सेक्सी बूब्स वाली लेंडलेडी को चोदा

देहरादून में नया – नया आया था. एक रूम रेंट पर लिया था. सब से पहली चीज़ जो नोटिस की थी, वो थी मेरी लेंडलेडी सीमा आंटी का फिगर. वाओ क्या गांड थी! क्या मस्त गोल गोल बूब्स थे! देखते ही मैंने मन बना लिया था, कि किसी भी हालत में चोदना है.

कुछ दिनों मैं आना – जाना बढ़ा. उनकी एक बेटी थी, जो कभी – कभी आती थी. बाहर पढाई करती थी वो. वैसे भी वो भी एक नंबर का माल थी. बट मेरा फोकस अभी केवल सीमा आंटी पर था. लकी बात ये थी, कि उनके पति डिफेन्स में थे और उनकी पोस्टिंग कहीं नार्थ – ईस्ट में थी. मैंने उनको कभी देखा तक नहीं. आंटी अक्सर मुझ से बातें किया करती थी, जब भी वो बोर फील किया करती थी.

मैंने अब आंटी को लाइन मारना शुरू कर दिया था और धीरे – धीरे वो इसको समझ कर रिप्लाई करने लगी थी. मुझे पक्का यकीं था, कि उनके अंदर सेक्स की आग दबी हुई है और वो उसको बाहर निकलने से रोक कर बैठी थी.

एक शाम को वो मेरे लिए कॉफ़ी ले कर आई. मैं लैपटॉप पर कुछ काम कर रहा था. वो आकर आराम से मेरे बेड पर बैठ गयी. मैं कॉफ़ी पीने लगा और वो मेरा लैपटॉप देखने लगी.

अचानक मैंने नोटिस किया, कि मेरे लैपटॉप पर २ – ३ पोर्न मूवी पड़ी थी. आंटी ने वो देख ली और मुझे एक अजीब सी स्माइल दे दी.

वो समझ गई थी, लेकिन उन्होंने अंजान बनते हुए पूछा… ये क्या है?

अब मुझे भी समझ आ गया था उनका इशारा… मैंने बोला – खुद ही प्ले कर के देख लो.

उन्होंने वीडियो प्ले कर दी और हमारे सामने एचडी में एनल सेक्स शुरू हो गया. वो बहुत इंटरेस्ट से वो देखने लगी और फिर उन्होंने अपना हाथ मेरी जांघ पर रख दिया. वो मेरी जांघ को अपने हाथ रही थी. मैं समझ गया, कि वो पल आ गया. जिसका मुझे लम्बे समय से इंतज़ार था.

READ  रीना भाभी की मस्त चुदाई

मैंने कॉफ़ी साइड में रखी और लैपटॉप को बेड से हटा दिया. फिर मैंने सीमा आंटी को बाहो से पकड़ कर किस करने लगा. वो भी वाइल्ड होकर किस करने लगी.

मैंने तुरंत उनकी साड़ी उतार दी और उनको ब्लाउज और पेटीकोट में खड़ा कर दिया. मैं उनका हाथ पकड़ कर बाथरूम में ले गया और उनको शावर के नीचे खड़ा कर दिया. ये मेरी सालो पुरानी फेंटेसी थी, कि मुझे शावर में सेक्स करना है.

उनके कपडे भीग कर उनके बदन से चिपक गए थे. मैंने उनका ब्लाउज उतार दिया और उनकी बेक को किस करने लगा. उनकी ब्लैक ब्रा का हुक खोला और धीरे से उनकी गांड को पकड़ लिया. उन्होंने आआआआह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् की आवाज़ की. अब मैंने उनका पेटीकोट भी खोल दिया और उनकी गांड को किस करने लगा. वो मेरी ओर पलटी और अपने बूब्स दिखाए. वहहह… क्या मस्त बूब्स थे यारो. पानी में भीगे हुए और भी ज्यादा सेक्सी दिख रहे थे. मैंने उनको चूसना शुरू कर दिया. और अपना एक हाथ उनकी पैंटी में डाल दिया. उनकी चूत पर थोड़े बाल थे, बट काफी कम थे.

रिसेंटली ही शेव किये होंगे. अब मैं पागल हो चूका था. उनको पूरा नंगा कर दिया और अपने भी सारे कपडे उतार दिए. वो मेरा लण्ड देखते ही बोली, वह्ह्ह्ह्आ… ज तो मजा ही आने वाला है. मेरे पति का लण्ड तो छोटा सा है.

मैंने कहा – आंटी, आज मैं ही आपका पति हु.

और फिर मैंने उनको फ्लोर पर लिटा दिया और उनकी चूत को चाटने लगा. वो मेरा सिर पकड़ कर अपने पैरो के बीच में घुसा रही थी और जोर – जोर से आआह्ह्ह्ह् की आवाज़ निकल रही थी.

READ  सेक्सी गर्ल की तरसती हुई चुत की ठुकाई

कुछ देर बाद, अब वो चुदवाने के लिए बेताब हो चुकी थी. मैं अपना लण्ड उनके मुंह के पास लाया और बोला, उसे चूसने को. उन्होंने मना कर दिया और बोली – आज सा लगता है. मैं नहीं करुँगी.

मैंने काफी बार रिक्वेस्ट करी, तो वो बोली – पहले तुम मुझे चोदो. अगर मैं तुमसे सेटिसफाई हो गयी. तो नेक्स्ट टाइम से लण्ड जरूर चुसुंगी.
अब तो बात मेरी मर्दानगी पर आ गयी थी. मैंने तुरंत उनको घुमाया और उनकी गांड पर २ – ३ थप्पड़ लगा दिए. उनके बालों को खींचा और बोला – सीमा आंटी, आज आपको कैसे चोदु?
आंटी – एक रांड बना कर.
बीएस ये सुनते ही, मैंने लण्ड को उनकी गांड पर रखा और रगड़ने लगा. वो बोली, अब बहुत हुआ. इतना मत सता. चोद मुझे. मेरी गांड और चूत दोनों तेरी है. मुझे अपनी रांड बना ले और चोद डाल. मैंने उनकी सेक्सी गांड को थोड़ा उप्पर उठाया और पीछे से उनकी चूत में लण्ड घुसा दिया, एक ही झटके में. उनकी चीख निकल गयी.

थोड़ी देर में, मैं धक्के लगाने शुरू किये और कुछ देर बाद काफी जोर से झटके मारने लगा. पानी से भीगे बदन और उस पर जोर – जोर से फट – फट – फट की आवाज़…. मज़ा ही आने लगा था. कुछ देर बाद फिर आंटी को पलटा और उनके पैरो को फैलाया और मिशनरी में उनको चोदने लगा. वो मुझे पागलो की तरह किस कर रही थी. मैं उनके बूब्स दबाने लगा और जोर – जोर से धक्का लगाने लगा था.

कुछ देर बाद मेरे पैरो में दर्द होने लगा. शायद वो नीचे के फ्लोर की वजह से था. मैंने उनको उठाया और बैडरूम में ले गया. बेड पर लेटाया और वो तुरंत घोड़ी बन गयी और अपनी गांड हिलाने लगी. मैंने अपना लण्ड घुसाया और चोदना शुरू. उनको जोर से धक्का दिए और नीचे गिरा दिया. अपना लण्ड उनकी चूत से निकाला और गांड में घुसा दिया. ये होल बहुत टाइट था. कफी मेहनत के बाद घुसा मेरा लण्ड, बट इस बार बहुत मजा आया.

READ  कंप्यूटर सेन्टर पर मिली चूत

मैंने उनकी गांड को अपने हाथो से दबाया और उनकी गांड पर उछलने लगा. कुछ देर बाद, उन पर लेट गया और उनके बूब्स के नीचे लय और उनको दबाने लगा. थोड़ी देर में मैं झड़ने वाला था. मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी थी और १० – १५ सेकंड के बाद, मैंने अपना सारा माल उनकी गांड में डाल दिया.

मैं उनके ऊपर ही लेटा रहा २ – ३ मिनट तक. वो उठी और मुझे किस किया. वो बोली – काश तू मेरा पति होता?

मैंने कहा – मैं तो हु ही. टेंशन मत लो. तुम्हारी चूत और गांड को मेरा लण्ड अब रोज़ाना सिकाई देगा.

वो हसने लगी.

रात में वो मेरे साथ सोई और उस रात हम ने २ बार और चुदाई का मजा लिया और इस बार सीमा आंटी ने मुझे ब्लोजॉब भी दिया. सुबह हाल था, कि किसी से भी सही से चला नहीं जा रहा था. पूरी रात चुदाई कर के हम दोनों ही थक चुके थे.

उसके बाद तो, जब भी मेरा दिल करता… मैं आंटी को चोद लेता और अपनी प्यास को बुझा लेता.

दिस वाज माय स्टोरी डेट हैपन अराउंड ३ इयर्स एगो. आई रियली मिस दोज डेज.

Aug 3, 2016Desi Story

Content retrieved from: .

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *