HomeSex Story

मेरी चुदक्कड़ सास जो लण्ड की दीवानी

मेरी चुदक्कड़ सास जो लण्ड की दीवानी
Like Tweet Pin it Share Share Email

हेलो दोस्तों! मैं आज आपको एक बड़ी ही हॉट कहानी सूना रहा हु, बड़ी ही मस्त है, मेरे ज़िंदगी का खूबसूरत पल चल रहा है, चले भी क्यों नहीं आज कल मैं दो दो बूर को चोद रहा हु, मस्त मजा आ रहा है ज़िंदगी का, दोनों बूर एका पर से एक है, सच पूछो तो मुझे सास की बूर चोदने में ज्यादा मजा आ रहा है,

और मुझे खूब मजा देती है, बीवी को गांड मारो तो कहती है दर्द होता है, पर सास को गांड मारो तो कहती है, और जोर से और जोर से, आप ही बताओ किस्में मजा आएगा, बीवी सहमा सहमा के चुदवाती है क्यों की नई नवेली है पर सास कहती है कस के ठोको, क्यों दम नहीं है क्या, और जब मैं शुरू हो जाता हु तो कहती है की दामाद जी धीरे धीरे, मैं तो आपकी हु, जब चोदो जब गांड मारो मैं तो आपके साथ ही हु, मैं आपको आज पूरी कहानी बताता हु, ये मौका और हसीं समय मेरे साथ कैसे आया, लोग तो एक बूर के लिए भी तरस जाते है पर मेरी तो दोनों ऊँगली घी में है, पता है न आपको ये मुहाबरा?

मेरा नाम सुनील है, मेरा पापा और माँ दोनों नहीं है, मैं अकेला बेटा हु अपने माँ पापा का, गाँव में काफी जमीन है पर मैं दिल्ली में बैंक में जॉब करता हु, मैं 24 साल का हु, पिछले साल ही मेरी जॉब लगी है, मेरे साथ ही बैंक में जॉब करने बाली राधिका के साथ प्यार हुआ और शादी हो गईं, राधिका दिल्ली की ही रहने बाली है, उसके घर में राधिका की माँ है, पापा फ़ौज में थे, उनका देहांत हो गया, मुझे भी अच्छा लगा की चलो, मुझे अपनी माँ मिल जाएगी, और राधिका और उसके माँ के लिए मैं सबसे बेस्ट था क्यों की, मेरा कोई नहीं है तो मैं घर जमाई बन कर रह सकता था, तो हुआ भी यही, शादी के बाद मैं अपने सास के घर में ही रहने लगा, हम दोनों की ज़िंदगी बहुत ही बेहतरीन चल रही थी, राधिका की माँ भी बहुत खुश थी और हम दोनों भी बहुत खुश थे,

एक दिन मेरी बीवी स्मिता मुंबई गईं, क्यों की बैंक बाले उसे ट्रेनिंग के लिए भेजे थे, उसको वह सात दिन रहना था, मैंने उसको मुंबई राजधानी में चढाने गया, मेरे साथ मेरी सास भी थी, मैं स्मिता को चढ़ा के आया फिर मैं और मेरी सास दोनों एक होटल में रात को कहना खाये, और एक एक पेग होटल में ही लिया, दोनों अच्छे मूड में थे, रात को करीब १० बजे घर आये, मम्मी जी नहाने चले गईं अरे हां मैं अपनी सास के बारे में थोड़ा पहले बता दू. मेरी सास का नाम राधा है, उम्र 39 साल है, वो देखने में काफी सुन्दर है, उम्र के हिसाब से उनका शरीर जवां लगता है, चौड़े गांड, गोल्ड गोल्ड चूतड़ का उभार, बड़ी बड़ी टाइट चूचियाँ, मस्त कजरारे नैन, पेट सुराही के तरह, साड़ी हमेशा पारदर्शी पहनती है जिससे उनकी ब्लाउज में दबी चूचियाँ और पेट की नाभि साफ़ साफ़ दिखती है, किसी का लण्ड खड़ा होने के लिए ये काफी है, सच पूछो मैं हैरान हो गया था जब पहली बार देखा था उनको, वो तो स्मिता से भी ज्यादा सेक्सी लग रही थी, मैंने तो सोचा था की ये औरत स्मिता की बहन है, ऐसी है मेरी सास खूबसूरत बला.

READ  अंग्रेज की चुदाई देसी स्टाइल में

जब वो नहा कर आई मैं तो देखकर हैरान रह गया, क्या गजब लग रही थी, मैंने एक पेग भी ली थी और वो भी ली थी इस वजह से मेरा देखने का नजरिया चेंज थे, अंदर ब्रा नहीं पहनने की वजह से वो जब चलती थी उनकी चूचियाँ डोल रही थी, निप्पल साफ़ साफ़ पता चल रहा था, वो पिंक नाइटी में गजब की लग रही थी, उनके बाल कमर से निचे तक खुले हुए थे, मेरी नजर उनसे है नहीं रही थी, तभी अचानक उनकी नजर मेरे ऊपर पड़ी, मैं हड़बड़ा गया, पर वो मेरे पास आई और बोली, जानते हो सुनील मैं अब बहुत खुश हु, मुझे काफी इसके पहले डर था की पता नहीं स्मिता के लिए कैसा वर मिलेगा मुझे रखेगा की नहीं, पर मैं धन्य हु, मुझे तुम्हारे जैसा दामाद मिला है, और आके मेरे करीब बैठ कर वो मुझे अपने सीने से लगा ली, और वो मुझे एक चुम्मा ले ली, उनकी मदमस्त चूचियाँ मेरे सीने से चिपक रही थी, और तभी मेरा लण्ड बाबा भी खड़ा हो गया, पता नहीं उनका हाथ कैसे मेरे लण्ड को छु गया, और हड़बड़ा गईं वो और बोली, नॉटी है तू, सास के भी देखकर. मैं चुप चाप रहा, वो फिर से मेरे गले लग गईं और वो इस बार थोड़े देर तक मेरे पीठ को सहलाते रही, और कह रही थी मेरा बच्चा, मेरा प्यार दामाद, दोस्तों मेरा लण्ड और टाइट होने लगा, मैंने कहा मम्मी जी, आपकी आज्ञा हो तो एक एक पेग और ले लें, फ्रीज़ में रखा हुआ है व्हिस्की, मम्मी बोली हां हां ले लो, मैं भी ले लुंगी और फिर हम दोनों एक पेग नहीं बल्कि तीन तीन पेग ले लिए और दोनों काफी नशे में आ गए.

READ  मेरी कुंवारी बुर की माँ बहन बनादिया कमीने ने

उसके बाद क्या बताऊँ दोस्तों, वो मेरे से चिपक गईं और मेरे होठो को चूमने लगी, करीब पांच मिनट तक वो मेरे होठो को चूसते रही, मेरा दिमाग ख़राब हो गया, मेरे तन बदन में आग लग गया, मैं काफी सेक्सी हो गया और उनको कस के बाहों के पकड़ ली और बेपनाह चूमने लगा, फिर दोनों बैडरूम में चले गए, तब भी दोनों एक दूसरे से चिपके रहे और फिर मैंने उनकी चूचियाँ दबाने लगा. वो कह रही थी नौटी, बहुत नौटी है तू. और वो फिर मेरा लण्ड पकड़ ली, फिर बोली इतना बड़ा, और फिर वो मेरा पेंट उतार के जांघिया भी उतार दी. और मेरे लण्ड को अपने मुंह में लेके चूसने लगी, मैं भी चुसवाने लगा, फिर मैंने उनके नाइटी को उतार दिया और मैंने भी टाइट टाइट चूचियों को दबाने लगा और पिने लगा, वो काफी कामुक हो गईं और कहने लगी, सुनील आज तू मुझे खुश कर दे, और अपना पैर फैला दी, मैंने बिच में बैठ गया और उनके बूर को चाटने लगा, वो आह आह कर रही थी और मेरे बाल को पकड़ कर अपनी बूर में मेरे मुंह के रगड़ रही थी, अचानक उनके बूर से पानी निकला जो गरम गरम था मैं पि गया वो काफी नमकीन था, मैं जीभ से चाट चाट कर पूरा पानी साफ़ कर दिया, अब मैंने अपने लण्ड को पकड़ कर देखा तो पत्थर हो गया था लंबा मोटा, और लण्ड के सुपाड़े के बिच छेद से मेरा वीर्य निकल रहा था, मैंने तुरंत ही उनके पैर को अपने कंधे पर रखा और अपना लण्ड उनके बूर पे लगाया और जोर से धक्का लगाया एक दम दनदनाता हुआ, पूरा का पूरा लण्ड उनके चूत में दाखिल हो गया, वो अपने हाथ ऊपर कर दी अब उनका दोनों चूचियाँ बड़ी बड़ी और कांख के बाल दिखने लगे, मैंने काफी सेक्सी हो गया और जोर जोर से धक्के लगाने लगा. वो मुझे कह रही थी चोद मुझे चोद, मेरा सैयां भी तू है मेरा बेटा भी तू है मेरा दामाद भी तू है, अब सब कुछ तेरे हवाले है जैसे ले, मैंने तुरंत ही उनको उलटने बोला, तो बोली की क्या मुझे गांड करेगा, मैंने कहा हां, तो वो बोली नहीं नहीं गांड में नहीं चोदो ना बूर को, मैंने कहा मैं गांड मारना चाहता हु, आपका गांड मुझे बहुत अच्छा लगता है, मुझे आपके गांड में लण्ड पेलना है, आप ये कहानी नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पे पढ़ रहे है, उसके बाद वो मान गईं और उलट गईं, मैंने तुरंत लण्ड में थोड़ा थूक लगाया और उनके गांड के छेद पर रखा और जोर से तो नहीं बल्कि हलके हकले उनके गांड में डालने लगा, पूरा लण्ड अब उनके गांड में दाखिल हो गया, अब मैंने जोर जोर से गांड मारने लगा. वो भी गाली दे दे के गांड मरवाने लगी, मैं जब भी अपने बीवी को गांड मारता था तब वो कहती थी दर्द करता है, पर सास को जोर जोर से धक्का दे रहा था पर वो मजे ले रही थी, मजा आ गया फिर मैंने बूर चोदा फिर गांड मारा, क्या बताऊँ दोस्तों करीब रात में तीन से चार बार मैंने अपने वीर्य को उनके बूर में गिराया, उसके बाद दूसरे दिन मैंने ऑफिस से छुट्टी ले ली और दिन भर सास के साथ रासलीला करता रहा.

READ  रोक न सका फिल्म हाल में चुद गयी

तब तो रोज रोज जब मन करता है सास की चुदाई करता हु, मजे ले रहा हु अपनी ज़िंदगी का, बहुत खूबसूरत चल रही है मेरी ज़िंदगी, दो दो बूर है, और जब भी मन करता है दोनों को चोदता हु,

Desi Story

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *