रितिका मॅम आप बहुत

रितिका जैसी लड़की आज तक नही देखी,बात उस समय की है जब मैं नाइट ड्यूटी कॉल सेंटर मे काम करता था, मेरे साथ एक लड़की जो पंजाबी बाग दिल्ली से ही कॅब लेती थी और मैं आज़दपुर से आता था, और गुड़गाव जाना होता था. एक दिन वो ब्लॅक कलर की शर्ट और टाइट जीन्स पहन रखी थी बड़ी ही हॉट लग रही थी लेकिन मैं कुच्छ कॉमेंट नही कर सकता था क्यों की वो सीनियर थी, पर मन नही माना और कुच्छ दूर बाद मैने कह दिया
“रितिका मॅम आप बहुत ही अच्छी लगी रही हो”
चल झूठा हवा आने दे-रितिका
“नही नही झूठ नही बोल रहा हू”
तो क्या तुम्हे मेरे शर्ट के नीचे यानी ब्रा के नीचे भी दिख रहा है क्या-रितिका
“मुझे शर्म आ गयी और मैं नज़र झूका लिया”
क्या बात है हिजड़े हो क्या, या गे हो, “नही नही ऐसी कोई बात नही है”
तो साले शर्म क्यों कर रहे हो,
चलो में ऑफीस मे बताती हू, मैं भी किस किस्म की लकड़ी हू.
मुझे लगा साली ये हरामी लग रही है, लगता है चुद्बने का मन कर रहा है इसका, मैं भी अब अलग नज़र से निहारना शुरू कर दिया,
चूच करीब ३४ साइज़ का था उसकी गांद एक दम गोल गोल, और जाँघ टाइट और गोल गोल कमर पतली लेकिन चूतड़ काफ़ी चौड़ा था, पेट बिल्कुल सटा हुआ लेकिन चुच आगे आने के लिए बेताब लेकिन उसको काबू मे करने के लिए टाइट ब्रा. मस्त लग रही थी, उसके आँखो का काजल का क्या कहना, होठ गुलाबी और गाल तो ऐसे लग रहा था की किस करने के बाद लाल हो जाएगा एक दम गोरी.
रात के करीब ९ बजे ऑफीस पहुच गये, लिप्ट से उपर जाने लगे, लिफ्ट मैं सिर्फ़ हम दोनो ही थे, तभी वो मुझे पकड़ के किस करने लगी और मेरा हाथ पकड़ के अपने चुच पे रख दिया उसकी साँसे ज़ोर ज़ोर से चल रही थी, फिर वो अलग हो गयी. उपर ऑफीस आ गया था!
फिर वो अपने कॅबिन मे चली गयी और मैं अपने वर्कस्टेशन पे, काम करने लगा, रात को करीब २ बजे वो अपने कॅबिन मे बुलाई और दरवाजा अंडर से लॉक कर दी, मैने देखा वो जीन्स खोली हुई थी और सिर्फ़ कुर्ता पहनी हुई थी! और वो कुर्शी पे बैठ गयी, और मुझे नीचे बैठा दिया और मेरा बाल पकड़ पे अपने बूर मे सटा के दोनो जाँघो से दबा दी, और कहने लगी”
“चाट साले चाट, देख ऐसा बूर कभी चाटने के लिए नही मिलेगा, इतना चाट की बूर का सारा पानी ख़तम हो जाए”
मेरा भी लंड तन गया और मैं भी दोनो हाथ से दोनो साइड से उसके गाँद मे दोनो हाथो के एक एक उंगली घुसा दी और बूर चाटने लगा गांद मे उंगली आसानी से घुसा दिया क्यों की बूर का पानी गांद भी गीला हो गया था|
और भी कामुक कहानियां के लिए यहाँ क्लिक करें

READ  नवरात्रि में आंटी के साथ संभोग

Content retrieved from: .

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *