चूत की धुलाई

फिर उसे याद आया, कि वो सिर्फ ब्रा और पैंटी में है. वो एकदम से डर गयी और अंदर आ गयी. उसने एकदम से दरवाजा बंद कर दिया और वसीम के आने का रीज़न पूछा. वसीम ने बोला, कि साहिब ने मुझे फ्रूट का आर्डर दिया था. वो समझ गयी, मैंने क्यों उसको ब्रा और पेंटी में रहने को कहा था. फिर उस ने मुझ से पूछा? तो मैंने मुस्कुराते हुए वसीम को अंदर बुला लिया और मेरी वाइफ को पानी लाने को कहा.  जैसे ही वो पानी लाने गयी, वसीम का मुंह खुला ही रह गया.

फिर मैंने सेजल को उसके और मेरे बीच में बैठने को कहा. वो बैठ गयी. फिर मैंने धीरे से अपना हाथ उसकी जांघ पर घूमना शुरू किया और वसीम से हाल चाल पूछता रहा. वो सिर्फ मुझे ही देख रहा था. फिर मैं भी धीरे से वसीम को पूछा, कैसी लगी मेरी बीवी? तो वो बोला, बहुत ही सेक्सी है. ये सुनकर मेरा तो लण्ड खड़ा हो गया. फिर मैंने उस से कहा, क्या तुम छूना चाहते हो? इतना सुनते ही झट से उसने अपना हाथ मेरी बीवी की जांघ पर रख दिया.

फिर वसीम ने धीरे से उसके बूब्स पर हाथ रख दिया और दबाने लगा, मानो कि जैसे वो समझ गया हो. कि हम क्या चाहते है. तो फिर उसने धीरे वाइफ के बूब्स को दबाने लगा और मेरी वाइफ भी मोअन करने लगी…. आआआआआ अहहहहहह… जोर से दबाओ ना… ऐसा कहने लगी वो. वो बिलकुल भूल गयी थी, मैं उसके पास में ही बैठा हु. वो अब पुरे मूड में आ गयी थी और वसीम ने डायरेक्ट अब उसको किस करना शुरू कर दिया था. फिर धीरे से उसकी पैंटी के ऊपर से उसकी चूत को चाटने लगा. मेरी वाइफ मस्ती में मदहोशी में मोयन कर रही थी रहाआआआ अहहहह… और करो वसीम… ऐसे ही करते रहो…. मजा आ रहा है…. वसीम प्लीज जरा और जोर से चाटो ना.. अाहहहह आआआआ….

READ  अनजान लड़की की बुर का पानी

फिर वसीम ने चाटना जैसे ही बंद किया, मानो कि मेरी वाइफ की हवस का भूत बाहर आ गया. मैंने उसकी जुबान से ऐसे शब्द पहले कभी नहीं सुने थे. वो उसके मुंह को हटते ही बोली – भोसड़ी के बंद क्यों किया चाटना? वसीम डर गया और धीरे से बोला – मैडम जी आपकी तड़प मिटाने के लिए. फिर मेरी बीवी बोली – चूतिये चूस ना मेरी चूत को. वसीम ६९ करना चाहता था. वो मेरी बीवी के चूत को चाटने के साथ अपने गंदे लण्ड को, जिसमे से इतनी बदबू आ रही थी चुसवाना चाहता था मेरी बीवी से. मैंने उसको कहा, जा पहले अपने लण्ड को धो कर आ. लेकिन, मेरी बीवी ने उसको मना कर दिया और उसके गंदे लण्ड को ऐसे ही मुंह में ले लिया. वो बोल रही थी, क्या मस्त लण्ड से तेरा! वूव… मस्त कटा हुआ लण्ड है तेरा। फिर उसने वसीम को उसकी चूत चाटने को फ़ोर्स किया. जैसे ही वसीम ने उसकी चूत पर मुंह लगाया, वो तो एकदम से पागल हो गयी.

मेरी बीवी बोली – चूस मेरी चूत को मस्त चूस. चूस ले भोसड़ी के, एकदम मस्त गोरी करारी चूत मिली है तुझे चूसने को…. आआआ आआआह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् ऊफुफुफुफुफ… साले चूस ले. वाओ… क्या मस्त लण्ड है तेरा. इतना बड़ा, मजा ही आ गया. उसने फिर उसके लण्ड से साड़ी गंदगी साफ़ की और उसका सारा कम मेरी वाइफ ने अपने मुंह में ले लिया. वसीम का सारा कम निकल गया था, जो मेरी बीवी ने अपने मुंह में ले लिया था फिर भी वो उसके लण्ड चूसे जा रही थी. थोड़ी ही देर में वसीम का लण्ड फिर से खड़ा हो गया. ये देख कर उसको भी जोश आ गया और उस ने जोर से अपना लण्ड मेरी चूत में डाल दिया और मेरी बीवी को गालिया देकर कहने लगा – मादरचोद साली कुतिया, हरामी रंडी. अपने पति के सामने चुदवा रही है और मुझे गलिया दे रही है. ले मादरचोद अब तू ले मेरा लण्ड और वो मेरी बीवी को और भी जोर से ठोकने लगा. मेरी बीवी अहहहह अहः… आआआआआआ करती हुई सिसकारियाँ मार रही थी और बोल रही थी प्लीज धीरे से…

फिर मेरी बीवी ने मेरे लण्ड को अपने मुंह में ले लिया. मुझे अपनी बीवी के इतनी हवस का पहली बार पता चला था. मुझे नहीं पता था, कि वो इतनी सेक्सी है. उसने मेरी बीवी को अब घोड़ी बना दिया. उसने मेरी बीवी की चूत में अपना लण्ड ठूस दिया और बीवी मेरे लण्ड को चूस रही थी. फिर उस  ऊँगली को मेरी बीवी की गांड में लगा दिया और दबाने लगा. मेरी बीवी एकदम से चिल्ला उठी. भोसड़ी के गांड नहीं. गांड में ऊँगली मत कर. इतना सुनते ही वसीम को गुस्सा आ गया और उसने जोर से मेरी बीवी को २ – ४ थप्पड़ मार दिए. मेरी बीवी रोने लगी और मुझे उसको रोकने को बोलने लगी. मैंने अपनी बीवी के मुंह से लण्ड निकाल और उसको रोकने के लिए गया, यो वसीम ने मुझे  थप्पड़ मार दिए और मुझे नीचे बैठ कर मेरी बीवी की चूत को चाटने को बोला. मैंने वैसा ही किया. फिर उसने मेरी बीवी की गांड में जबरदस्ती अपने लण्ड को घुसा दिया. मेरी बीवी  लिए भीख मांग रही थी. लेकिन वो नहीं रुक रहा था. वो हम दोनों को थप्पड़ मार रहा था और जोर – जोर से मेरी बीवी की गांड मार रहा था.

READ  नौकरी के लिए बीवी को बॉस से चुदवाया

फिर धीरे – धीरे मेरी वाइफ को भी मजा आने लगा. फिर उसने अपनी एक ऊँगली अपनी चूत में डालनी शुरू कर दी. मैं समझ गया, कि अब उसको डबल पेनेट्रेशन चाहिए. फिर मैंने भी नीचे से उसकी चूत में लण्ड डाला. वो वो एकदम से अहहहा अहहहह करने लगी और बोली – चोदो ना.. मुझे जोर से चोदो दोनों. दोनों मिलकर मेरी प्यास को शांत कर दो. मैं पहली बार अपनी वाइफ को इतनी हवस में देख रहा था. फिर हम दोनों ने मेरी बीवी को जोर से चोदना स्टार्ट कर दिया. वो भी मजे ले रही थी. वो वसीम को बोल रही थी, साले मादरचोद मार मेरी गांड. तेरे नसीब में मुझ जैसी औरत फिर नहीं मिलेगी. वो भी जोर से चोदने लगा और उसके गांड पर थप्पड़ मारने लगा. मेरी वाइफ और भी वाइल्ड हो गयी और गन्दी – गन्दी गलिया देने लगी थी. वो बोल रही थी, अपनी माँ को भी ऐसे ही चोदता है क्या? गांड मारता है इतनी जोर से उसकी? हम सभी वाइल्ड हो चुके थे. वसीम का माल अब निकलने वाला था. मेरी बीवी ने उसको माल उसकी गांड में ही छोडने को बोला. वसीम ने माल मेरी बीवी की गांड में छोड़ दिया और मुझे बोला – क्यों मादरचोद, अपनी बीवी को कमीने से चुदवा कर मजा आया?  मेरी बीवी के चेहरे पर मुझे संतुष्टि के भाव दिखे. वसीम के जाने के बाद हम लोगो ने ये सिलसिला अब चला दिया और हम कभी ट्रक ड्राइवर के साथ, कभी रिकशावाले के साथ वाइल्ड सेक्स का मजा लेते है.

Aug 3, 2016Desi Story

Content retrieved from: .

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *